Monday, January 30, 2023

13 घंटों की तलाशी. 6 गोपनीय दस्तावेज बरामद, FBI ने जो बाइडेन के घर मारा छापा

अमेरिका के संघीय जांच ब्यूरो (FBI) ने राष्ट्रपति जो बाइडेनके विलमिंग्टन स्थित घर की करीब 13 घंटों तक तलाशी ली. छापेमारी में बाइडेन के घर से 6 गोपनीय दस्तावेज बरामद किए गए हैं. विभाग ने जो बाइडेन के कुछ हाथ से लिखे नोट भी अपने कब्जे में लिए हैं. राष्ट्रपति के वकील बॉब बाउर ने बताया कि बाइडेन ने एफबीआई को अपने घर की तलाशी लेने की स्वेच्छा से अनुमति दी, लेकिन तलाशी वारंट नहीं होने के बावजूद यह घटना असाधारण है.

बाइडेन को 12 जनवरी को यह खुलासा होने के बाद शर्मिंदगी झेलनी पड़ी थी कि बाइडेन के वकीलों को मध्यावधि चुनावों से ठीक पहले वाशिंगटन स्थित पेन बाइडेन सेंटर में उनके एक पूर्व कार्यालय से गोपनीय रिकॉर्ड मिले हैं. इसके बाद वकीलों को बाइडेन के विलमिंग्टन स्थित आवास के पुस्तकालय से उपराष्ट्रपति के तौर पर उनके कार्यकाल के समय के छह और गोपनीय दस्तावेज मिले.

बाइडेन की मुश्किलें बढ़ी!

इन दस्तावेजों का मिलना बाइडेन के लिए ऐसे समय में राजनीतिक जवाबदेही बन गया है, जब वह फिर से चुनाव लड़ने के लिए अपनी दावेदारी पेश करने की तैयारी कर रहे हैं. यह घटना पूर्ववर्ती राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के उतार-चढ़ाव भारे कार्यकाल के बाद अपने कार्यकाल को अमेरिकी जनता के सामने बेहतर दिखाने की बाइडेन की कोशिश को नुकसान पहुंचा सकती है.

बाउर ने शनिवार को बताया कि एफबीआई ने शुक्रवार को जिन दस्तावेजों को कब्जे में लिया है, वे बाइडेन के सीनेटर एवं उपराष्ट्रपति के तौर पर उनके कार्यकाल से संबंधित हैं, जबकि नोट उनके उपराष्ट्रपति कार्यकाल के हैं. उन्होंने कहा कि यह तलाशी करीब 13 घंटे तक चली. बाउर ने बताया कि अभी न्याय विभाग ने रिकॉर्ड की समीक्षा नहीं की है, इसलिए यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि इन दस्तावेजों की गोपनीयता का क्या स्तर है और क्या एफबीआई द्वारा हटाए गए दस्तावेज गोपनीय बने हुए हैं या नहीं.

1973 से 2009 तक सीनेटर रहे बाइडेन

आम तौर पर गोपनीय दस्तावेजों को अधिकतम 25 सालों के बाद सार्वजनिक किया जाता है, लेकिन कुछ रिकॉर्ड को अपेक्षाकृत अधिक समय तक गोपनीय रखा जाता है. बाइडेन ने 1973 से 2009 तक सीनेटर के तौर पर सेवाएं दी थीं. बाइडेन ने बृहस्पतिवार को संवाददाताओं से कहा था, हमने पाया कि बड़ी संख्या में दस्तावेज गलत जगह पर हैं, तो हमने उन्हें तत्काल न्याय मंत्रालय को सौंप दिया. जब बाइडेन के आवास की तलाशी ली गई, तो उस समय प्रथम महिला जिल बाइडेन वहां नहीं थीं. वह डेलावेयर के रेहोबोथ बीच स्थित अपने आवास पर सप्ताहांत बिताने गई थीं.

अभी यह देखा जाना बाकी है कि क्या अन्य स्थानों पर संघीय अधिकारी और तलाशी लेंगे या नहीं. बाइडेन के निजी वकीलों ने पहले रेहोबोथ बीच आवास की तलाशी ली थी और कहा था कि उन्हें कोई आधिकारिक दस्तावेज या गोपनीय रिकॉर्ड नहीं मिला. इस मामले ने ट्रंप द्वारा राष्ट्रपति पद छोड़ने के बाद गोपनीय दस्तावेज और आधिकारिक रिकॉर्ड अपने पास रखे जाने संबंधी न्याय विभाग की जांच को जटिल बना दिया है. न्याय विभाग का कहना है कि ट्रंप 2021 की शुरुआत में व्हाइट हाउस छोड़ने के बाद गोपनीय के तौर पर चिह्नित सैकड़ों रिकॉर्ड अपने साथ ले गए थे और उन्होंने सरकार के अनुरोध के बावजूद महीनों तक उन्हें नहीं लौटाया, जिसके बाद उन्हें पुनः प्राप्त करने के लिए एजेंसी को तलाशी वारंट के तहत कार्रवाई करनी पड़ी.

रेड के दौरान मौजूद थे व्हाइट हाउस के वकील

बाउर ने कहा कि एफबीआई ने व्हाइट हाउस से इस मामले में तलाशी पूरी होने तक टिप्पणी नहीं करने का अनुरोध किया है. तलाशी के दौरान बाइडेन के निजी वकील और व्हाइट हाउस के वकील भी मौजूद थे. उन्होंने बताया कि एफबीआई के पास व्यक्तिगत रूप से हस्तलिखित नोट, फाइल, कागजात, यादगार वस्तुओं, किए जाने वाले कार्य की सूची और कार्यक्रमों समेत राष्ट्रपति के आवास में पूरी पहुंच थी.

बाउर ने एक बयान में कहा कि न्याय विभाग ने अपनी जांच के दायरे में मानी जा सकने वाली सामग्री को कब्जे में ले लिया, जिनमें गोपनीय दस्तावेज के तौर पर चिह्नित दस्तावेज और अन्य सामग्री शामिल हैं. इनमें से कुछ सामग्री राष्ट्रपति (बाइडेन) की सीनेट सदस्य और उपराष्ट्रपति के तौर पर सेवाओं के समय की है. बयान के मुताबिक, अभियोजकों ने उपराष्ट्रपति के तौर पर बाइडेन के कार्यकाल के दौरान उनके व्यक्तिगत रूप से हस्तलिखित नोट भी आगे की समीक्षा के लिए अपने कब्जे में ले लिए हैं.

spot_img

AAJ TAK LIVE

ABP LIVE

ZEE NEWS LIVE

अन्य खबरे
Advertisements
यह भी पढ़े
Live Scores
Rashifal
Panchang