Connect with us

राजनीति

कूचबिहार हिंसा पर ममता को अमित शाह का जवाब- त्यागपत्र देने को तैयार, बशर्ते बंगाल के लोग मुझसे ऐसा करने के लिए कहें

Published

on

Share This Now :

National Desk : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को कहा कि वह अपने पद से इस्तीफा देने के लिए तैयार हैं, बशर्तें जब पश्चिम बंगाल के लोग उनसे ऐसा करने को कहें। भाजपा के वरिष्ठ नेता शाह ने हालांकि कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को दो मई को पद छोड़ना होगा क्योंकि तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) मौजूदा विधानसभा चुनाव हार जाएगी।

टीएमसी प्रमुख बनर्जी ने शनिवार को कूचबिहार जिले के सीतलकूची में चौथे चरण के मतदान के दौरान सीआईएसएफ कर्मियों की गोलीबारी में चार व्यक्तियों के मारे जाने को लेकर शाह से इस्तीफे की मांग की थी। शाह ने उत्तर 24 परगना जिले के बसीरहाट में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा, दीदी मेरा इस्तीफा मांग रही हैं। यदि पश्चिम बंगाल के लोग यह मांग करें तो मैं इस्तीफा दे दूंगा, मैं अपना सिर झुकाकर ऐसा करने के लिए तैयार हूं। हालांकि, ममता को दो मई को मुख्यमंत्री का पद छोड़ना होगा।

पश्चिम बंगाल की 294 विधानसभा सीटों के लिए आठ चरणों में चुनाव होने के बाद दो मई को मतगणना होगी। शाह ने बनर्जी पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि वह अवैध प्रवासियों के तुष्टिकरण के लिए संशोधित नागरिकता कानून का विरोध कर रही हैं। शाह ने दावा किया कि अवैध प्रवासी कल्याणकारी योजनाओं का लाभ उठाते हैं और दंगों में लिप्त होते हैं।

advt_dec21
geeta_medical1
geeta_medical

मतुआ समुदाय नागरिकता मिल जाए तो दीदी को क्या दिक्कत?
उन्होंने कहा, यदि मतुआ समुदाय के लोगों को नागरिकता मिल जाए तो दीदी को क्या दिक्कत है? उनकी समस्या यह है कि अवैध प्रवासी नाराज हो जाएंगे। ऐसे लोगों को अब राज्य पर शासन करने का अधिकार नहीं है। अवैध प्रवासी मुफ्त राशन जैसी कल्याणकारी योजनाओं का लाभ उठाते हैं लेकिन दंगों में लिप्त होते हैं।

बीजेपी बांग्लादेश से अवैध प्रवासियों के आने पर लगाएगी रोक
शाह ने कहा कि भाजपा बांग्लादेश से अवैध प्रवासियों के आने पर पूरी तरह से रोक लगा देगी और राज्य में सरकार बनाने के बाद सीएए के खिलाफ विधानसभा में पारित प्रस्ताव वापस लेगी। उन्होंने लाभार्थियों को 10,000 रुपये की वार्षिक सहायता देने के लिए ”मुख्यमंत्री शरणार्थी कल्याण कोष शुरू करने का वादा भी किया।

Share This Now :
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

राजनीति

छत्तीसगढ़ के 15 कांग्रेस MLA’s को उत्तरप्रदेश चुनाव के लिए मिली जिम्मेदारी, आज प्रियंका गांधी से करेंगे मुलाकात

Published

on

Share This Now :

रायपुर : उत्तरप्रदेश में आगामी दिनों में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ के 15 विधायकों को बड़ी जिम्मेदारी दी है। ये सभी विधायक कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी से मुलाकात करने आज दिल्ली पहुंचे है। बताया जा रहा है कि प्रियंका गांधी और विधायकों के बीच उत्तर प्रदेश चुनाव से संबंधित  विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हो सकती है।

कांग्रेस ने जिन विधायकों को जिम्मेदारी दी है, उनमें वरिष्ठ विधायक सत्यनारायण शर्मा, कुलदीप जुनेजा, जगदलपुर विधायक रेखचंद जैन, कसडोल विधायक शकुंतला साहू, यूडी मिंज, गुलाब कमरो, कुंवर सिंह निषाद सहित कुल 15 नाम शामिल है।

बता दें कि कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल को यूपी चुनाव के लिए चीफ आब्जर्वर बनाया है। इसके बाद से सीएम बघेल यूपी चुनाव के लिए सक्रिय है। वे प्रियंका गांधी के साथ कई सभाओं में शामिल हुए।

advt_dec21
geeta_medical1
geeta_medical
Share This Now :
Continue Reading

राजनीति

राहुल गांधी ने लोकसभा में दी आंदोलन में मरे किसानों की सूची, कहा- पंजाब में 500 को मिला मुआवजा

Published

on

Share This Now :

नई दिल्ली : कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने लोकसभा में भी कृषि आंदोलन के दौरान किसानों की मौत का मुद्दा उठाते हुए सरकार से उनके परिजनों को मुआवजा दिए जाने की मांग की है। कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन के दौरान करीब 700 किसानों की मौत हुई थी। पीएम नरेंद्र मोदी ने देश और किसानों से माफी मांगी थी। उन्होंने स्वीकार किया है कि उनकी ओर से गलती की गई थी। राहुल गांधी ने लोकसभा में किसान आंदोलन पर बोलते हुए कहा, ’30 नवंबर को कृषि मंत्री से पूछा गया था कि आंदोलन में कितने किसानों की मौत हुई थी? इसके जवाब में उन्होंने कहा था कि मेरे पास इस बारे में कोई आंकड़ा नहीं है।’

राहुल गांधी ने कहा कि यदि सरकार के पास कोई जानकारी नहीं है तो फिर हमसे लिस्ट ले ले। मैं सदन में आंदोलन के दौरान मरे किसानों की पूरी सूची रख रहा हूं। राहुल गाांधी ने कहा, ‘पंजाब सरकार ने 400 किसानों के परिजनों को 5 लाख रुपये का मुआवजा दिया है। इसके अलावा 152 किसानों के परिजनों को सरकारी नौकरी भी दी गई है। मेरे पास पूरी सूची है। इसके अलावा हमने हरियाणा के भी 70 किसानों की सूची तैयार की है। लेकिन आपकी सरकार कहती है कि आपके पास मारे गए किसानों की सूची ही नहीं है।’ राहुल गांधी ने कहा कि मैं चाहता हूं कि किसानों को सारे हक मिलने चाहिए और मारे गए लोगों के परिजनों को नौकरी मिलनी चाहिए।

राहुल गांधी ने सदन में शून्यकाल के दौरान इस विषय को उठाया और लोकसभा के पटल पर करीब 500 किसानों की एक सूची भी रखी और दावा किया कि इन लोगों ने किसान आंदोलन के दौरान अपनी जान गंवाई। उन्होंने कहा, ”पूरा देश जानता है कि किसान आंदोलन में करीब 700 किसान शहीद हुए। प्रधानमंत्री जी ने देश और किसानों से माफी मांगी। प्रधानमंत्री ने स्वीकार किया कि उन्होंने गलती की है। 30 नवंबर को कृषि मंत्री से सवाल (लोकसभा में लिखित प्रश्न) पूछा गया था कि कितने किसानों की मौत हुई। उन्होंने जवाब दिया कि उनके पास कोई डेटा नहीं है।’ कांग्रेस सांसद ने कहा, ‘हमने इन किसानों के बारे में पता लगाया। पंजाब की सरकार ने राज्य के करीब 400 किसानों को मुआवजा दिया है। मैं इन किसानों की सूची और प्रदर्शन के दौरान जान गंवाने वाले हरियाणा के कुछ किसानों की एक सूची सदन के पटल पर रख रहा हूं।’

advt_dec21
geeta_medical1
geeta_medical

कृषि मंत्री ने कहा था, पता नहीं कितने लोगों की हुई आंदोलन में मौत

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘ये नाम यहां हैं। मैं चाहता हूं कि इन किसानों को हक मिलना चाहिए। उनके परिवारों को मुआवजा मिलना चाहिए।’ गौरतलब है कि सरकार ने गत 30 नवंबर को कहा था कि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली के आसपास कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान मृत किसानों की संख्या संबंधी आंकड़ा कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के पास नहीं है। लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने यह जानकारी दी थी। राजीव रंजन सिंह, टी आर प्रतापन, एन के प्रेमचंद्रन, ए एम आरिफ, डीन कुरियाकोस, प्रो. सौगत राय और अब्दुल खालीक ने पूछा था कि तीन कृषि कानून के खिलाफ राष्ट्रीय राजधानी के आसपास आंदोलन के दौरान कितने किसानों की मौत हुई। तोमर ने कहा, ‘कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के पास इस मामले में कोई आंकड़ा नहीं है।’

 

Share This Now :
Continue Reading

देश-विदेश

कांग्रेस के बिना नहीं बन सकता भाजपा के खिलाफ कोई भी गठबंधन : छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

Published

on

File Photo
Share This Now :

रायपुर : आगामी लोकसभा चुनाव में विपक्ष की कप्तानी के सवाल पर कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस में मची रार के बीच छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने कहा है कि इस बारे में अभी बात नहीं की जा सकती। कांग्रेस नेता ने रविवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के खिलाफ विपक्षी खेमे का चेहरा यूनाइडेट प्रोग्रेसिव अलायंस (यूपीए) की ओर से संयुक्त रूप से तय किया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस के बिना भाजपा के खिलाफ कोई विपक्षी गठबंधन नहीं बन सकता। वह राष्ट्रीय राजनीति में मुख्य स्तंभ की तरह है।

इससे पहले कांग्रेस के नेता दोहराते रहे हैं कि राहुल गांधी के नेतृत्व में ही लोकसभा चुनाव लड़ा जाएगा। इसी वजह से तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी अब अपना अलग फ्रंट बनाने में जुटी हैं। टीएमसी उन्हें मोदी के खिलाफ सबसे बड़े चेहरे के रूप में पेश करने में जुटी है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी इस समय अपने लिए समर्थन जुटा रही हैं और इस क्रम में वह यूपीए के साथ रहे कई दलों से भी संपर्क में हैं। ऐसे में बघेल का यह बयान कांग्रेस के बदले रुख का संकेत माना जा रहा है। क्योंकि यूपीए के कई साथी भी दबी जुबान में यह स्वीकार करते हैं कि राहुल गांधी मोदी के सामने मजबूत विकल्प नहीं बन पाए हैं और ऐसे में कांग्रेस को डर है कि ऐसे दल ममता का समर्थन कर सकते हैं।

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री को स्पष्ट करना चाहिए कि वह अपनी पार्टी को भाजपा से लड़कर मुख्य विपक्षी दल बनाना चाहती हैं या फिर विपक्ष से लड़कर यह करना चाहती हैं। उन्होंने ‘पीटीआई’ को दिए इंटरव्यू में यह भी कहा कि कांग्रेस विपक्ष का मुख्य स्तंभ है और उसके बगैर भाजपा के खिलाफ राष्ट्रीय स्तर पर कोई मोर्चा संभव नहीं है।

advt_dec21
geeta_medical1
geeta_medical

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता बघेल ने कहा कि यूपीए में शामिल दल और इस गठबंधन की प्रमुख सोनिया गांधी मिलकर तय करेंगे कि अगले लोकसभा चुनाव में विपक्ष का चेहरा कौन होगा। यह पूछे जाने पर कि क्या अगले लोकसभा चुनाव में राहुल गांधी विपक्ष का चेहरा होंगे, उन्होंने कहा, ”संप्रग में कई दल हैं। इसकी प्रमुख सोनिया गांधी जी हैं। सब मिलकर तय करेंगे।” उनका यह भी कहना था, ”पूरे देश में राहुल जी अकेले नेता हैं जो भाजपा और केंद्र सरकार पर आक्रमण करते हैं…उनको लेकर भाजपा में घबराहाट है। इसलिए हो सकता है कि भाजपा के लोग इनके (तृणमूल कांग्रेस) माध्यम से हमला करा रहे हों।”

ममता और किशोर की टिप्पणियों पर बघेल ने कहा, ”कांग्रेस एकमात्र पार्टी है जो सब जगह है और भाजपा के साथ सीधी लड़ाई में है। हिमाचल प्रदेश, राजस्थान, पंजाब, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, हरियाणा, उत्तराखंड और कई ऐसे राज्य हैं जहां भाजपा और कांग्रेस के बीच सीधी लड़ाई है।” उन्होंने जोर देकर कहा कि आज की तारीख में यह नहीं लगता कि भाजपा के खिलाफ कांग्रेस के बिना कोई राष्ट्रीय मोर्चा बन सकता है।

यह पूछे जाने पर कि क्या आगे कांग्रेस ही विपक्षी गठबंधन का मुख्य स्तंभ होगी, उन्होंने कहा, ”’वह तो है ही। कश्मीर से लेकर केरल तक की बात करें तो हर जगह कांग्रेस का अस्तित्व है। हर जगह दूसरे विपक्षी दलों का अस्तित्व कहां है।” उन्होंने कहा, ”ममता बनर्जी जी से भी यह कहना चाहता हूं कि आप मुख्य विपक्षी दल बनना चाहती हैं, बहुत अच्छी बात है। आप यदि कोई योजना बनाकर और सपना पालकर आगे बढ़ना चाहती हैं तो सब स्वागत करेंगे। लेकिन सवाल यह है कि आप सत्ता पक्ष से लड़कर मुख्य विपक्षी दल बनना चाहती हैं या फिर जो विपक्ष में है उससे लड़कर मुख्य विपक्षी दल बनना चाहती हैं?”

इस प्रश्न पर कि क्या उन्हें यह लगता है कि भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के बीच कोई अंदरूनी सहमति है, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने कहा, ”उन्हें (ममता) ही स्पष्ट करना चाहिए। शरद पवार जी से मिलने के बाद कहती हैं कि संप्रग जैसी कोई चीज नहीं है। लेकिन प्रधानमंत्री से मिलकर निकलीं तो कोई बात सामने क्यों नहीं आई? बताएं कि प्रधानमंत्री से क्या बात हुई? उन्होंने सिर्फ कांग्रेस पर निशाना साधा, आखिर क्या बात है?” उनके मुताबिक, तृणमूल कांग्रेस चुनावी राज्यों में कहीं न कहीं भाजपा की मदद कर रही है।

Share This Now :
Continue Reading
Advertisement

Video Advertisment

Advertisement



Advertisement Sahni Amritsari Kulche

Chhattisgarh Trending News

राज्य एवं शहर2 hours ago

छत्तीसगढ़ : पंचायत विभाग के मैदानी काम-काज की हो रही है समीक्षा

रायपुर : पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की योजनाओं के मैदानी स्तर पर हो रहे क्रियान्वयन की प्रगति की समीक्षा...

राजनीति2 hours ago

छत्तीसगढ़ के 15 कांग्रेस MLA’s को उत्तरप्रदेश चुनाव के लिए मिली जिम्मेदारी, आज प्रियंका गांधी से करेंगे मुलाकात

रायपुर : उत्तरप्रदेश में आगामी दिनों में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ के 15 विधायकों को...

क्राइम2 hours ago

CG : रायपुर में शराब दुकान में घुसकर चाकूबाजी, मैनेजर के सीने में चाकू से जानलेवा हमला किया  

रायपुर : बुधवार देर रात राजधानी की एक शराब दुकान में कुछ गुंडों ने खूब उत्पात मचाया। दुकान के सामानों...

राज्य एवं शहर18 hours ago

छत्तीसगढ़ : रायपुर मेडिकल कॉलेज के अधीन होगा DKS सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल, स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया आदेश

रायपुर : राजधानी रायपुर का DKS अस्पताल अब रायपुर मेडिकल कॉलेज के अधीन होगा। मेडिकल कॉलेज के डीन ही DKS...

CORONA VIRUS19 hours ago

छत्तीसगढ़ : दुर्ग में आज कोरोना से एक मौत और 9 नए केस, प्रदेश में कुल 37 नए मामले, 27 स्वस्थ : देखिए जिलेवार आंकड़ा

रायपुर : छत्तीसगढ़ मे आज 37 नए कोरोना संक्रमित मरीज मिले। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी मेडिकल बुलेटिन के अनुसार बीते...

Advertisement

CONNECT WITH US :

Top 10 News

Must Read

Special News21 hours ago

CG : CM ने इको लर्निंग सेंटर दुधावा और इको पर्यटन स्थल कोडार का किया लोकार्पण, सैलानियों को आकर्षित करेगा कुदरत का नजारा

रायपुर : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल पर्यटन स्थल को बढ़ावा देने के लिए उत्तर बस्तर कांकेर में दुधावा डेम पर...

Special News24 hours ago

CG : सिटी बसों का किराया 25% तक बढ़ाया गया, त्रैमासिक कर में 1 जुलाई 2020 से 31 दिसम्बर 2021 तक छूट ; जानिए कैबिनेट के अहम फैसले

रायपुर : सीएम निवास में आयोजित कैबिनेट की बैठक में कई अहम फैसले लिए गए हैं।  सिटी बसों का किराया...

Special News2 days ago

छत्तीसगढ़ में धूम मचा रही गोबर से बनी चप्पल, जानिए कीमत से लेकर इसकी खासियत

रायपुर : छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में गोबर की चप्पल इन दिनों आकर्षण का केंद्र बनी हुई है. गोकुल नगर...

Special News3 days ago

किसान सम्मेलन और सम्मान समारोह के आयोजन में शामिल हुए CM, परिस्थितियाँ चाहें जैसी भी हों किसानों को खुशहाल बनाने के फैसले पर अडिग रहेंगे : बघेल

किसान सम्मेलन और सम्मान समारोह के आयोजन में शामिल हुए मुख्यमंत्री, मुख्यमंत्री ने प्रगतिशील कृषकों, कृषि से जुड़े स्व-सहायता समूहों...

Tech Gyan3 days ago

प्रीपेड यूजर्स के बाद अब पोस्टपेड ग्राहकों को झटका देने की तैयारी, 20 से 25 फीसदी तक महंगा हो सकता है प्लान

National Desk : दूरसंचार कंपिनयां प्रीपेड के बाद अब जल्द ही प्रोस्पेड ग्राहकों को झटका दे सकती है। सूत्रों के...

Advertisement

Trending