Connect with us

CORONA VIRUS

छत्तीसगढ़ : राज्य में सबसे ज्यादा कोरोना से मौतें रायपुर और दुर्ग में, अंतिम संस्कार न करने देने की शिकायत पर 50 श्मशान चिन्हित ; दुर्ग में नई जगह की तलाश

Published

on

Symbolic Image
Share This Now :

रायपुर, दुर्ग : पिछले 24 घंटों में मौत के मामले में छत्तीसगढ़ देश में दूसरे नंबर पर है। यहां 132 लोगों की मौत हुई है। पहले नंबर पर 258 मौतों के आंकड़ों के साथ महाराष्ट्र है। चूंकि सबसे ज्यादा मौतें रायपुर और दुर्ग में हो रही हैं, लिहाजा यहां शवों को जलाने को लेकर प्रशासन कई तरह के इंतजाम कर रहा है। रायपुर के कलेक्टर डॉक्टर एस भारतीदासन ने रायपुर और बीरगांव निगम के तहत आने वाले तकरीबन 50 श्मशान अधिग्रहित किए हैं। ऐसा इसलिए करना पड़ा क्याेंकि कुछ जगहों से कोविड संक्रमित मृतकों के अंतिम संस्कार न करने देने की शिकायतें आ रही थीं। अब श्मशान कलेक्टर के अधीन हैं। अब तक 5 हजार से ज्यादा लोगों की मौत कोरोना से छत्तीसगढ़ में हो चुकी है।

अभनपुर में दाह संस्कार के लिए 7 जगहें तय

कलेक्टर भारतीदासन ने मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए एक मीटिंग ली। मीटिंग में कहा गया है कि कोरोना संक्रमण से मृत्यु हो जाने पर दाह संस्कार के लिए 8-10 गांवों के बीच श्मशान भूमि को चिन्हित करें। इन जगहों पर केवल कोरोना से मृत शरीर का ही अंतिम संस्कार किया जाएगा। संक्रमित के शव को श्मशान भूमि तक लाने के दौरान पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था के साथ यहां तक लाने का इंतजाम भी अफसर करेंगे। अभनपुर तहसील, गोबरा नवापारा सिवनी, उगेतरा, भाटापारा बेलर, तेंदुआ, गातापार, भरेंगा नाहना चंडी श्मशान घाट को कोविड मृतकों के अंतिम संस्कार के लिए अधिकृत किया गया है।

geeta_medical1
geeta_medical

दुर्ग में भी नई जगहों की तलाश में अफसर

जिले में कोरोना से मरने वाले लोगों का 4 मुक्तिधामों में दाह संस्कार किया जा रहा है जिसमें भिलाई का रामनगर, रिसाली मुक्तिधाम, शिवनाथ मुक्तिधाम और भिलाई-3 है। बताया जा रहा है कि दुर्ग के मुक्तिधामों में जगह की कमी के कारण प्रशासन अब 2 अन्य जगहों को देख रह रहा है। कुछ दिन पहले रिसाली इलाके में ट्रक में भरकर लाशें जलाने के लिए लाई गई थी जिसका एक वीडियो वायरल हुआ था।

विद्युत शवदाह गृह बनाने के निर्देश

11 अप्रैल को नगरीय प्रशासन विभाग ने जानकारी जारी की। इसमें कहा गया कि कोरोना से हो रही अधिक मौतों और मुक्तिधाम में शव जलाने में हो रही कठिनाइयों से निपटने के लिए विद्युत शवदाह गृह स्थापित करने की कार्यवाही की जा रही है। नगरीय प्रशासन मंत्री डॉक्टर शिवकुमार डहरिया ने मुक्तिधामों में शव जलाने में लम्बा इंतजार और लोगों को आ रही कठिनाइयों को गंभीरता से लिया है। उन्होंने रायपुर, दुर्ग, बिलासपुर, कोरबा, भिलाई और रिसाली नगर निगम में विद्युत शवदाह गृह स्थापित करने के निर्देश दिए हैं। रिसाली और दुर्ग के लिए 47 लाख रुपए की स्वीकृति प्रदान की गई है। विभाग ने आयुक्तों को जल्द से जल्द शवदाह गृह बनाने को कहा है।

मंत्री जी को पेड़ों की बलि की चिंता

नगरीय प्रशासन विभाग की तरफ से दाह संस्कार में गौ काष्ठ (गाय के गोबर से बनी लकड़ी नुमा स्टिक) का उपयोग करने का आदेश दिया गया है। विभाग का दावा है कि मंत्री शिव डहरिया की दूरगामी सोच की वजह से पेड़ों की बलि रुक रही है। मंत्री डहरिया ने सभी नगरीय निकायों के तहत आने वाले मुक्तिधाम स्थल पर गोठानों में बने गौ काष्ठ का उपयोग लकड़ी की जगह पर करने को कहा है। प्रदेश में 166 नगरीय निकाय क्षेत्रों में 322 गोठान हैं। 115 जगहों पर मशीनों से गौ काष्ठ बनाने का काम हो रहा है। विभाग की तरफ से ये भी कहा गया है कि एक दाह संस्कार में 500 किलो तक लकड़ी की जलाई जाती है। गोबर से बनी लकड़ी के इस्तेमाल से पेड़ सुरक्षित रहेंगे।

Share This Now :
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

CORONA VIRUS

ओमीक्रॉन से दहशत के बीच कोरोना ने बदला रंग, देश में 24 घंटे में करीब 9 हजार मामले, 621 मौतें

Published

on

File Photo
Share This Now :

National Desk : भारत में कोरोना वायरस के मामलों में भले ही कमी दिख रही हो, मगर दक्षिण अफ्रीका में मिले कोविड के नए वेरिएंट ओमीक्रॉन ने दुनियाभर में हड़कंप मचा दिया है। देश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 8774 नए केस मिले हैं, जबकि 621 लोगों की मौतें हुई हैं। राहत की बात यही है कि कोरोना के नए केस से अधिक इससे ठीक होने वाले मरीजों की संख्या है। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, बीते 24 घंटे में देश में कोरोना वायरस सेस 9481 लोग ठीक हुए है। एक्टिव केसों की संख्या 1,05,691 पर आ गई है, जो 543 दिनों में सबसे निचले स्तर पर है।

आंकड़ों के मुताबिक, उपचाराधीन मरीजों की संख्या कम होकर 1,05,691 रह गयी है जो संक्रमण के कुल मामलों का 0.31 प्रतिशत है और मार्च 2020 के बाद से सबसे कम है। कोविड-19 से स्वस्थ होने वाले लोगों की दर 98.34 प्रतिशत है जो मार्च 2020 के बाद से सबसे अधिक है। पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या में 1,328 मामलों की गिरावट आयी है।

मंत्रालय ने बताया कि संक्रमण की दैनिक दर 0.80 प्रतिशत दर्ज की गयी। यह पिछले 55 दिनों से दो प्रतिशत से कम है। साप्ताहिक संक्रमण दर भी 0.85 प्रतिशत दर्ज की गयी। यह पिछले 14 दिनों से एक प्रतिशत से कम है। इस बीमारी से स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या बढ़कर 3,39,98,278 हो गयी है जबकि मृत्यु दर बढ़कर 1.36 प्रतिशत हो गई। देशव्यापी कोविड-19 रोधी टीकाकरण अभियान के तहत अभी तक 121.94 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी हैं।

geeta_medical1
geeta_medical
Share This Now :
Continue Reading

CORONA VIRUS

Omicron Variant : केंद्र से भेजी जाएगी प्रभावित देशों से छत्तीसगढ़ आए नागरिकों की सूची, सेल रखेगी सैंपल पर नजर

Published

on

File Photo
Share This Now :

रायपुर : कोरोना का नया वैरिएंट जिन देशों में मिला है, वहां से लौटने वालों की सूची केंद्र सरकार से यहां भेजी जाएगी। स्वास्थ्य विभाग की टीम सूची के आधार पर उन लोगों को ट्रेस करेगा। कोरोना के लक्षण नजर आने पर उन्हें तुरंत क्वारेंटाइन कर उनके संपर्क में आने वालों की भी जानकारी जुटाई जाएगी। जरूरत पड़ने पर संपर्क में आने वालों को भी 14 दिन के लिए क्वारेंटाइन किया जाएगा।

दक्षिण अफ्रीका में मिले कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्राॅन यानी बी.1.1.529 मिलने के बाद पिछले दो दिनाें से स्वास्थ्य विभाग हरकत में आ गया है। शनिवार को डायरेक्टर हेल्थ सर्विसेस और डायरेक्टर फैमिली वेलफेयर के साथ कोरोना नियंत्रण के आला अधिकारियों ने स्थिति की समीक्षा की। इसके पहले केंद्र से अलर्ट मिलने के बाद प्रदेश के सभी जिलों को सर्तक कर दिया गया है। जिलों के सीएमओ को भी कोरोना के नए मामलों पर बारीकी से नजर रखने की हिदायत दी गई है। केेंद्र की ओर से वैरिएंट बी.1.1.529 से प्रभावित देशों से लौटकर छत्तीसगढ़ पहुंचने वाले नागरिकों की सूची एक-दो दिनों के भीतर भेजी जा सकती है।

इस वजह से ऐसे लोगों के सर्विलांस के लिए प्रदेश में हर जिले को तैयार रहने के लिए कहा गया है। वहीं नए वैरिएंट प्रभावित देशों से लौटकर आए लोगों को क्वारेंटाइन के सख्त नियमों की प्रक्रिया से भी गुजरना होगा। इसके लिए पहले की तरह 14 दिन का नियम प्रभावित रखने के संकेत दिए गए हैं। अफसरों के अनुसार 14 दिन की गिनती देश में एंट्री करने के बाद से मानी जाएगी। वहीं ऐसे लोग अगर पॉजिटिव निकलते हैं और उन्हें कोई गंभीर बीमारी है, उनका इलाज अस्पताल में कराया जाएगा। उन्हें होम आइसोलेशन की अनुमति नहीं दी जाएगी। यानी वैरिएंट प्रभावित देशों से लौटकर आए पॉजिटिव लोगों में से केवल उन्हीं को होम आइसोलेशन में रहने की मंजूरी दी जाएगी, जिनको पहले से कोई गंभीर बीमारी नहीं है। वहीं बुजुर्गों का एहतियात के तौर पर अस्पताल में ही ट्रीटमेंट किया जाएगा। देश में इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर कोरोना जांच को लेकर सख्ती पहले से लागू की गई है इसके बारे में प्रदेश में जानकारी दी गई है।

geeta_medical1
geeta_medical

सैंपल की एडवांस जीनोम जांच करने के लिए रणनीति
प्रदेश में बी.1.1.529 वैरिएंट के फैलाव को रोकने के मद्देनजर वैरिएंट सेल को अतिरिक्त सतर्कता बरतने के लिए कहा गया है। इसके तहत केंद्र की ओर से जिन 12 देशों से लौटकर आ रहे नागरिकों को लेकर सावधानी रखने के लिए कहा गया है उनमें प्रदेश में आकर पॉजिटिव पाए लोगों के सैंपल की एडवांस जीनोम जांच करने के लिए रणनीति बनाई गई है। अफसरों का कहना है कि इसके जरिए अगर नया वैरिएंट प्रदेश में किसी व्यक्ति में पाया गया तो इसे पहले से ही पता लगा लिया जाएगा। इससे संक्रमण का फैलाव भी नहीं हो सकेगा।
टेस्टिंग ट्रेसिंग ट्रीटमेंट के साथ वैक्सीनेशन भी
स्वास्थ्य विभाग की ओर से जिलों को निर्देश जारी किए गए हैं कि कोरोना मरीजों के एक्टिव सर्विलांस को लेकर व्यापक रूप से काम किया जाए। टेस्टिंग ट्रेसिंग ट्रीटमेंट के फॉर्मूले के साथ वैक्सीनेशन भी जोड़कर अब टीटीटीवी फॉर्मूले पर काम करने कहा गया है। इसमें वैक्सीनेशन से छूटे लोगों को अनिवार्य रूप से टीके लग जाए ये जिलों को सुनिश्चित करने की हिदायत दी गई है। वहीं शासन की ओर से स्थानीय निकायों को मास्क सोशल दूरी जैसी सावधानी नहीं बरतने वालों पर सख्ती के साथ फाइन वसूल करने के लिए कहा गया है।

कोरोना के नए वैरिएंट से प्रभावित देशों से लौटे लोगों के सर्विलांस के लिए जिलों में व्यापक तैयारियां करने के निर्देश दिए गए हैं। केंद्र से प्रभावित देशों से लौटकर आए लोगों की जानकारी भी मिलने वाली है।
-डॉ. सुभाष मिश्रा, डायरेक्टर, एपिमेडिक

Share This Now :
Continue Reading

CORONA VIRUS

विदेश से लौटने के बाद पॉजिटिव हुए तो मरीज में नए वैरिएंट की होगी जांच, CG स्वास्थ्य विभाग ने नए खतरे से निपटने बनाया सिस्टम

Published

on

File Photo
Share This Now :

रायपुर : राजधानी में नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर अलर्ट जारी कर दिया गया है। वैरिएंट की एडवांस जांच के लिए सैंपल भेजने में तेजी लाने के लिए कहा है। विदेश यात्रा से आकर यहां संक्रमित निकलने पर उनके सैंपल भेजने में देरी नहीं करने को कहा गया है, ताकि जल्द से जल्द वैरिएंट का पता लगाया जा सके। इसके अलावा ऐसे लोग जो पॉजिटिव आने के बाद स्वास्थ्य विभाग का फोन रिसीव नहीं कर रहे हैं या कि अपने संपर्क में आए लोगों की जानकारी देने से बच रहे हैं, उन पर सख्ती से पेश आने के लिए कहा है।

रायपुर में एक्टिव मरीजों की संख्या फिलहाल 50 से अधिक है। इनमें अधिकतर मरीज घर में ही कोरोना ट्रीटमेंट ले रहे हैं। कोरोना के एक्टिव मरीजों के लिहाज अभी राजधानी के अंबेडकर अस्पताल और एम्स रायपुर में 1 हजार बेड की व्यवस्था है। एक्टिव केस इससे अधिक बढ़ते हैं तो सबसे पहले जिला अस्पताल का कोविड वार्ड को शुरु करने तैयारी है। वहीं नए वैरिएंट वाले मरीजों का ट्रीटमेंट केवल अस्पतालों में ही किया जाएगा, इस बारे में निर्देश जारी कर दिए गए हैं। रायपुर में पिछले दो हफ्तों के दौरान ऐसे संक्रमित ज्यादा मिले हैं जो किसी न किसी संक्रमित के संपर्क में आए हैं। वहीं परिवार में एक दूसरे से संक्रमण फैलने के केस भी आ रहे हैं।

स्थिति के आंकलन के बाद रायपुर में बीते दो हफ्ते में कोरोना चेन जैसे जो भी केस मिले हैं, उनके सैंपल एडवांस लैब में जांच के लिए भेजने को कहा है। एक ही पॉजिटिव से संक्रमण क्यों फैला? इसकी गहराई से पड़ताल की जा सकेगी। रायपुर में पिछले दो हफ्ते में आधा दर्जन से अधिक परिवारों में दो या दो से अधिक केस सामने आए हैं। वहीं दफ्तर या सार्वजनिक स्थानों पर जाकर संक्रमित हुए दस से अधिक लोगों में कांटेक्ट सोर्स के जरिए संक्रमण के लक्षण देखे गए हैं। स्वास्थ्य विभाग के अफसरों के मुताबिक रायपुर में पहले संक्रमण में इस तरह का फैलाव नहीं देखा जा रहा था। लोग संक्रमित होते भी थे तो परिवार के लोगों में संक्रमण के मामले कम मिल रहे थे।

geeta_medical1
geeta_medical

विदेश से ही नहीं पड़ोसी राज्यों से आ रहे लोगों पर भी नजर, उनके सैंपल एडवांस लैब भेजने की तैयारी
रायपुर ने फौरी तौर पर जो रणनीति बनाई है उसमें केवल विदेश से आने वाले लोगों में ही नहीं बल्कि पड़ोसी राज्यों से आकर पॉजिटिव निकलने वाले मरीजों को विशेष निगरानी में रखने को कहा गया है। वहीं पॉजिटिव की ट्रेसिंग के लिए जिला पुलिस प्रशासन और नगर निगम की टीमों को पहले की तरह जल्द ही एक्टिवेट किया जाएगा। अस्पतालों में कोरोना ड्यूटी कर चुके डॉक्टरों और नर्सिंग पैरा मेडिकल स्टाफ को मौखिक रूप से तैयार रहने को कहा गया है। रायपुर में होम आइसोलेशन में ऐसे पेंशेंट जो घर में पूरी तरह आइसोलेट नहीं रह रहे हैं, उन पर भी सख्ती से पेश आने की हिदायत दी गई है।

फिलहाल ये स्थिति; रायपुर में अब तक 134 से अधिक केस मिल चुके, औसत 5 मरीज रोज
राजधानी में सितंबर के महीने में हर दिन मिल रहे मरीजों का औसत केवल 2 था, जो अक्टूबर में बढ़कर 3 मरीज प्रतिदिन पर आ गया। नवंबर रोज मिलने वाले मरीजों का औसत 5 हो गया है। त्योहार के बाद से रायपुर में केस में अचानक बढ़ोतरी देखी जा रही है, इतना ही नहीं कभी कम जांच में ज्यादा मरीज मिल रहे हैं तो कभी ज्यादा जांच में कम मरीज। जानकारों के मुताबिक इस स्थिति में ज्यादा सावधानी रखना इसलिए भी जरूरी है क्योंकि ऐसी ही स्थिति में ही अचानक से केस बढ़ने लगते हैं। कोरोना की दोनों लहरों में पीक से पहले इस तरह की स्थिति बन चुकी है। हालांकि शनिवार को रायपुर में काफी राहत भरी स्थिति रही है 2678 से अधिक टेस्ट में केवल एक ही पॉजिटिव मिला है।

विदेश हो या देश के दूसरे राज्यों से आने वाले अधिकांश लोग पहले रायपुर में ही आते हैं, इसलिए राजधानी को हमने विशेष रूप से सावधान रहने के लिए कहा है। पॉजिटिव लोगों में बाहर से आए लोगों के संपर्क में आए सभी की जांच के लिए पहले ही कह चुके हैं।
-डॉ. सुभाष मिश्रा, डायरेक्टर, एपिडेमिक

Share This Now :
Continue Reading

Video Advertisment

Advertisement



Advertisement Sahni Amritsari Kulche

Chhattisgarh Trending News

CORONA VIRUS50 mins ago

Omicron Variant : केंद्र से भेजी जाएगी प्रभावित देशों से छत्तीसगढ़ आए नागरिकों की सूची, सेल रखेगी सैंपल पर नजर

रायपुर : कोरोना का नया वैरिएंट जिन देशों में मिला है, वहां से लौटने वालों की सूची केंद्र सरकार से...

Career2 hours ago

छत्तीसगढ़ : ढीले-ढाले DEO हटाए जाएंगे अब जिलों की ग्रेडिंग रोज होगी

रायपुर : स्कूल शिक्षा विभाग में अब डीईओ के कामकाज पर रोज नजर रखी जाएगी। इसके लिए एक फार्मेट बनाया...

CORONA VIRUS2 hours ago

विदेश से लौटने के बाद पॉजिटिव हुए तो मरीज में नए वैरिएंट की होगी जांच, CG स्वास्थ्य विभाग ने नए खतरे से निपटने बनाया सिस्टम

रायपुर : राजधानी में नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर अलर्ट जारी कर दिया गया है। वैरिएंट की एडवांस जांच के...

राज्य एवं शहर2 hours ago

छत्तीसगढ़ : RDA ने बांबे मार्केट की 2 दुकानों को बेचा

रायपुर : सिस्टम पर चल रहे बांबे मार्केट की दो दुकानों को आरडीए ने बेच दिया है। शनिवार को यहां...

CORONA VIRUS18 hours ago

छत्तीसगढ़ में बीते 24 घंटे में 27 नए मामले आए सामने, 20 हुए रिकवर : देखिए किस जिले से मिले सबसे ज्यादा संक्रमित

रायपुर : छत्तीसगढ़ मे आज 27 नए कोरोना संक्रमित मरीज मिले। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी मेडिकल बुलेटिन के अनुसार बीते...

Advertisement

CONNECT WITH US :

Top 10 News

Must Read

Special News22 hours ago

छत्तीसगढ़ ने बनाया एक और कीर्तिमान, ‘समावेशी विकास’ में देश के 5 बड़े राज्यों में नाम शामिल

रायपुर : छत्तीसगढ़ ने देश के बड़े राज्यों के बीच एक नया कीर्तिमान बनाया है। एक सर्वे के अनुसार समावेशी...

Special News3 days ago

CG : नीति आयोग द्वारा सतत् विकास लक्ष्य शहरी इंडेक्स जारी  रायपुर नगरीय क्षेत्र फ्रंट रनर, मुंबई एवं हैदराबाद जैसे महानगरों को पीछे छोड़ा

रायपुर : नीति आयोग द्वारा 23 नवम्बर 2021 को जारी ’’सतत् विकास लक्ष्य शहरी इंडेक्स’’ में छत्तीसगढ़ राज्य के रायपुर...

Special News5 days ago

छत्तीसगढ़ मॉडल की हो रही देश में चर्चा : सीएम भूपेश बघेल : देश में स्वच्छता का सिरमौर बना CG, स्वच्छता के लिए 6 R पॉलिसी पर हो रहा काम

मुख्यमंत्री ने स्वच्छता के हैट्रिक महोत्सव में नगरीय निकायों, स्वच्छता दीदीयों को किया सम्मानित रायपुर : मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने...

Special News6 days ago

राष्ट्रपति ने बालाकोट स्ट्राइक के हीरो रहे अभिनंदन वर्धमान को किया वीर चक्र से सम्मानित, गिराया था पाक का F-16 लड़ाकू विमान

नई दिल्ली : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के हाथों बालाकोट स्ट्राइक के हीरो रह अभिनंदन वर्धमान ने वीर चक्र सम्मान प्राप्त...

Special News1 week ago

छत्तीसगढ़ : सशस्त्र बल के जवानों द्वारा खारून नदी के तट रिवर फ्रंट व्यू में चलाया गया सफाई अभियान

रायपुर, दुर्ग : छठ पूजा पुन्नी मेला के अवसर पर श्रद्धालुओं द्वारा की गई पूजा से नदी में पूजन सामग्री...

Advertisement

Trending