Connect with us

राज्य एवं शहर

छत्तीसगढ़ : सरकार और नक्सलियों के बीच हुई थी सीक्रेट डील, राकेश्वर को छुड़ाने पहुंचे पत्रकारों के सामने हुआ खुलासा, जानिए इनसाइड स्टोरी

Published

on

Share This Now :

रायपुर : CRPF कोबरा कमाण्डो राकेश्वर सिंह को छुड़ाने के लिए सरकार और नक्सलियों के बीच एक सीक्रेट डील हुई थी। इस डील का खुलासा तब हुआ जब राकेश्वर की रिहाई के लिए पत्रकारों की टीम मध्यस्थों के साथ नक्सलियों के गढ़ में पहुंची। बीजापुर मुठभेड़ स्थल से सुरक्षाबलों ने कुंजाम सुक्का नाम के एक आदिवासी को अपने कब्जे में ले लिया था। नक्सलियों ने राकेश्वर सिंह को छोड़ने के बदले इस आदिवासी की रिहाई की शर्त रखी थी। सुरक्षा बलों ने कुंजाम सुक्का को मध्यस्थों के साथ नक्सलियों के पास भेजा। इसका हैंडओवर मिलने के बाद ही नक्सलियों ने राकेश्वर सिंह को पत्रकारों के हवाले किया। पढ़िए 8 अप्रैल को घटे सारे घटनाक्रम की इनसाइड स्टोरी।

RO 12111_80_AUG_1 (1)
RO 12111_80_AUG_2

बीजापुर जिले के जोनागुड़ा गांव से 15 किलोमीटर अंदर के इलाके में CRPF के कोबरा कमांडो राकेश्वर सिंह को रखा गया था। गुरुवार दोपहर उन्हें प्रशासन की तरफ से तय मध्यस्थों और पत्रकारों की एक टीम को सौंप दिया गया। 5 दिनों से नक्सलियों के कब्जे में रहे कमांडो को जब नक्सली छोड़ रहे थे, वहां करीब 40 नक्सली मौजूद थे। आस-पास के 20 गांव के लोगों को बुलाया गया था। इन सबके बीच जवान को छोड़ा गया। जब कमांडो की रिहाई हो रही थी तो बीजापुर और सुकमा के पत्रकार गणेश मिश्रा, राजन दास, मुकेश चंद्राकर, युकेश चंद्राकर, शंकर और चेतन वहां मौजूद थे।

सुबह 5 बजे हुए थे रवाना

तस्वीर बीजापुर सुकमा जिले के बॉर्डर पर तोमलपाड़ गांव की है जहां जवान को सौंप दिया गया।
तस्वीर बीजापुर सुकमा जिले के बॉर्डर पर तोमलपाड़ गांव की है जहां जवान को सौंप दिया गया।

बीजापुर के SP कमलोचन कश्यप ने बताया कि सुबह 5 बजे से मध्यस्थों की टीम और पत्रकार बीजापुर से रवाना हुए थे। पत्रकारों में शामिल मुकेश चंद्राकर ने बताया कि हमें जोनागुड़ा आने के लिए कहा गया था। भीषण गर्मी उबड़-खाबड़ रास्तों से होते हुए हम जोनागुड़ा दोपहर तक पहुंचे। बीजापुर जिला मुख्यालय से ये जगह करीब 80 से 85 किलोमीटर दूर है। यहां पहुंचने के बाद और करीब 15 किलोमीटर अंदर हम गए। करीब दो से तीन घंंटे के तनाव भरे माहौल के बाद कमांडो राकेश्वर को छोड़ा गया। शाम 5 से 6 बजे के करीब हम जवान को तर्रेम थाना लेकर आए, जिसके बाद उन्हें पुलिस और CRPF के हवाले किया गया।

ठीक हैं राकेश्वर सिंह

अब राकेश्वर CRPF की निगरानी में हैं। फिलहाल उनका उपचार जारी है।
अब राकेश्वर CRPF की निगरानी में हैं। फिलहाल उनका उपचार जारी है।

बीजापुर में बीते शनिवार को हुई मुठभेड़ के बाद CRPF के कोबरा कमांडो राकेश्वर सिंह को नक्सलियों ने अगवा कर लिया था। 5 दिन बाद गुरुवार को रिहा हुए राकेश्वर जब कैंप पहुंचे तो CRPF की तरफ से कहा गया कि 210 कोबरा बटालियन के सिपाही राकेश्वर सिंह मनहास सुरक्षित हैं। CRPF के नियमानुसार मनहास की चिकित्सा परीक्षण कराया जा रहा है। इस संबंध में उनके परिवार को सूचित कर दिया गया है। साथ ही उनके परिजन से मोबाइल के माध्यम से मनहास की बात भी करा दी गई है। कमांडो को अपनी बाइक पर बैठाकर लाने वाले पत्रकार शंकर ने बताया उन्होंने जब राकेश्वर से पूछा तो उन्होंने कहा था कोई परेशानी नहीं है, मैं ठीक हूं।

राकेश्वर ने छूटते ही कहा- जल्दी चलो

20 गांव के लोगों की सभा बुलाकर राकेश्वर को छोड़ा गया।
20 गांव के लोगों की सभा बुलाकर राकेश्वर को छोड़ा गया।

कमांडो राकेश्वर से पत्रकारों ने रिहा होते ही बात करने को कहा। इस पर राकेश्वर धीरे से बोले कि यहां से जल्दी चलो। बातचीत कैंप में कर लेंगे। राकेश्वर ने बताया कि नक्सलियों ने उनसे कहा था कि वो उन्हें सुबह 9 बजे रिहा करेंगे। राकेश्वर सिंह अंधेरा होने से पहले कैंप पहुंचने की हड़बड़ी में नजर आए। पत्रकार भी स्थिति को समझकर उन्हें तर्रेम थाना लेकर आए।

हजारों ग्रामीणों की भीड़ और फिर जंगल में हलचल दिखी

जवान को नक्सलियों ने रस्सी से बांध रखा था।
जवान को नक्सलियों ने रस्सी से बांध रखा था।

नक्सलियों ने सरकार से मांग रखी थी कि निष्पक्ष मध्यस्थों को भेजें, हम जवान को छोड़ देंगे। जवान की रिहाई के लिए गए पत्रकार युकेश ने बताया कि वहां 20 गांवों के लगभग 2 हजार लोगों की भीड़ थे। ये देखकर हम डर गए थे, क्योंकि कुछ भी हो सकता था। मौजूद गांव के लोगों, पत्रकारों और मध्यस्थों पर नक्सली नजर बनाए हुए थे। मध्यस्थों के पहुंचते ही पहले जवान को नहीं लाया गया। नक्सलियों ने पहले पूरे माहौल को भांपा और इसके बाद जंगल की तरफ कुछ हलचल दिखी। करीब 35 से 40 हथियार बंद नक्सली कमांडो राकेश्वर को लेकर लोगों के बीच आए।

नक्सलियों ने ग्रामीणों से की ये बातें, कैमरा बंद रखने को कहा

हथियारों से लैस नक्सली इस तरह लोगों के बीच खड़े हुए थे।
हथियारों से लैस नक्सली इस तरह लोगों के बीच खड़े हुए थे।

जवान को लाने के बाद कुछ नक्सलियों ने पूरे इलाके को घेर लिया, कुछ जवान के को घेरे खड़े हुए तो कुछ मध्यस्थता करने वालों को। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक ये नक्सली पामेड एरिया कमेटी के थे। इनके साथ एक महिला नक्सली थी जो पूरे नक्सलियों को लीड कर रही थी। आते ही नक्सलियों ने पत्रकारों से कह दिया कि कोई भी कैमरा ऑन नहीं करेगा। जवान की सुरक्षा का मामला था, इसलिए पत्रकारों ने नक्सलियों की बात मानी। इसके बाद नक्सलियों ने वार्ता करने आई आदिवासी समाज की तेलम बौरैया और सुखमति हक्का को बुलाकर कुछ बातें कीं।

ग्रामीणों को इस तरह एक जगह पर जुटा लेना ये भी बताता है कि वहां नक्सलियों का नेटवर्क और हुकूमत किस कदर चलता है।
ग्रामीणों को इस तरह एक जगह पर जुटा लेना ये भी बताता है कि वहां नक्सलियों का नेटवर्क और हुकूमत किस कदर चलता है।

नक्सलियों ने ग्रामीणों से कहा कि जोनागुड़ा में मुठभेड़ के बाद राकेश्वर उन्हें बेहोशी की हालत में मिले थे। 5 दिनों तक उन्हें सुरक्षित रखा गया, कुछ चोटें भी राकेश्वर को आईं थीं उनका इलाज करवाया गया। अब हम उन्हें सुरक्षित छोड़ रहे हैं। नक्सलियों की महिला लीडर ने साफ-साफ कहा हम इन्हें पत्रकारों को सौंप रहे हैं ताकि ये इन्हें लेकर कैंप तक जाएं, रास्ते में इन्हें कोई नुकसान नहीं पहुंचाएगा। काफी देर तक सभी इंतजार करते रहे फिर जवान को रिहा किया। जब जवान को छोड़ा जाने लगा तो आग्रह करने पर मीडिया को वीडियो बनाने की अनुमति दी।

जवान के बदले एक ग्रामीण छोड़ना पड़ा पुलिस को
पुलिस के आला अफसरों ने एक अहम जानकारी इस पूरी रिहाई के केस में छुपा रखी थी। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक नक्सलियों के पास जाने से पहले ही मध्यस्थों को कुंजाम सुक्का नाम का ग्रामीण सौंपा गया था। ये ग्रामीण मुठभेड़ वाली जगह से हिरासत में लिया गया था। नक्सलियों ने जवान को रिहा करने से पहले मध्यस्थों से पूछा कि वो ग्रामीण कहां है। तो मध्यस्थों ने कहा कि हम उसे साथ लेकर आए हैं। उस ग्रामीण को गांव वालों के सामने नक्सलियों को सौंपा गया। इसके बदले जवान को नक्सलियों ने रिहा किया।

नक्सलियों ने रखी ये शर्त, आखिर में भड़क गए थे ग्रामीण

जवान को छोड़ते वक्त पत्रकारों को नक्सलियों ने कैमरा ऑन करने की अनुमति दी।
जवान को छोड़ते वक्त पत्रकारों को नक्सलियों ने कैमरा ऑन करने की अनुमति दी।

पत्रकार युकेश और राजन ने बताया कि जवान को छोड़ने के वक्त शाम को करीब 4 बजे के आस-पास पूरे ग्रामीण आक्रोशित हो गए थे। गांव के लोगों ने नक्सलियों से कहना शुरू कर दिया था कि जवान को छोड़कर वो गलती कर रहे हैं, इसे मत छोड़ो, मत रिहा करो। हंगामा बढ़ता, इससे पहले ही जवान और मध्यस्थों के साथ पत्रकार बाइक में सवार होकर निकल गए। नक्सलियों और बहुत से ग्रामीणों ने अब पत्रकारों और मध्यस्थों के सामने ये शर्त भी रख दी है कि आने वाले दिनों में जब फोर्स के लोग आदिवासियों को हिरासत में लें तो उन्हें छुडा़ने के लिए भी इसी तरह की वार्ता और मध्यस्थता और पहल करनी होगी।

Share This Now :
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

राज्य एवं शहर

छत्तीसगढ़ की तबादला नीति को लेकर नियम जारी : जानिए कौन-कौन से विभाग के कर्मचारियों पर होगा लागू

Published

on

Share This Now :

रायपुर : छत्तीसगढ़ सरकार ने तबादला नीति के लिए नियम जारी कर दिया है। कब, किसका, कैसे ट्रांसफर होगा, इसे लेकर नियम बना दिया गया है। इसमें जिला स्तर के अधिकारी कर्मचारी, राज्य स्तर के अधिकारी, कर्मचारी और स्कूल विभाग के कर्मियों के लिए नियम तय किए गए हैं। जिला स्तर पर 10 सितंबर तक, प्रदेश स्तर पर 30 सितंबर तक सभी ट्रांसफर पूरे कर लिए जाएंगे।

RO 12111_80_AUG_1 (1)
RO 12111_80_AUG_2

देखिए आदेश ;

 

Share This Now :
Continue Reading

राज्य एवं शहर

भारत मूल के लेखक सलमान रुश्दी पर अमेरिका के न्यूयॉर्क में जानलेवा हमला, गर्दन में घोंपा चाकू

Published

on

Share This Now :

न्यूयॉर्क : भारत में जन्में अंग्रेजी भाषा के प्रख्यात लेखक सलमान रुश्दी पर शुक्रवार को अमेरिका के न्यूयॉर्क में एक कार्यक्रम के दौरान चाकू से हमला किया गया। हमलावर ने उनकी गर्दन में चाकू मारा। हमले के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हालांकि अभी उनकी स्थिति कैसी है इस बारे में ज्यादा जानकारी सामने नहीं आई है। न ही इस बात का पता चला है कि हमलावर कौन है। न्यूयॉर्क पुलिस ने छुरा घोंपे जाने की पुष्टि की है और कहा कि उन्हें हेलीकॉप्टर से एक क्षेत्रीय अस्पताल ले जाया गया है। पुलिस ने बताया कि हमलावर हिरासत में है।

RO 12111_80_AUG_1 (1)
RO 12111_80_AUG_2

न्‍यूज एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस की ओर से कहा गया है कि उसके रिपोर्टर ने चौटाक्‍वा इंस्‍टीट्यूशन (Chautauqua Institution) में शख्‍स को तेजी से मंच पर आते हुए देखा। जब लेखक का परिचय दिया जा रहा था तो इस शख्‍स ने रुश्‍दी को चाकू मारा। हमला इतनी तेज था कि वे फर्श पर गिर पड़े। वहां मौजूद सुरक्षाकर्मियों ने लेखक को किसी तरह बचाया और उन्हें अलग लेकर गए। बाद में इस शख्‍स को पकड़ लिया गया।

मुंबई में पैदा हुए सलमान रुश्दी दुनियाभर में अपने लेखन के लिए फेमस हैं। उनके लेखन के लिए 1980 के दशक में उन्हें ईरान से जान से मारने की धमकी मिली थी। रुश्दी की किताब “द सैटेनिक वर्सेज” को ईरान में 1988 से बैन कर दिया गया है। कई मुसलमान इसे ईशनिंदा मानते हैं। एक साल बाद, ईरान के दिवंगत नेता अयातुल्ला रूहोल्लाह खुमैनी ने एक फतवा जारी किया था, जिसमें रुश्दी को जान से मारने को कहा गया था।

रुश्दी की हत्या करने वाले को 30 लाख अमेरिकी डॉलर से अधिक का इनाम देने की भी पेशकश की गई। उनके खिलाफ कई इस्लामिक नेताओं ने फतवा जारी किया हुआ है। ईरान की सरकार लंबे समय से खमनेई के फरमान से दूरी बनाए हुए है, लेकिन लोगों में रुश्दी विरोधी भावना बनी हुई है।

Share This Now :
Continue Reading

राज्य एवं शहर

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे ने फिर दिया झटका : छत्तीसगढ़ से गुजरने वाली ये 4 ट्रेनें इस दिन तक हुई कैंसल

Published

on

File Photo
Share This Now :

बिलासपुर : दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे (SECR) ने एक बार फिर यात्रियों की परेशानी बढ़ा दी है। रेलवे ने 16 अगस्त तक 4 एक्सप्रेस ट्रेनों को रद्द कर दिया है। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे (SECR) ने इसकी जानकारी दी है। जिसमें बताया है कि वर्धा यार्ड के आधुनिकरण, कनेक्टिंग का काम होगा। जिसके चलते 16 अगस्त तक चार ट्रेनों का रद्द किया गया है।

RO 12111_80_AUG_1 (1)
RO 12111_80_AUG_2

ये चार ट्रेनें हुई कैंसल

15, 16 और 17 अगस्त को छत्रपति शिवाजी महाराज-गोंदिया स्पेशल ट्रेन रद्द रहेगा।
15, 16 और 17 अगस्त को गोंदिया-छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनल स्पेशल रद्द रहेगा।
इसके अलावा शालीमार-कुर्ला एक्सप्रेस 15, 16 अगस्त को रद्द रहेगा।
कुर्ला-शालीमार एक्सप्रेस भी 15, 16 अगस्त को रद्द रहेगा।

Share This Now :
Continue Reading

RO-NO-12111/80

RO-NO-12078/75

Advertisement

Advertisement

Advertisement Sahni Amritsari Kulche

Chhattisgarh Trending News

राज्य एवं शहर49 mins ago

छत्तीसगढ़ की तबादला नीति को लेकर नियम जारी : जानिए कौन-कौन से विभाग के कर्मचारियों पर होगा लागू

रायपुर : छत्तीसगढ़ सरकार ने तबादला नीति के लिए नियम जारी कर दिया है। कब, किसका, कैसे ट्रांसफर होगा, इसे...

राज्य एवं शहर3 hours ago

भारत मूल के लेखक सलमान रुश्दी पर अमेरिका के न्यूयॉर्क में जानलेवा हमला, गर्दन में घोंपा चाकू

न्यूयॉर्क : भारत में जन्में अंग्रेजी भाषा के प्रख्यात लेखक सलमान रुश्दी पर शुक्रवार को अमेरिका के न्यूयॉर्क में एक कार्यक्रम के...

राज्य एवं शहर4 hours ago

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे ने फिर दिया झटका : छत्तीसगढ़ से गुजरने वाली ये 4 ट्रेनें इस दिन तक हुई कैंसल

बिलासपुर : दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे (SECR) ने एक बार फिर यात्रियों की परेशानी बढ़ा दी है। रेलवे ने 16...

देश-विदेश4 hours ago

वर्ल्ड इकोनामिक फोरम ने वन संरक्षण के लिए CG में किए जा रहे कार्यों को सराहा ; VC के माध्यम से परिचर्चा में शामिल हुए CM बघेल 

रायपुर : वर्ल्ड इकोनामिक फोरम द्वारा विश्व स्तर पर वन ट्रिलियन ट्री योजना पर काम किया जा रहा है। इस...

Special News5 hours ago

छत्तीसगढ़ : सीएम भूपेश ने ‘हमर तिरंगा अभियान’ पर आधारित फिल्म का किया लोकार्पण, घर-घर राष्ट्रीय ध्वज फहराने की अपील भी की

रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज यहां अपने निवास कार्यालय में स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर ‘हमर...

Advertisement

CONNECT WITH US :

राज्य एवं शहर49 mins ago

छत्तीसगढ़ की तबादला नीति को लेकर नियम जारी : जानिए कौन-कौन से विभाग के कर्मचारियों पर होगा लागू

राज्य एवं शहर3 hours ago

भारत मूल के लेखक सलमान रुश्दी पर अमेरिका के न्यूयॉर्क में जानलेवा हमला, गर्दन में घोंपा चाकू

राज्य एवं शहर4 hours ago

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे ने फिर दिया झटका : छत्तीसगढ़ से गुजरने वाली ये 4 ट्रेनें इस दिन तक हुई कैंसल

देश-विदेश4 hours ago

वर्ल्ड इकोनामिक फोरम ने वन संरक्षण के लिए CG में किए जा रहे कार्यों को सराहा ; VC के माध्यम से परिचर्चा में शामिल हुए CM बघेल 

Special News5 hours ago

छत्तीसगढ़ : सीएम भूपेश ने ‘हमर तिरंगा अभियान’ पर आधारित फिल्म का किया लोकार्पण, घर-घर राष्ट्रीय ध्वज फहराने की अपील भी की

Special News5 hours ago

छत्तीसगढ़ : सीएम भूपेश ने ‘हमर तिरंगा अभियान’ पर आधारित फिल्म का किया लोकार्पण, घर-घर राष्ट्रीय ध्वज फहराने की अपील भी की

Special News6 days ago

आकर्षी कश्यप ने कॉमनवेल्थ गेम्स में दिखाया खेल भावना ; पाक खिलाड़ी चोटिल हुर्ह तो दिलासा देते दिखी छत्तीसगढ़ की बेटी ; देखिए वीडियो

Videos1 week ago

बिहार में सांड ने की ट्रेन की सवारी : आदमी ने अंदर ले जाकर बांधा, यात्रियों में मच गई भगदड़ ; वीडियो में जानिए वजह

राजनीति1 week ago

CG : रस्तोगी कॉलेज भिलाई के खिलाफ NSUI ने खोला मोर्चा ; कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन ; देखिए वीडियो रिपोर्ट

खेल1 week ago

CWG 2022 : भारतीय मिक्स बैडमिंटन टीम को मिला सिल्वर मेडल ; CG के दुर्ग की आकर्षी कश्यप का भी रहा अच्छा प्रदर्शन

Top 10 News

Must Read

Special News2 days ago

CG : CPS Kids Academy रायपुर में आजादी का अमृत महोत्सव एवं रक्षाबंधन मनाया गया ; CRPF जवानों को बांधी गई रक्षासूत्र

रायपुर : देश में आजादी के 75 साल पूरे होने पर आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है इसके...

Festival & Fastings2 days ago

CG : CPS Kids Academy रायपुर में आजादी का अमृत महोत्सव और रक्षाबंधन मनाया गया ; CRFP जवानों को बांधी गई रक्षासूत्र

रायपुर : देश में आजादी के 75 साल पूरे होने पर आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है इसके...

Special News6 days ago

आकर्षी कश्यप ने कॉमनवेल्थ गेम्स में दिखाया खेल भावना ; पाक खिलाड़ी चोटिल हुर्ह तो दिलासा देते दिखी छत्तीसगढ़ की बेटी ; देखिए वीडियो

बर्मिंघम : कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के दौरान विमेंस सिंगल्स के राउंड ऑफ 32 मुकाबले के दौरान पाकिस्तानी प्लेयर शहजाद चोटिल...

Special News1 week ago

दंतेवाड़ा में देवदूत बने डॉक्टर : हॉर्ट-रेट एवं रेस्पिरेट्री-रेट नहीं दिखाने वाले नवजात को डॉक्टर एवं अस्पताल स्टॉफ ने दिया नया जीवन

दंतेवाड़ा : प्रसव के बाद हॉर्ट-रेट एवं रेस्पिरेट्री-रेट नहीं दिखाने वाले नवजात को डॉक्टरों एवं एसएनसीयू स्टॉफ ने अपनी कोशिशों...

Special News1 week ago

छत्तीसगढ़ से पहली महिला लेफ्टिनेंट बनी वंशिका पांडे ; मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दी बधाई

नई दिल्ली, रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भारतीय थल सेना में छत्तीसगढ़ की पहली महिला लेफ्टिनेंट बनने पर वंशिका...

Advertisement
Advertisement

Trending