Sunday, December 10, 2023

छत्तीसगढ़ : फर्स्ट और द्वितीय वर्ष की परीक्षा ऑनलाइन और फाइनल की ऑफलाइन, सेमेस्टर और वार्षिक परीक्षा साथ लिए जाने की बैठक में कुलपतियों की बनी सहमति ; अंतिम फैसला शासन और UGC के हाथ में

रायपुर : राज्य मेंं कोरोना संक्रमण का कहर लगातार बढ़ रहा  इस बीच छात्र बड़े परेशान हैं की उनका एग्जाम ऑफलाइन होगा या ऑनलाइन। छत्तीसगढ़ के हायर एजुकेशन में इस बार प्रथम और द्वितीय वर्ष की परीक्षा ऑनलाइन और फाइनल ईयर की ऑफलाइन करने की तैयारी है। वहीं वार्षिक और सेमेस्टर परीक्षाएं भी एक साथ ही लेने का प्रस्ताव तैयार किया गया है। यह प्रस्ताव अकादमिक विश्वविद्यालयों के कुलपतियों ने राज्य सरकार को भेजा है।

बढ़ते कोविड-19 के संक्रमण और विभिन्न जिलों में लग रहे लॉकडाउन को देखते हुए उच्च शिक्षा विभाग ने उनसे परीक्षा के मोड को लेकर विचार और प्रस्ताव मंगाए थे। अब परीक्षा का मोड तय करना शासन और विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के हाथ में है। वैसे पिछले महीने यूजीसी ने ऑफलाइन परीक्षा के आदेश जारी किए थे। इसके बाद कोविड का संक्रमण बढ़ा है। अब आगे क्रियान्वयन के लिए यूजीसी और उच्च शिक्षा विभाग के निर्देश का इंतजार है।

पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय रायपुर, हेमचंद यादव विश्वविद्यालय दुर्ग, अटल बिहारी वाजपेयी विश्वविद्यालय बिलासपुर, गहिरा गुरु विश्वविद्यालय अंबिकापुर-सरगुजा और बस्तर विश्वविद्यालय के कुलपतियों से कोविड-19 के संक्रमण को देखते हुए प्रस्ताव मंगाया गया था। इस पर रविवि को छोड़कर सभी कुलपतियों ने प्रथम और द्वितीय वर्ष की परीक्षा ऑनलाइन और फाइनल की ऑफलाइन लेने का प्रस्ताव भेजा।

शासन से प्रस्ताव मंगाए थे सुझाव दिया : डॉ. पल्टा
हेमचंद यादव विश्वविद्यालय की कुलपति डॉ. अरुणा पल्टा ने बताया कि शासन ने परीक्षा को लेकर प्रस्ताव मांगे थे। हमने प्रथम और द्वितीय वर्ष की ऑनलाइन और फाइनल की ऑफलाइन का प्रस्ताव भेजा है। फाइनल की ईयर की डिग्री के बाद बच्चे दूसरे राज्यों में जाते हैं। ऑफलाइन परीक्षा जरूरी है। प्रथम और द्वितीय वर्ष वालों को मैनेज हो सकेगा।

10वीं और 12वीं की तरह ली जाए परीक्षा : डॉ. वर्मा
पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. केसरीलाल वर्मा ने कहा कि यह ऑनलाइन परीक्षा नहीं बल्कि एग्जाम एट होम है। इससे परीक्षा की गुणवत्ता प्रभावित हो रही है। अत: जिस तरह माध्यमिक शिक्षा मंडल 10वीं और 12वीं की परीक्षा ले रहा है, ठीक उसी तरह यूजी और पीजी की परीक्षाएं ली जा सकती हैं। कॉलेज में व्यवस्था की जा सकती है।

पिछले साल की तरह परीक्षा ली जाए : डॉ. सिंह
बस्तर विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. एसके सिंह ने कहा कि हम 15 अप्रैल से परीक्षा लेने की तैयारी में थे। अभी उसे स्थगित कर दिया है। वर्तमान स्थिति को देखते हुए फाइनल ईयर को छोड़कर अन्य सभी कक्षाओं की परीक्षाएं ऑनलाइन ली जाए। नीतिगत तथ्यों को देखते हुए फाइनल ईयर की परीक्षाएं आयोजित की जाएं, ताकि उसकी गुणवत्ता बनी रहे।

ऑनलाइन मोड पर ही परीक्षाएं ली जाएं : डॉ. वाजपेयी
अटल बिहारी वाजपेयी विश्वविद्यालय बिलासपुर के कुलपति डॉ. अरुण दिवाकर नाथ वाजपेयी ने कहा कि कोविड के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए अंतिम वर्ष के छात्रों को छोड़कर सभी की ऑनलाइन परीक्षा हो। पिछले साल एक बार किया जा चुका है। फाइनल ईयर के छात्रों की ऑफलाइन परीक्षा ली जा सकती है।

spot_img

AAJ TAK LIVE

ABP LIVE

ZEE NEWS LIVE

अन्य खबरे
Advertisements
यह भी पढ़े
Live Scores
Rashifal
Panchang