Connect with us

Country News Today Exclusive

दिल्ली : मोतीलाल नेहरू कॉलेज के Enactus ने प्रोजेक्ट DESI के तहत, 1200 से ज्यादा श्वानों का नसबंदी और टीकाकरण कराया ; पढ़िए CNT के साथ उनकी खाश बातचीत

Published

on

Share This Now :

नई दिल्ली : मोतीलाल नेहरू कॉलेज नई दिल्ली के सामाजिक संगठन ‘ENACTUS’ ने एक पहल के तहत प्रोजेक्ट ‘DESI’ की शुरूआत की। Enactus MLNC ने इसमें परिसर के आसपास श्वान की नसबंदी, टीकाकरण और उन्हें खाना खिलाने का जिम्मा उठाया हैं। बेजुबान जानवरों की सुरक्षा और जरूरतों को लेकर वे सब बहुत चिंतित हैं।

RO_12111-80_AUG-3
RO 12111_80_AUG_1 (1)
RO 12111_80_AUG_2

भारत 🇮🇳 और दुनिया 🌍 भर से ब्रेकिंग न्यूज़ 🗞️ और नवीनतम 🆕️ अपडेट अपने मोबाइल 📲 में पाने के लिए कंट्री न्यूज टुडे के 🔗Whatsapp Group से जुड़े।          Click Here

कंट्री न्यूज टुडे के साथ Enactus MLNC ने एक्सक्लूसिव बातचीत में बताया की – पशु कल्याण सदैव ही Enactus MLNC का मूल सिद्धांत रहा है। हम इस विचार को सत्य मानते हैं कि पशुओं की भलाई के सभी पहलुओं पर गौर करना हमारी जिम्मेदारी है, जिसमें भोजन, आश्रय, बीमारी की रोकथाम और उपचार, तथा जानवरों की समग्र देखभाल शामिल है।

Read Also : 777 Charlie Review : कलयुग के ‘धर्मराज’ की रुला देने वाली कहानी ; श्वान और इंसान के बीच अनोखा रिश्ता समझाएगा ये फिल्म ; देखिए ट्रेलर

शुरू से ही हम मानव-पशु संबंधों में सकारात्मक बदलाव लाने की पूरी कोशिश करते रहे हैं और हमारी संस्थापक परियोजना, प्रोजेक्ट देसी, उसी लक्ष्य को पूरा करती है।

भारत और दुनिया 🌍 भर से ब्रेकिंग न्यूज़ 🗞️ और नवीनतम 🆕️ अपडेट अपने मोबाइल 📲 में पाने के लिए कंट्री न्यूज टुडे का 🔗 Youtube चैनल सब्सक्राइब करें। (Click Here)

2014 में, Enactus MLNC ने पशु कल्याण के लिए प्रोजेक्ट DESI शुरू किया। DESI का मतलब है (Duty To Empathise Sterilise and Immunise) अर्थात् दिल्ली के आवारा कुत्तों को सहानुभूति प्रदान करना, उनकी नसबंदी करवाना और उनका टीकाकरण करवाना Enactus MLNC का लक्ष्य है। भारत में आवारा कुत्तों की एक बड़ी आबादी है। यहां 30 मिलियन से ज्यादा आवारा कुत्ते रहते है, और उनके साथ अक्सर लोगों द्वारा दुर्व्यवहार करते देखा जाता है। आज भी देश का एक बड़ा वर्ग जानवरों के साथ अमानवीय व्यवहार करता है। एक ऐसे देश में जहां कुछ जानवरों को देवताओं के समान सम्मान दिया जाता है, वहीं दूसरों को इमारतों से फेंक दिया जाता है, गाड़ी से कुचल दिया जाता हैं तथा मनोरंजन के लिए विभिन्न तरीकों से अत्याचार किया जाता है।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Project DESI (@project.desi)

प्रोजेक्ट DESI के माध्यम से, हम आवारा कुत्तों की अधिक आबादी, रेबीज, कुत्तों में आक्रामकता और बहुत कुछ ऐसे मुद्दों पर अंकुश लगाने का उद्देश्य रखते हैं। अब तक हमने दिल्ली के विभिन्न इलाकों में नियमित अभियान चलाकर 1200 से अधिक कुत्तों की नसबंदी और टीकाकरण सफलतापूर्वक किया है।

हमने अपने कार्य क्षेत्र में विस्तार किया है और अब मेरठ, मुजफ्फरनगर, मोदीनगर, गाजियाबाद और नोएडा में भी काम कर रहे हैं, जहां हमने 300 से अधिक कुत्तों का टीकाकरण और नसबंदी करवाई है। प्रोजेक्ट DESI पशु कल्याण के बारे में लोगों को शिक्षा और जागरूकता की दिशा में भी प्रमुख रूप से काम करता है, क्योंकि हम मानते हैं कि ज्ञान और जागरूकता एक बड़े बदलाव की कुंजी है।

भारत 🇮🇳 और दुनिया 🌍 भर से ब्रेकिंग न्यूज़ 🗞️ और नवीनतम 🆕️ अपडेट अपने मोबाइल 📲 में पाने के लिए कंट्री न्यूज टुडे को🔗Twitter पर फ़लो  करें। (Click Here)

हमने रेबीज, कुत्ते के काटने और समग्र मानव-पशु कल्याण जैसे गंभीर मुद्दों पर 1,20,000+ लोगों को प्रभावी ढंग से शिक्षित और जागरूक किया है। प्रोजेक्ट DESI के प्रयासों की कई संगठनों द्वारा प्रशंसा की गई है, जिसमें संयुक्त राज्य अमेरिका स्थित फंडिंग संगठन, द पोलिनेशन प्रोजेक्ट से एक उदार अनुदान भी शामिल है। उनकी मदद से हम दिल्ली एनसीआर में अधिक से अधिक कुत्तों की नसबंदी कराने में सक्षम हैं।

भारत और दुनिया 🌍 भर से ब्रेकिंग न्यूज़ 🗞️ और नवीनतम 🆕️ अपडेट अपने मोबाइल 📲 में पाने के लिए कंट्री न्यूज टुडे को🔗Instagram पर फ़ॉलो करें। (Click Here)

अफवाहों के कारण कोरोना संक्रमण के दौरान कुत्तों पर पड़ा बुरा असर

जैसे-जैसे महामारी विभिन्न घातक मुद्दों जैसे बेरोजगारी, मृत्यु दर में वृद्धि आदि का एक बड़ा और एकमात्र कारण बन गई, वायरस उन लोगों को भी प्रभावित कर रहा था जिनके पास आवाज नहीं थी। अपने भोजन का एकमात्र स्रोत खोने के कारण, कई आवारा जानवर भूख से मर गए और उसी के कारण मृत्यु हो गई।

भारत और दुनिया 🌍 भर से ब्रेकिंग न्यूज़ 🗞️ और नवीनतम 🆕️ अपडेट अपने मोबाइल 📲 में पाने के लिए कंट्री न्यूज टुडे को🔗Facebook पर फॉलो और लाइक करें। (Click Here)

Enactus MLNC के सभी टीम के सदस्य हमारे साथी प्राणियों के प्रति समर्पित हैं, और महामारी के दौरान, हमने दूर से ही अधिक से अधिक कुत्तों तक पहुंचना सुनिश्चित किया, जो अब दैनिक आधार पर कम से कम 200 कुत्तों को खिलाने में मदद करता है। विभिन्न अफवाहों के कारण जानवरों के साथ भी दुर्व्यवहार किया गया, जिसमें कहा गया था कि वायरस जानवरों के माध्यम से प्रसारित किया जा सकता है।

इस तरह की अफवाहों के कारण कई परिवारों ने अपने कुत्तों को बीच में ही छोड़ दिया। जानवरों ने किस हद तक पीड़ित किया, यह महसूस करके हम चुप नहीं रह सके। इसलिए, हम देसीक्लब के विचार के साथ आए, जो प्रोजेक्ट DESI के समानुभूति वाले हिस्से को पूरा करता है। देसी क्लब उन्हें बचाने और आवारा कुत्तों को गोद लेने की दिशा में भी काम करता है। अब तक, हमने 150 बेघर कुत्तों को गोद लिया है और 40 जानवरों को बचाया है।

महात्मा गांधी ने एक बार कहा था कि “किसी राष्ट्र की महानता और उसकी नैतिक प्रगति का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उसके जानवरों के साथ कैसा व्यवहार किया जाता है।” हम, Enactus MLNC में, इस आदर्श वाक्य पर विश्वास करते हैं और जीते हैं। हमारा उद्देश्य लोगों में इन जानवरों के प्रति जिम्मेदारी और संवेदनशीलता की भावना जगाकर आवारा पशुओं के लिए एक सुरक्षित वातावरण बनाना है।

Enactus MLNC के अध्यक्ष श्री आर्यनमन चतुर्वेदी के मार्गदर्शन में, हमने इस संगठन के तहत सभी परियोजनाओं के लिए बड़ी सफलता हासिल की है।

Enactus MLNC के प्रत्येक सदस्य के लिए, पशु कल्याण का बहुत महत्व है। प्रोजेक्ट DESI ने मानव-पशु संबंधों की बेहतरी की दिशा में ईमानदारी से काम किया है, हमने एक लंबा सफर तय किया है और हमने जितना सोचा था उससे कहीं अधिक हासिल किया है। लेकिन, हम और भी अधिक बेजुबान प्राणियों तक पहुंचना और उनकी मदद करना चाहते हैं और इसके लिए हम सभी को प्रोत्साहित करते हैं कि वे आगे आएं और एक कुत्ते को खिलाने जितना काम करके इस नेक काम में मदद करें।

मोतीलाल नेहरू कॉलेज नई दिल्ली के ENACTUS की टीम ने कंट्री न्यूज़ टुडे और श्री लाभेश घोष जी को अपने माध्यम से प्रोजेक्ट DESI के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए आभार व्यक्त किया हैं।

(परियोजना DESI की प्रमुख, राधिका से अधिक जानकारी के लिए 9818962494 पर संपर्क किया जा सकता है।)

कंट्री न्यूज़ टुडे मोतीलाल नेहरू कॉलेज नई दिल्ली के ENACTUS द्वारा संचालित की जा रही प्रोजेक्ट DESI की सराहना करता है और सभी लोगों से निवेदन करता है कि आवारा कुत्तों को अपनी क्षमता के अनुसार जरूर खाना खिलाए, सहारा दे, मदद करें और अडॉप्ट करें।

नोट : ये खबर Sponsored नहीं है, केवल सूचना और जागरूकता और पशु भलाई के उद्देश्य से इस खबर को प्रकाशित किया गया है। ये खबर के लिए किसी भी तरह का शुल्क नहीं लिया गया है। कंट्री न्यूज टुडे किसी भी लेनदेन के न ही प्रत्सोहित करता है न ही किसी भी तरीके के लेनदेन के लिए जिम्मेदार हैं।

Share This Now :
Advertisement

Country News Today Exclusive

CNT Exclusive : दुर्ग में शिवनाथ का विकराल रूप : बारिश से बाढ़ के हालत ; शहर के इस फोटोग्राफर के द्वारा ड्रोन से लिए गए तस्वीरों में देखिए मंजर

Published

on

PC : Vedant Sharma
Share This Now :

दुर्ग : “शिवनाथ” अगर आप दुर्ग, रायपुर, बिलासपुर और छत्तीसगढ़ से ताल्लुक रखते है तो ये नाम आप लोगो ने जरूर सुना होगा। जी हा, आज हम बाबा भोले के नाम पर पावन नदी शिवनाथ के बारे में बात कर रहें है। जो की महानदी की मुख्य सहायक नदियों में से एक है। छत्तीसगढ़ में लगातर हो रहे बारिश से शिवनाथ नदी उफान पर है, नदी से लगे इलाको में बाढ़ के हालत है। आज हम आपको शिवनाथ नदी के विकराल रूप का ड्रोन से लिए गए तस्वीरें दिखाएंगे एवं कुछ अनसुनी खास बाते बताएंगे।

RO_12111-80_AUG-3
RO 12111_80_AUG_1 (1)
RO 12111_80_AUG_2

ट्विटर में देखिए तस्वीरे और पेज को फॉलो जरूर करें ;

इंस्टाग्राम में देखिए तस्वीरे और पेज को फॉलो जरूर करें : 

फेसबुक में तस्वीरे देखने के लिए यहां क्लिक करें और पेज को लाइक और फॉलो जरूर करें (Click Here)

ये तस्वीर दुर्ग शहर के टैलेंटेड फोटोग्राफर वेदांत शर्मा ने ड्रोन के द्वारा खींची हैं।

शिवनाथ नदी से जुड़ी खास बातें...

शिवनाथ नदी महानदी की सबसे लंबी सहायक नदी है, जो भारत के छत्तीसगढ़ में जांजगीर-चांपा जिले के चंगोरी में मिलती है। इसका कुल कोर्स 290 किलोमीटर (180 मील) है। यह नाम हिंदू धर्म में भगवान शिव का है।

शिवनाथ नदी कहा से हुई उत्पन्न ?

शिवनाथ नदी महाराष्ट्र के गढ़चिरौली जिले के गोदरी गाँव से उत्पन्न होती है और 300 किलोमीटर उत्तर पूर्व की ओर बहती है। छत्तीसगढ़ में शिवरीनारायण शहर के पास महानदी नदी में मिल जाता है। छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले के अंबागढ़ चौकी डिवीजन में समुद्र तल से 624 मीटर (2,047 फीट) ऊपर पानाबारस हिल से शिवनाथ बहते हुए आती है।

Share This Now :
Continue Reading

Country News Today Exclusive

SRH के शशांक सिंह के अलावा ; CG के बिलासपुर का यह खिलाड़ी इस साल IPL से है जुड़ा, परिवेश धर सपोर्ट प्लेयर के तौर पर MI के साथ

Published

on

Share This Now :

Sports Desk, Special Report by Labhesh Ghosh : आज हम आपको छत्तीसगढ़ के ऐसे दो क्रिकेटर के बारे में बताएंगे जो इस साल इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) 2022 से जुड़े हुए हैं। जी हां, शायद आपको यह सुनकर हैरानी होगी पर ये बिलकुल सही है। आइए जानते है विस्तार से। इस खबर के पीछे हमारा उद्देश्य यह है की छत्तीसगढ़ के खिलाड़ियों की प्रतिभा हुनर एवं उनके उपलब्धियों को प्लेटफार्म देना और आप सब प्रिय पाठकों के सामने प्रस्तुत करना ताकि आप भी गौरवान्वित हो जाए।

RO_12111-80_AUG-3
RO 12111_80_AUG_1 (1)
RO 12111_80_AUG_2

पहला नाम आता है शशांक सिंह का जो इस साल आईपीएल में सनराइजर्स हैदराबाद के ओर से मैच भी खेल चुके है। शशांक सिंह को SRH ने बेस प्राइस में खरीदा था। दूसरा नाम है परिवेश धर का बिलासपुर के क्रिकेटर परिवेश धर को मुंबई इंडियन के फाइनल ट्रायल के लिए बुलावा आया था। पहले दौर के ट्रायल में सफल होने के बाद परिवेश ने 23 दिसंबर 2021 को फाइनल ट्रायल दिया था। इसके बाद उन्हें मुंबई इंडियन टीम के साथ सपोर्ट प्लेयर के तौर पर पूरे सीजन के लिए रखा गया हैं।

कौन है शशांक सिंह

शशांक सिंह का जन्म 21 नवंबर 1991 को हुआ था। वह एक भारतीय प्रथम श्रेणी क्रिकेटर हैं जो छत्तीसगढ़ के लिए खेलते हैं। उन्होंने अपनी लिस्ट ए में पदार्पण 10 दिसंबर 2015 को विजय हजारे ट्रॉफी 2015-16 में किया। फरवरी 2017 में इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के लिए दिल्ली डेयरडेविल्स टीम ने 10 लाख में खरीदा था।

फिलहाल वे 2022 इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेल रहें है। केन विलियमसन की टीम से उनको अब तक 2 मैच खेलने का मौका मिला है।

उसके बाद उन्हें खिलाड़ी की नीलामी में राजस्थान रॉयल्स द्वारा 2019 इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के लिए खरीदा गया था। उन्होंने 9 दिसंबर 2019 को छत्तीसगढ़ के लिए 2019–20 रणजी ट्रॉफी सीज़न में प्रथम श्रेणी में डेब्यू किया। इसके पहले वे मुंबई और पुदुचेरी के लिए भी लिस्ट ए क्रिकेट खेल चुके हैं।

यहां क्लिक कर जानें शशांक का करियर स्टेटिस्टिक

कौन है परिवेश धर

बिलासपुर के क्रिकेटर परिवेश धर को मुंबई इंडियन के फाइनल ट्रायल के लिए बुलावा आया था। पहले दौर के ट्रायल में सफल होने के बाद परिवेश ने 23 दिसंबर 2021 को फाइनल ट्रायल दिया था। जिसके बाद उन्हें सपोर्ट प्लेयर (नेट बॉलर) के रूप में टीम के साथ रख कर आगे आने वाले सीजन के लिए तैयार किया जा रहा हैं। परिवेश अब बड़े-बड़े इंटरनेशनल खिलाडियों के बीच रहे कर इंटरनेशनल लेवल के क्रिकेट का तजुर्बा ले सिख रहें हैं।

परिवेश धर (जन्म 16 मार्च 2000) एक भारतीय क्रिकेटर हैं। उन्होंने 2020-21 सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में छत्तीसगढ़ के लिए 16 जनवरी 2021 को अपना ट्वेंटी-20 डेब्यू किया था।

यहां क्लिक कर जानें परिवेश का करियर स्टेटिस्टिक

मुंबई इंडियंस के फाइनल ट्रायल के वक्त छत्तीसगढ़ क्रिकेट संघ के तत्कालीन सचिव विंटेश अग्रवाल ने बताया था कि परिवेश धर ऑलराउंडर खिलाड़ी हैं। वह बेहतर बल्लेबाजी के साथ ही अच्छे बॉलर भी हैं। परिवेश छत्तीसगढ़ टीम से अंडर 25 में खेल रहा है। सय्यद मुश्ताक अली रणजी टी-20 में भी खेल चुका है।

29 और 30 नवंबर 2021 को परिवेश धर के साथ ही शुभम सिंह को मुंबई इंडियंस टीम में ट्रायल के लिए बुलाया गया था। उस दौर में शुभम और परिवेश दोनों ने ट्रायल दिया था। पहले दौर के प्रदर्शन के बाद अब परिवेश धर को फाइनल ट्रायल के लिए बुलाया गया था।

Share This Now :
Continue Reading

Country News Today Exclusive

CG : रायपुर के पास रीवां गांव में मिला ढाई हजार साल पुराना टेराकोटा का कुंआ ; गुप्त, मौर्य और कुषाण काल के अवशेष भी मिले

Published

on

Share This Now :

  • रीवां में मिले इस प्राचीन कुएं को टेराकोटा से बने 11 रिंग की मदद से बनाया गया है। संभावना है कि इसके ऊपर और भी रिंग रहे हों जो अब क्षतिग्रस्त हो गए
  • यह पूरा इलाका करीब 80 एकड़ में फैला हुआ है। अनुमान है कि यह चारो तरफ पानी से घिरी बड़ी व्यापारिक बस्ती थी

रायपुर : छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के पास रीवां गांव में धरती के भीतर से अब तक की सबसे पुरानी सभ्यता के अवशेष सामने आए हैं। यहां पर टेराकोटा के रिंग से बना एक ऐसा कुंआ मिला है। जिसका उपयोग भूमिगत जल को रिचार्ज करने में किया जाता था। अनुमान है कि यह कुंआ ईसा से 500-600 साल यानी आज से 2500 साल से भी अधिक पुराना हो सकता है।

RO_12111-80_AUG-3
RO 12111_80_AUG_1 (1)
RO 12111_80_AUG_2

पुरातत्व विभाग की ओर से खुदाई की देखरेख में लगे पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय के शोधार्थी अमर भारद्वाज ने बताया, प्राचीन काल में इस तरह के रिंग वेल बनाए जाते थे। इसका मुख्य काम पानी को बर्बाद होने से बचाना था। अतिरिक्त पानी इस वेल के जरिए जमीन में भेज दिया जाता था। इससे एक-एक बूंद पानी संरक्षित होता था और भूमिगत जल का स्तर भी मेंटेन रहता था। यहां अभी एक ही कुंआ मिला है। खुदाई आगे बढ़ेगी तो संभव है कि और भी कुएं मिले।

अमर भारद्वाज का कहना था, उत्तर प्रदेश और बिहार के कुछ पुरातात्विक साइट पर एक लाइन में दो से अधिक रिंग वेल भी मिले हैं। भारद्वाज कहते हैं, रीवां और आसपास के इलाके में आज भी पानी की समस्या है। यहां भूमिगत जल काफी नीचे है। हो सकता है कि प्राचीन काल में भी लोग इस समस्या से जूझ रहे हों। इसलिए उन्होंने ग्राउंड वॉटर रिचार्ज करने के लिए इस तरह की संरचनाएं बनाकर पानी सहेजा।

पुरातत्व विभाग के उप संचालक प्रताप चंद पारख का कहना है, इस कुएं का उपयोग पानी पीने के लिए भी होता होगा और अतिरिक्त पानी को संरक्षित करने में भी। यह एक बड़ी खोज है जो छत्तीसगढ़ के अब तक ज्ञात इतिहास में नये अध्याय जोड़ रही है। यह पकी मिट्‌टी (टेराकोटा) के रिंग से बना हुआ कुंआ है। कुछ इसी तरह के कुएं आंध्र प्रदेश के इलाकों में आज भी बनते हैं। फर्क यह है कि अब वह रिंग मिट्‌टी का न होकर सीमेंट का होता है। बताया जा रहा है, इस तरह के कुएं सिंधु घाटी सभ्यता के नगरों में मिले थे।

यह जनपद काल से कल्चुरी शासन तक का अवशेष

प्रताप चंद पारख का कहना है, अभी तक की खुदाई में रिंग वेल के अलावा बड़ी मात्रा में सोने, चांदी व तांबे के सिक्के, मिट्‌टी के बर्तन, दीवार के अवशेष और कीमती पत्थरों के मनके मिले हैं। मिट्‌टी के अधिकतर बर्तन अपनी बनावट के हिसाब से मौर्य काल के लग रहे हैं। लेकिन कुछ सिक्के और रेड वियर्स पॉटरी इसे जनपद काल यानी 1500 से 600 ईसा पूर्व तक के इतिहास की ओर ले जाती हैं। यहां से मौर्य काल, कुषाण काल, गुप्त काल से लेकर कल्चुरी काल तक के अवशेष मिले हैं। यहां मिले अवशेषों को जल्दी ही प्रयोगशाला में भेजकर वैज्ञानिक काल निर्धारण भी करा लिया जाएगा। इसके बाद विभाग छत्तीसगढ़ के इतिहास के इस अध्याय पर नई बातें सामने रखेगा।

जिस जगह पर चल रही खुदाई वह व्यापार का बड़ा केंद्र

पुरातत्व विभाग के उप संचालक प्रताप चंद पारख का कहना है, रीवां गांव में जिस जगह पर खुदाई चल रही है वह बड़ा व्यापारिक केंद्र रहा होगा। ऐतिहासिक साक्ष्य हैं कि यह जगह कभी पूर्व-पश्चिम और उत्तर-दक्षिण के व्यापारिक मार्ग के जंक्शन पर था। इसलिए इसका बड़ा महत्व है।

साइट के उत्खनन सहायक वृशोत्तम साहू का कहना था, इस जगह से बड़ी मात्रा में कीमती पत्थर के मनके, गलन भट्‌ठी जैसी संरचना और लोहा मिला है। जो कीमती पत्थर यहां से मिले हैं, वह आसपास कहीं नहीं मिलते। ऐसे में अनुमान लगाया जा रहा है, यहां के लोग उसे बाहर से आयात कर यहां मनकों की माला, आभूषण और दूसरी वस्तुएं बनाते थे। यहीं से नावों के जरिए यहां दूसरे राज्यों में भेज दिया जाता था।

( यह खबर CNT द्वारा संपादित नहीं की गई हैं)

Share This Now :
Continue Reading

RO-NO-12111/80

RO-NO-12078/75

Advertisement

Advertisement

Advertisement Sahni Amritsari Kulche

Chhattisgarh Trending News

CORONA VIRUS2 mins ago

कोरोना मामलों में आयी मामूली गिरावट, देश में 13272 नए केस दर्ज ; छत्तीसगढ़ में 3 मौतें और इतने नए मरीज मिले…

India Coronavirus Cases: देश में कोरोना (Corona) का खतर अब भी लगातार बना हुआ है. रोजाना मामले दर्ज हो रहे...

देश-विदेश12 hours ago

Rain Alert : छत्तीसगढ़ में अगले 48 घंटे के लिए रेड अलर्ट जारी, इन जिलों में हो सकती है भारी बारिश : देखिए

रायपुर : छत्तीसगढ़ में भारी बारिश के लिए मौसम विभाग ने रेड अलर्ट जारी कर दिया है. अगले 48 घंटे...

राजनीति16 hours ago

छत्तीसगढ़ : बीजेपी के नए नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल ने प्रदेश सरकार के सामने रखी ये मांग, बेरोजगारी को लेकर कही ये बात 

रायपुर : छत्तीसगढ़ में बीजेपी के नए नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल ने प्रदेश सरकार से रोजगार और प्रदेश की आर्थिक स्थिति...

क्राइम16 hours ago

सुनो रायपुर अभियान : लड़किया करती है न्यूड वीडियो कॉल, फिर होता है ब्लैकमेलिंग का धंधा ; ऐसे फ्रॉड से बचने के 10 तरीके,

रायपुर : छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के लोगों के लड़कियों के वीडियो कॉल आ रहे हैं। वीडियो कॉल के दौरान...

Career20 hours ago

छत्तीसगढ़ : कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय के शोधार्थी अवधेश मिश्रा को मिली जनसंचार में PHD

रायपुर : कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय के जनसंचार विभाग के शोधार्थी अवधेश मिश्रा को जनसंचार विषय में पीएचडी...

Advertisement

CONNECT WITH US :

CORONA VIRUS2 mins ago

कोरोना मामलों में आयी मामूली गिरावट, देश में 13272 नए केस दर्ज ; छत्तीसगढ़ में 3 मौतें और इतने नए मरीज मिले…

ज्योतिष40 mins ago

राशिफल 20 अगस्त : ग्रहों के शुभ योग से मेष, वृष, कर्क वाले मनाएंगे जश्न, धन- लाभ के प्रबल योग

देश-विदेश12 hours ago

Rain Alert : छत्तीसगढ़ में अगले 48 घंटे के लिए रेड अलर्ट जारी, इन जिलों में हो सकती है भारी बारिश : देखिए

राजनीति16 hours ago

छत्तीसगढ़ : बीजेपी के नए नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल ने प्रदेश सरकार के सामने रखी ये मांग, बेरोजगारी को लेकर कही ये बात 

क्राइम16 hours ago

सुनो रायपुर अभियान : लड़किया करती है न्यूड वीडियो कॉल, फिर होता है ब्लैकमेलिंग का धंधा ; ऐसे फ्रॉड से बचने के 10 तरीके,

बॉलीवुड तड़का - Entertainment1 day ago

MMS Scandal : एमएमएस लीक कांड पर कच्चा बादाम फेम अंजली अरोरा की तीखी प्रतिक्रिया, अभद्र भाषा इस्तेमाल करते हुए कह डाली ये बात : देखिए वीडियो

राज्य एवं शहर3 days ago

CG : दुर्ग में शिवनाथ नदी खतरे के निशान से 15 फीट ऊपर, कई गांव डूबे, शहर में भी घुसा पानी, SDRF ने किया रेस्क्यू ; 4 साल पहले बना पुल धंसा : देखिए वीडियो

क्राइम1 day ago

कुम्हारी में ट्रक ने 14 वर्षीय छात्रा को कुचला, मौत ; ग्रामीणों के चक्काजाम के चलते रायपुर से भिलाई NH पर 10 घंटों से ज्यादा रहा महा जाम ; देखिए वीडियो

क्राइम3 days ago

CG में हाईप्रोफाइल Sex रैकेट का खुलासा, व्हाट्सएप के जरिए होता था डील, 3 युवक व 3 युवतियां अपत्तिजनक हालत मे गिरफ्तार

देश-विदेश5 days ago

लाल किले के प्राचीर से PM ने फहराया राष्ट्रीय ध्वज : अपने संबोधन मे महिलाओं के किस दर्द को पीएम मोदी ने किया महसूस…? ; जय जवान से जय अनुसंधान तक, 5 प्रण और 5G का जिक्र, जानें PM मोदी के भाषण की बड़ी बातें

बॉलीवुड तड़का - Entertainment1 day ago

MMS Scandal : एमएमएस लीक कांड पर कच्चा बादाम फेम अंजली अरोरा की तीखी प्रतिक्रिया, अभद्र भाषा इस्तेमाल करते हुए कह डाली ये बात : देखिए वीडियो

राज्य एवं शहर3 days ago

CG : दुर्ग में शिवनाथ नदी खतरे के निशान से 15 फीट ऊपर, कई गांव डूबे, शहर में भी घुसा पानी, SDRF ने किया रेस्क्यू ; 4 साल पहले बना पुल धंसा : देखिए वीडियो

Special News1 week ago

छत्तीसगढ़ : सीएम भूपेश ने ‘हमर तिरंगा अभियान’ पर आधारित फिल्म का किया लोकार्पण, घर-घर राष्ट्रीय ध्वज फहराने की अपील भी की

Special News2 weeks ago

आकर्षी कश्यप ने कॉमनवेल्थ गेम्स में दिखाया खेल भावना ; पाक खिलाड़ी चोटिल हुर्ह तो दिलासा देते दिखी छत्तीसगढ़ की बेटी ; देखिए वीडियो

Videos2 weeks ago

बिहार में सांड ने की ट्रेन की सवारी : आदमी ने अंदर ले जाकर बांधा, यात्रियों में मच गई भगदड़ ; वीडियो में जानिए वजह

Top 10 News

Must Read

Festival & Fastings1 day ago

माखन चुराकर जिसने खाया, बंसी बजाकर जिसने नचाया…श्रीकृष्ण जन्‍माष्‍टमी की हार्दिक शुभकामनाएं ; शेयर करें ऐसे ही शुभकामना मैसेज

आस्था डेस्क : मथुरा समेत देशभर में जन्माष्टमी का त्योहार बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है। इस मौके पर...

Special News2 days ago

​​​​​​CM भूपेश जन्माष्टमी के दिन रायपुर के “कृष्ण-कुंज” में पौधरोपण की शुरूआत करेंगे ; CG में 162 स्थानों में होगा सांस्कृतिक महत्त्व के पौधो का रोपण

​​​​रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जन्माष्टमी के अवसर पर राजधानी रायपुर के तेलीबांधा में विकसित किए जा रहे कृष्ण-कुंज में...

Festival & Fastings2 days ago

Happy Sri Krishna Janmashtami : आज जन्माष्टमी पर 44 मिनट की ये अवधि खास, जानिए कृष्ण पूजन करना का शुभ मुहूर्त

आस्था डेस्क : भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव हर साल भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाया जाता...

Special News6 days ago

स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति मुर्मू का संदेश : हम भारतीयों ने संदेह जताने वालों को गलत साबित किया

नई दिल्ली : भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने पर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने स्वतंत्रता दिवस की पूर्व...

Special News1 week ago

छत्तीसगढ़ के 3 पुलिस अफसरों को केंद्रीय गृह मंत्रालय देगा मेडल ; देखिए सूची

नई दिल्ली, रायपुर : छत्तीसगढ़ के 3 पुलिस अफसरों को केंद्र सरकार द्वारा मेडल दिया जाएगा। शुक्रवार को इसे लेकर...

Advertisement
Advertisement

Trending