Connect with us

हेल्दी लाइफ

Happy World Health Day 2021 : 20 मिनट में 6 टेस्ट सेे जानिए आपका दिल, दिमाग, फेफड़े और नर्वस सिस्टम कितना दुरुस्त है

Published

on

Share This Now :

National Desk : 2020 में सबसे ज्यादा बोला, सोचा और सर्च किया गया शब्द है हेल्थ। पूरे वर्ष हम कोरोना से लड़ते हुए हेल्थ पर ही बात करत रहे। 2021 में स्वास्थ्य को लेकर ज्यादा सजग और मजबूत हुए हैं। आज हेल्थ डे पर इस खास हेल्थ टेस्ट को पद्मश्री न्यूरोलॉजिस्ट डॉक्टर अशोक पनगड़िया, पद्मश्री काडियाेलॉजिस्ट और इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष डॉ. केके अग्रवाल, शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. अशोक गुप्ता, श्वास रोग विशेषज्ञ डॉ.वीरेंद्र सिंह और डॉ. शीतू सिंह ने तैयार किया है।

RO-NO-12059/77

11_june
22_june

इनके साथ बिलासपुर के नेफ्रोलॉजिस्ट डाॅ. आशीष पुरोहित, कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. राजीव लोचन भांजा, शिशुरोग विशेषज्ञ डाॅ. अशोक अग्रवाल, डाॅ. शिखा अग्रवाल और श्वास रोग विशेषज्ञ डाॅ. पुनीत भारद्वाज, और डॉ. अखिलेश देवरस ने अपना अनुभव साझा किया।

 

3 टेस्ट… जो आपके दिल, दिमाग और फेफड़ों की क्षमता-तालमेल बताएंगे

टेस्ट 1- दिमाग व शरीर का तालमेल

  • एक मिनट तक खबर बोलकर पढ़ें, आवाज न बदले तो फिट

आज अच्छी सेहत के लिए खुद को पूरी तरह से समर्पित करने का दिन है। कोविड ने हमें सिखा दिया है कि अच्छी सेहत का कोई विकल्प नहीं, लेकिन इसके लिए जरूरी है संतुलन। न्यूरोलॉजिस्ट डॉ. अशोक पनगड़िया बताते हैं- शरीर के अपने चैक्स और संतुलन होते हैं, जिन्हें हमें जानना चाहिए।

सोचिए! क्या यह किसी करिश्मे से कम है कि दिल की एक आर्टरी ब्लॉक होती है तो एक समानान्तर सर्कुलेटरी सिस्टम बन जाता है जो आपातकाल में शरीर को लड़ने में मदद देता है। सेहत का राज है इस संतुलन को बनाए रखना जिसके लिए राज कपूर की फिल्म का एक गाना गुनगुनाना और जिंदगी में उतारना चाहिए…ऐ भाई जरा देख के चलो, आगे ही नहीं पीछे भी।

यूसी बर्कले यूनिवर्सिटी की रिसर्च के मुताबिक आपको लगता है कि तनाव आपके दिल और दिमाग के लिए खतरनाक ही होता है, तो एक बार फिर सोचिए। तनाव को बिना किसी पक्षपात के गुलाबी चश्मे से देखिए। ऐसा सोचने भर से आपका दिमाग बिलकुल अलग तरह से काम करने लगेगा। उससे निकलने वाले कॉर्टिसॉल स्ट्रैस हॉरमोन की मात्रा कम हो जाती है।

उसी दौरान दिमाग से एक ऐसा स्टीरॉयड डीएचईए एंटी-एजिंग हॉरमोन भी निकलता है जो मुस्कराने से भी बढ़ता है। जब डीएचईए की मात्रा कॉर्टिसॉल से ज्यादा होती है तो शरीर पर पड़ने वाले तनाव के बुरे असर के खिलाफ सुरक्षा चक्र बनकर खड़ा हो जाता है।

आपकी रिपोर्ट

इस खबर को पढ़ते हुए आवाज पर ध्यान दें… 1 मिनट बोलकर पढ़ने के दौरान आवाज जरा भी नहीं बदलती तो ब्रेन और नर्वस सिस्टम का फंक्शन सही है। आवाज बदले (भर्राए, अस्पष्ट हो जाए या स्वर बदल जाए) तो डॉक्टर से जरूर मिलें।

टेस्ट 2- फेफड़ों की फिटनेस

  • नीचे लिखी खबर एक सांस में पढ़ें, 20 से कम शब्द पढ़ पाएं तो 90% से कम O2 सेचुरेशन

फिटनेस जांचने का सबसे अच्छा पैमाना है आपके चलने की गति। अगर आप बिना किसी परेशानी के 6 मिनट में 500 मीटर की दूरी तय कर लेते हैं तो आप फिट हैं। लेकिन अगर आप इस अवधि में 200 मीटर की दूरी भी तय नहीं कर सकें और थकावट महसूस करें तो डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए।

आपकी रिपोर्ट

30 से कम शब्द गिनते हैं तो करीब 90% आशंका है कि ऑक्सीजन सेचुरेशन 94% से कम है जो इससे ज्यादा होनी चाहिए। आप 20 से भी कम शब्द गिनते हैं तो डॉक्टर से मिलें। क्याेंकि अॉक्सीजन सेचुरेशन 90% से कम होने की संभावना है।

  • यह टेस्ट इजराइल के साइंटिफिक रिसर्च पेपर रॉथ स्कोर पर आधारित है

टेस्ट 3- दिल व फेफड़ों की क्षमता

  • इस मंत्र के 6 शब्द पढ़िए,10 सेकंड सांस रोकिए, दोहराइए… सांस फूली तो दिक्कत है

ॐ नमो भगवते महासुदर्शनाय वासुदेवाय धन्वंतरयेअमृतकलशहस्ताय सर्वभयविनाशाय सर्वरोगनिवारणायत्रिलोकपथाय त्रिलोकनाथाय श्री महाविष्णुस्वरूपायश्रीधन्वंतरीस्वरूपाय श्रीश्रीश्री औषधचक्राय नारायणाय नमः॥

आपकी रिपोर्ट

धनवंतरि मंत्र अच्छे स्वास्थ्य की कामना का मंत्र है। इसे यहां इसीलिए लिया गया है। इस अभ्यास के लिए यह मंत्र जरूरी नहीं, कोई भी 6 शब्दों के साथ यह अभ्यास कर सकते हैं। सांस की गति नियंत्रित कर 10-10 सेकंड के लिए सांस रोकते हुए एक सेहतमंद व्यक्ति औसतन 6 शब्द प्रति मिनट पढ़ सकता है। 10 सेकंड भी सांस नहीं रोक कर पा रहे हैं तो डॉक्टर से परामर्श लें। दिन में एक बार 20 मिनट तक इस पैटर्न पर धीरे-धीरे सांस लेनी चाहिए।

और ये 3 टेस्ट- जिनमें उठाइए पेपर-पेन, जांचिए दिमाग की सेहत

टेस्ट 4- मानसिक विकास

बच्चों से ह्यूमन ड्राइंग बनवाइए, सही अनुपात, सारे अंग मतलब, सही विकास

2.5 से 15.5 साल उम्र तक के बच्चों की मानसिक क्षमता जानने के लिए ड्रा-ए-पर्सन टेस्ट (गुड इनफ-हैरिस ड्रॉ-ए-पर्सन टेस्ट) किया जाता है। इसे बॉक्स में दिए प्रतीकात्मक चित्र से समझें। बच्चे को महिला, पुरुष और स्वयं का चित्र बनाने को कहिए। हैरिस के क्वांटिटेटिव स्कोरिंग सिस्टम पर डॉक्टर स्कोरिंग करते हैं।

आपकी रिपोर्ट

सभी अंग सही रेशो में बनाए हैं और महिला-पुरुष का अंतर दिखाया है तो समझिए बच्चे का मानसिक विकास सही हो रहा है।

टेस्ट 5- सही नर्वस सिस्टम

  • सर्किल पूरा करके देखिए, हाथ न कांपे तो दिमाग-शरीर का तालमेल सही

बिंदुओं से बनाए गए इस कॉन्सेंट्रिक सर्किल के गैप को पेंसिल से भरना है। और इसमें आपका हाथ नहीं कांपना चाहिए।

आपकी रिपोर्ट

आसानी से सर्किल पूरा कर पा रहे हैं तो ओके, पर ऐसा करते वक्त हाथ कांपे या आंखें धोखा खाए तो डॉक्टर को दिखा लेना चाहिए।

टेस्ट 6- आई क्यू लेवल

मैथ्स के 3 आसान प्रतीत होने वाले सवालों पर आधरित एमआईटी के प्रो. शेन फ्रेडरिक ने यह टेस्ट बनाया जिसे 87 प्रतिशत लोग फेल हो चुके हैं। लेकिन इन्हें पढ़कर आपको लगेगा कि ये 5 सेकंड का टेस्ट है। और इसी सोच के कारण गलती हो जाती है।

बिना जल्दबाजी 3 सवालों को हल कर सकें तो 13% हाई आईक्यू वालों में हैं आप

1. एक बैट और बॉल की कीमत कुल 110 रुपए है। बैट की कीमत बॉल से 100 रुपए ज्यादा है तो बॉल की कीमत क्या है? मान लीजिए बॉल की कीमत X तो बैट की कीमत X + 100 होगी । बैट और बॉल की कीमत को जोड़ने पर X + (X + 100) = 110 आएगा। यानी, 2X + 100 = 110, तो 2X = 10, और X = 5होगा। इसलिए बॉल की कीमत होगी 5 रुपए और बैट की कीमत होगी 105 रु.।

2. अगर 5 मशीन 5 मिनट में 5 छोटे गैजेट बना सकती हैं तो 100 मशीन कितने वक्त में 100 गैजेट बना सकती हैं? 5 मशीन 5 मिनट में 5 छोटे गैजेट बनाती है तो 1 मशीन 5 मिनट में 1 गैजेट बनाएगी। तो जब 100 मशीनें एक साथ काम करेंगी तो वो मिलकर 5 मिनट में 100 यूनिट ही बनाएंगी।

3. एक तालाब में कमल खिले हैं। जिनके पत्तों का पैच हर दिन दुगुना हो जाता है । अगर पूरा तालाब 48 दिनों में पत्तों के पैच से भर गया तो आधा तालाब ढंकने में कितने दिन लगेंगे? हर आने वाले दिन में अगर पैच दोगुना होता है तो हर बीते दिन में पैच आधा होगा। अगर 48 दिन में पूरा तालाब भरता है तो 47वें दिन पर पैच उस तालाब को आधा ढंक देगा।

Disclaimer :- ये टेस्ट किसी बीमारी की शुरुआती पहचान का तरीका है, लेकिन डॉक्टरी जांच-परामर्श का विकल्प नहीं है। ये टेस्ट आपकी सेहत के सूचकों पर आधारित हैं। सेल्फ टेस्ट की रिपोर्ट सामान्य न हो तो घबराएं नहीं, डॉक्टर से सलाह लें।

Share This Now :
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

राज्य एवं शहर

CG : जन्म से लेकर 16 वर्ष तक के आयु के बच्चों के लिए हर टीका है जरुरी ; शासकीय अस्पतालों एवं आंगनबाड़ी केंद्रों में मुफ्त होता है टीकाकरण

Published

on

Symbolic Image
Share This Now :

रायपुर : बच्चे के जन्म के साथ समय-समय पर उनका टीकाकरण करवाना आवश्‍यक होता है। नियमित टीकाकरण न करवाने वाले बच्चे जानलेवा बीमारी से ग्रसित हो सकते हैं। जन्म से लेकर 16 साल तक की उम्र तक बच्चे के लिए हर टीका बहुत जरूरी होता है, क्योंकि यह टीके उन्हें कई गंभीर बीमारियों से बचाते हैं। स्वास्थ्य विभाग के राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉ वी आर भगत बताते है कि सम्पूर्ण टीकाकरण शिशुओं के जीवन और भविष्य को सुरक्षित रखने के लिए सुरक्षा कवच का काम करता है। अपने शिशुओं का टीकाकरण करके हम अपने समुदाय के सबसे अधिक जोखिम ग्रस्त सदस्य जैसे नवजात शिशु की सुरक्षा करते हैं । उन्होंने बताया कि एक समय हजारों बच्चों की जान लेने वाली बीमारियां जैसे पोलियो, स्मॉल पॉक्स आदि का उन्मूलन टीकाकरण के कारण किया जा सका है |आज टीकाकरण के कारण ही बच्चों में होने वाली अन्य बीमारियां भी उन्मूलन के कगार पर हैं।

RO-NO-12059/77

11_june
22_june

 

टीकाकरण की सूची

 

डॉ भगत ने बताया की शिशुओं को जन्म पर बीसीजी, ओपीवी-0, हेपटाइटिस-बी-0 का टीका लगाया जाता है ,

6 हफ्ते या 1 1/2 महीने पर शिशुओं को ओपीवी-1, रोटा-1, एफआईपीवी-1, पेंटावेलेंट-1 और पीसीवी-1 का टीका लगाया जाता है , वहीँ 10 हफ्ते या 2 1/2 महीने में ओपीवी-2, रोटा-2, पेंटावेलेंट-2 का टीका, 14 हफ्ते या 3/12 महीने में ओपीवी-3, रोटा-3, एफआईपीवी-2, पेंटावेलेंट-3 और पीसीवी-2 का टीका , 9वें महीने में एम आर-1, पीसीवी-बूस्टर, विटामिन-A का प्रथम खुराक, 16-24 महीने में डीपीटी बूस्टर -1, ओपीवी-बूस्टर, एम आर-2, विटामिन-A का द्वितीय खुराक एवं 5-6 साल में डीपीटी-बूस्टर-2, 10 साल एवं 16 साल की उम्र पर टीडी का टीका लगाया जाता है।

इसके अलावा गर्भवती महिलाओं को भी टीडी के दो टीके- पहला गर्भ धारण के तुरंत बाद एवं दूसरा इसके एक महीने बाद लगाया जाता है | सम्पूर्ण टीकाकरण सभी शासकीय चिकित्सालयों में निःशुल्क लगाया जाता है |

डॉ भगत ने बताया कि टीकाकरण शिशुओं को टीबी, पोलियो, रोटावायरस दस्त, काली खांसी, टिटनेस, हेपेटाइटिस बी, खसरा, हिब-निमोनिया और मेनिनजाइटिस जैसे गंभीर बीमारियों से बचाता है । उन्होंने बताया कि टीके लगने के बाद शिशुओं को स्तनपान कराया जा सकता है। टीके लगे स्थान पर यदि सूजन हो तो उस पर ठंडे पानी की पट्टी रख सकते हैं। बीसीजी के टीके लगे स्थान पर डेढ़ से दो माह में छोटा सा फफोला होता है, इससे घबराएं नहीं। टीका लगाने के बाद किसी भी प्रकार की एलर्जी हो या बुखार आए तो स्वास्थ्य कार्यकर्ता या डॉक्टर के परामर्श से दवाइयां ले सकते हैं।

Share This Now :
Continue Reading

राज्य एवं शहर

छत्तीसगढ़ : दाई दीदी क्लीनिकों में करीब 97 हजार महिलाओं का हुआ इलाज ; विभिन्न बीमारियों का निःशुल्क हो रहा इलाज

Published

on

File Photo
Share This Now :

रायपुर : छत्तीसगढ़ शासन के नगरीय प्रशासन विभाग द्वारा मुख्यमंत्री दाई दीदी क्लीनिक योजना के तहत अब तक 96 हजार 887 से ज्यादा महिलाओं का इलाज किया गया है। दाई दीदी क्लीनिक में महिला स्टाफ के साथ एम. एम. यू के डॉक्टर गरीब तंग बस्तियों में पहुंचकर बीमार महिलाओं का इलाज स्लम इलाके में रहने वाली महिलाओं की विभिन्न बीमारियों का निःशुल्क इलाज कर रहे हैं।

RO-NO-12059/77

11_june
22_june

महिला चिकित्सा स्टाफ महिला श्रमिकों एवं उनकी बच्चियों का भी निःशुल्क इलाज कर रहे हैं। मरीजों का पैथोलॉजी संबंधित विभिन्न जांच किये जाते हैं और महिला मरीजों का परामर्श एवं निःशुल्क दवा उपलब्ध करायी जा रही है। दाई दीदी क्लीनिक योजना के तहत विभिन्न स्लम बस्तियों में 1282 शिविर लगाये गये जिसमें 96 हजार 887 से अधिक महिलाओं मरीजों का इलाज किया गया है। दाई दीदी क्लीनिकों में 17 हजार 472 महिलाओं के विभिन्न पैथोलॉजी लेब टेस्ट किया गया और 92 हजार 419 महिलाओं को निःशुल्क दवा वितरण की गई है।

Share This Now :
Continue Reading

हेल्दी लाइफ

गर्मियों में दस्त से बचाव के लिए सावधानी जरूरी, लू और दूषित खानपान मुख्य कारण, डिहाइड्रेशन से हो सकती है मौत! जानिए सब कुछ

Published

on

Symbolic Image
Share This Now :

रायपुर : गर्मियों में बढ़ते तापमान के साथ बच्चों से लेकर बुजुर्गों में दस्त यानि डायरिया का खतरा बढ़ जाता है। डायरिया के लिए आमतौर पर लू और दूषित खानपान मुख्य कारण है। दूषित खाद्य या पेय पदार्थों में मौजूद वायरस, बैक्टीरिया या प्रोटोजोआ के कारण ही विभिन्न आयु के लोगों में डायरिया होता है।दस्त का उपचार यदि शुरूआत में नहीं किया जाए तो अनेक आपातकालीन स्थितियां बन सकती है तथा यह जानलेवा भी हो सकता है।

RO-NO-12059/77

11_june
22_june

गर्मियों में दस्त से बचाव के लिए सभी आयु वर्ग के लोगों को अपने खान-पान में विशेष सावधानी बरतने की जरूरत होती है। तीव्र डायरिया में दस्त के कारण शरीर में पानी और इलेक्ट्रोलाइट्स यानि सोडियम व पोटेशियम की मात्रा बहुत तेजी से कम होने लगती है जिससे शरीर में ऐंठन, बेहोशी जैसे लक्षण मिलते हैं। इन लक्षणों से पीड़ित को त्वरित उपचार नहीं मिलने पर डिहाइड्रेशन के कारण मौत भी हो सकती है ।

शासकीय आयुर्वेद कॉलेज रायपुर के सह-प्राध्यापक डॉ. संजय शुक्ला ने बताया कि डायरिया के घातक होने की संभावनाओं के मद्देनजर आम लोगों को अपने खान-पान की गुणवत्ता और आदतों पर सावधानी बरतने की जरूरत है। गर्मियों में भोजन और अन्य खाद्य पदार्थ अत्यधिक तापमान के कारण बड़ी जल्दी खराब हो जाते हैं। इसलिए बासी और खुले भोजन से बचना चाहिए तथा ताजा भोजन ही लेना चाहिए।

इन दिनों बाजार में बिकने वाले खाद्य पदार्थों और शीतल पेय जैसे लस्सी, गन्ने और अन्य फलों के रस के सेवन में सावधानी बरतना चाहिए क्योंकि इनके संक्रमित या दूषित होने से दस्त सहित पेट से संबंधित अनेक रोगों की होने की संभावना ज्यादा होती है। चूंकि गर्मियों में पाचन तंत्र कमजोर होता है और शारीरिक सक्रियता कम रहती है इसलिए लोगों को तले-भुने, मसालेदार गरिष्ठ भोजन, फास्ट फूड, स्ट्रीट फूड, मांसाहार और शराब सेवन का परहेज करना चाहिए।

दस्त होने पर भोजन में चावल या खिचड़ी, दही, केला, अनार इत्यादि को शामिल करना चाहिए। शिशुओं को मां का दूध, दाल या चावल का पानी यानि माढ़ आदि तथा चिकित्सक के परामर्श पर जिंक का टेबलेट देना चाहिए।

डॉ. संजय शुक्ला ने बताया कि आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति में डायरिया यानि अतिसार का मुख्य कारण त्रिदोष यानि वात, पित्त व कफ का असंतुलन और पाचक अग्नि यानि जठराग्नि का मंद होना है। इसलिए इस पद्धति में अतिसार से बचने के लिए गर्मियों में भरपेट भोजन के बजाय थोड़ी-थोड़ी मात्रा में अनेक बार ताजा और सुपाच्य भोजन ग्रहण करने का निर्देश है।

इस मौसम में बाजार में मिलने वाले कोल्ड ड्रिंक्स की जगह जीरा मिलाकर मठा यानि छाछ, नारियल पानी, नींबू पानी, बेल का शरबत, आम का पना आदि का सेवन करना चाहिए। गर्मियों में पेयजल की शुद्धता पर भी ध्यान देना आवश्यक है। घर में कटे फल और भोज्य पदार्थों को ढंक कर रखना चाहिए। इसके अलावा लोगों को व्यक्तिगत स्वच्छता पर भी ध्यान देना चाहिए। शौच के बाद और भोजन के पहले साबुन से अपने हाथों को अच्छी तरह से धोना चाहिए। उपयोग से पहले फलों और सब्जियों को अच्छी तरह से पानी से धो लेना चाहिए ताकि संक्रमण की संभावना न हो।

डायरिया से पीड़ित रोगियों के उपचार में विशेष सावधानी बरतने की जरूरत होती है। अत्यधिक दस्त के कारण डिहाइड्रेशन की संभावना रहती है, इसलिए शुरूआत में ही रोगी को जीवन रक्षक घोल यानि ओआरएस या घर में बने नमक-शक्कर का घोल, दाल या चावल का पानी इत्यादि पिलाते रहना चाहिए। रोगी को प्राथमिक उपचार देने के बाद अतिशीघ्र नजदीकी सरकारी स्वास्थ्य केंद्र ले जाएं या चिकित्सा विशेषज्ञ का परामर्श लें, ताकि आपातकालीन स्थिति न बने।

Share This Now :
Continue Reading

RO-NO-12059/77

RO-NO-12059/77

Advertisement

Advertisement

Advertisement Sahni Amritsari Kulche

Chhattisgarh Trending News

CORONA VIRUS7 hours ago

छत्तीसगढ़ : कोरोना के 126 केस मिले, 116 हुए स्वस्थ, एक्टिव केस 861 ; रायपुर में 33 नए मरीजों के साथ सक्रिय मामले 226

रायपुर : छत्तीसगढ़ मे बुधवार को कोरोना के 126 नए मरीज़ मिले हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी मेडिकल बुलेटिन के...

CORONA VIRUS7 hours ago

कोरोना के खिलाफ लड़ाई हुई मजबूत : देश की पहली m-RNA वैक्सीन को DCGI ने इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए दी मंजूरी

National Desk : कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ लड़ाई में भारत को एक और बड़ा हथियार मिल गया है। बुधवार...

राज्य एवं शहर7 hours ago

CM भूपेश ने भरतपुर-सोनहत को दी 188 करोड़ के कार्यों की सौगात, चिरमिरी में इनडोर स्टेडियम और पॉलिटेक्निक कॉलेज की घोषणा : मुख्यमंत्री बने हैक्ज़ाकॉप्टर ड्रोन पायलट

कोरिया : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भेंट मुलकात के दौरान कोरिया जिले के दौरे के दूसरे दिन मनेंद्रगढ़ विधानसभा में पहुंचे...

CORONA VIRUS8 hours ago

रथ और कांवर यात्रा के लिए कोरोना प्रोटोकाल जारी, केंद्र ने CG के CS को लिखा पत्र, कोविड लक्षण वालों को आयोजन में रोकने का निर्देश

रायपुर : भारत में रथ यात्रा और सावन की कांवर यात्रा पर कोरोना का खतरा मंडरा रहा है। केंद्र सरकार...

राज्य एवं शहर19 hours ago

राशिफल 29 जून : वृश्चिक समेत इन राशियों के लोग न कोई रिस्क, इन राशियों के लोग तांबे की वस्तु का करें दान

Today’s Horoscope : मेष राशि में मंगल और राहु हैं। वृषभ राशि में शुक्र और बुध हैं। मिथुन राशि में...

Advertisement

CONNECT WITH US :

CORONA VIRUS7 hours ago

छत्तीसगढ़ : कोरोना के 126 केस मिले, 116 हुए स्वस्थ, एक्टिव केस 861 ; रायपुर में 33 नए मरीजों के साथ सक्रिय मामले 226

CORONA VIRUS7 hours ago

कोरोना के खिलाफ लड़ाई हुई मजबूत : देश की पहली m-RNA वैक्सीन को DCGI ने इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए दी मंजूरी

राज्य एवं शहर7 hours ago

CM भूपेश ने भरतपुर-सोनहत को दी 188 करोड़ के कार्यों की सौगात, चिरमिरी में इनडोर स्टेडियम और पॉलिटेक्निक कॉलेज की घोषणा : मुख्यमंत्री बने हैक्ज़ाकॉप्टर ड्रोन पायलट

CORONA VIRUS8 hours ago

रथ और कांवर यात्रा के लिए कोरोना प्रोटोकाल जारी, केंद्र ने CG के CS को लिखा पत्र, कोविड लक्षण वालों को आयोजन में रोकने का निर्देश

देश-विदेश9 hours ago

BIG BREAKING : महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने CM और MLC पद से किया इस्तीफा का एलान ; विधानसभा में कल फ्लोर टेस्ट

राज्य एवं शहर7 days ago

CG में 3 दिन बंद रहेंगी शराब बिक्री, होटल-रेस्टॉरेंट में भी बेचने की अनुमति नहीं, आबकारी विभाग ने जारी किए निर्देश ; जानिए कारण

देश-विदेश6 days ago

बड़ी खबर : छत्तीसगढ़ से गुजरने वाली 35 ट्रेनें अगले 15 दिन के लिए फिर रहेंगी रद्द, देखिए सूची

क्राइम5 days ago

CG : भिलाई में मर्डर केस का खुलासा : रेप केस में फंसाने की धमकी दी तो युवकों ने पहले महिला से बनाया शारीरिक संबंध, फिर हत्या कर बोरे में डालकर गटर में फेंका

क्राइम6 days ago

CG Crime : दुर्ग के मरोदा स्टेशन के पास मिली महिला की लाश ; हत्या के बाद बोरी में डाल कर गटर में फेंकी बॉडी ; सिर और शरीर पर चोट के निशान

क्राइम6 days ago

Sidhu Moosewala Murder Case : 2021 में रची गई थी मूसेवाला की हत्या की साजिश, लॉरेंस बिश्नोई गैंग तीसरी कोशिश में हुआ सफल

Special News2 days ago

777 Charlie Review : कलयुग के ‘धर्मराज’ की रुला देने वाली कहानी ; श्वान और इंसान के बीच अनोखा रिश्ता समझाएगा ये फिल्म ; देखिए ट्रेलर

देश-विदेश7 days ago

वायरल वीडियो : अयोध्या के सरयू नदी में स्नान के दौरान पत्नी को किस करना पड़ा भारी, गुस्साए लोगों ने पति को खूब पीटा 

देश-विदेश2 weeks ago

दिल्ली में कांग्रेस के बड़े नेताओं के साथ CM भूपेश और MLA विकास भी गिरफ्तार ; ट्वीट कर कहा-हम सब याद रखेंगे ; देखिए वीडियो

राजनीति1 month ago

कर्नाटक मे प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान किसान नेता राकेश टिकैत पर फेंकी गई स्याही ; ‘यह साजिश थी, जांच होनी चाहिए’

IPL1 month ago

IPL 2022 Final : गुजरात टाइटंस ने डेब्यू सीजन में रचा इतिहास, राजस्थान रॉयल्स को 7 विकेट से हराकर जीता टाइटल

Top 10 News

Must Read

Special News2 days ago

777 Charlie Review : कलयुग के ‘धर्मराज’ की रुला देने वाली कहानी ; श्वान और इंसान के बीच अनोखा रिश्ता समझाएगा ये फिल्म ; देखिए ट्रेलर

Entertainment Desk : जानवरों और इंसानों के रिश्तों पर फिल्में बनाने में दक्षिण भारतीय फिल्म कंपनी देवर फिल्म्स का बोलबाला...

Special News4 days ago

छत्तीसगढ़ : दुर्ग में DIAL 112 में गूंजी किलकारी ; वाहन में महिला ने बच्चे को दिया जन्म ; जच्चा बच्चा दोनों स्वस्थ

दुर्ग  : छत्तीसगढ़ पुलिस की DIAL 112 सेवा ने फिर एक बार पीड़ित की जान बचाई हैं। जामुल निवासी महिला...

Special News5 days ago

CG : स्वस्थ हुआ राहुल, जांजगीर-चांपा के कलेक्टर और SP खुद लेने पहुंचे बिलासपुर ; 100 घंटे से ज्यादा 60 फीट गहरे बोरवेल में फंसा था बच्चा

बिलासपुर, जांजगीर-चांपा : छत्तीसगढ़ के जांजगीर-चांपा जिले के पिहरीद गांव में 100 घंटे से ज्यादा 60 फीट गहरे बोरवेल के...

Special News6 days ago

रायगढ़ में खुलेगा संगीत एवं नृत्य महाविद्यालय ; छत्तीसगढ़ संस्कृति परिषद के 127 आयोजनों के लिए 4.93 करोड़ रूपए स्वीकृत

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी पर केन्द्रित सभी संभागीय मुख्यालयों में आयोजित होंगे कार्यक्रम मुख्यमंत्री ने कहा- घर-घर में शिल्प कलाओं की...

Special News6 days ago

छत्तीसगढ़ राज्य का भुइयां कार्यक्रम को राष्ट्रीय स्तर पर मिला पुरस्कार : प्रतिष्ठित IMC डिजिटल अवार्ड्स 2021 से किया गया सम्मानित

रायपुर : छत्तीसगढ़ में संचालित भुइयां कार्यक्रम को राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कार मिला है। छत्तीसगढ़ में कार्यालय आयुक्त भू-अभिलेख द्वारा...

Advertisement
Advertisement

Trending