Wednesday, April 17, 2024

क्या है ऑपरेशन कावेरी, सूडान में फंसे भारतीयों को वापस लाने की क्या है तैयारी? जानिए हर सवाल का जवाब

Operation Kaveri: भारत सरकार जल्द से जल्द सूडान में फंसे भारतीयों को वापस लाने की तैयारी कर रही है. इसके लिए आज ऑपरेशन कावेरी लॉन्च किया गया है. जानिए इस ऑपरेशन के बारे में सब कुछ.

Operation Kaveri: पिछले 10 दिनों से अफ्रीकी देश सूडान हिंसा की आग में जल रहा है. वहां भारत 3000 से ज्यादा लोग फंसे हुए हैं. आज भारत सरकार ने सूडान से अपने नागरिकों को निकालने के लिए ‘ऑपरेशन कावेरी’ शुरू किया है. इस ऑपरेशन के तहत 500 भारतीय सूडान के पोर्ट पहुंच गए हैं और बाकियों को भी सुरक्षित स्थान पर लाने की तैयारी की जा रही है, ताकि वहां से उन्हें जल्द से जल्द सुरक्षित भारत लाया जा सके. आज विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ट्वीट कर ऑपरेशन कावेरी के बारे में जानकारी दी. जानिए ऑपरेशन कावेरी क्या है. भारत सरकार ने इस ऑपरेशन को कावेरी नाम क्यों दिया और सूडान में इस ऑपरेशन को कैसे सफल बनाने की कोशिश हो रही है.

‘ऑपरेशन कावेरी’ क्या है?

अफगानिस्तान पर तालिबान का कब्जा होने के बाद भारत ने वहां फंसे अपने नागरिकों को बचाने के लिए ‘ऑपरेशन देवी शक्ति’ चलाया. इसके बाद यूक्रेन पर रूस के हमलों के बाद यूक्रेन में फंसे नागरिकों को निकालने के लिए भारत ने ‘ऑपेरशन गंगा’ चलाया. अब भारत सूडान में फंसे अपने नागरिकों को वापस ला रही है. इसलिए इस प्रक्रिया को ‘ऑपरेशन कावेरी’ का नाम दिया गया है. इस ऑपरेशन को समुद्री मार्ग से चलाया जा रहा है.

किसकी निगरानी में चल रहा है ऑपरेशन कावेरी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने केरल के कोच्चि में एक जनसभा को संबोधित करते हुए बताया कि सूडान में फंसे भारतीयों को वापस लाने के लिए सरकार ने ऑपरेशन कावेरी शुरू किया है. जिसकी निगरानी केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन कर रहे हैं. दिलचस्प बात यह है कि वी मुरलीधरन केरल के ही रहने वाले हैं.

कैसी है भारत सरकार की तैयारी?

भारत ने सूडान से अपने नागरिकों को निकालने के लिए कई दिन पहले ही तैयारी शुरू कर दी थी. खुद पीएम मोदी ने इस मामले को लेकर उच्चस्तरीय बैठक की अध्यक्षता की थी. फंसे हुए लोगों को वापस लाने की योजना के तहत भारत ने इंडियन एयर फोर्स के दो C-130J विमानों को सऊदी अरब के शहर जेद्दाह में स्टैंडबाय पर रखा है. वहीं, आईएनएस सुमेधा को सूडान के एक प्रमुख बंदरगाह पर तैनात किया है. फंसे भारतीयों को पहले जेद्दाह लाया जाएगा और वहां से विमान से उनकी भारत में लैंडिंग कराई जाएगी.

सूडान के ताजा हालात कैसे हैं?

सूडान में सिविल वॉर चल रहा है, ऐसे में दोनों ओर से भारी गोलीबारी-बमबारी हो रही है. लोगों को गोली मारी जा रही है. कुछ दिन पहले गोलीबारी में एक भारतीय की भी मौत हो गई थी. देश के हालात इतने बिगड़े हुए हैं कि एयर स्पेस को बंद कर दिया गया है. कई एयरपोर्ट और विमान क्षतिग्रस्त हो गए हैं. लाखों लोग घरों में बंद हैं, क्योंकि लड़ाके सड़कों पर लूटपाट की घटनाओं को भी अंजाम दे रहे हैं.

अबतक वहां 413 लोगों मारे जा चुके हैं, जिनमें 250 से ज्यादा आम नागरिक हैं. हिंसा में तीन हजार से ज्यादा लोग घायल हुए हैं. घायलों का इलाज भी नहीं हो पा रहा है कि क्योंकि बड़ी संख्या में अस्पताल भी तबाह हो गए हैं.

इमरजेंसी सिचुएशन के लिए भी भारत सरकार तैयार

बता दें कि विदेश मंत्रालय ने कल जानकारी दी थी कि जेद्दाह में पहले ही इंडियन एयर फोर्स के दो विमान और सूडान के पोर्ट पर आईएनएस सुमेधा की तैनाती कर दी गई थी. सूडान से भारतीयों को निकालने के लिए अगर किसी इमरजेंसी सिचुएशन का भी सामना करना पड़ा तो भारत सरकार उसके लिए भी तैयार है, क्योंकि प्लानिंग पहले ही बना ली गई है.

फ्रांस ने कल रात भारत समेत 388 लोगों को बाहर निकाला

गौरतलब है कि कल देर रात फ्रांस ने अपने और भारत के नागरिकों समेत करीब 28 देशों के 388 लोगों को सूडान से बाहर निकाला है. फ्रांस के दूतावास ने ट्विटर के जरिए यह जानकारी दी. फ्रांस ने नागरिकों को निकालने के लिए हवाई रास्ते का इस्तेमाल किया था. हालांकि फ्रांस ने भारत के कितने नागरिकों को बाहर निकाला है, इसकी कोई जानकारी सामने नहीं आई है.

 

spot_img

AAJ TAK LIVE

ABP LIVE

ZEE NEWS LIVE

अन्य खबरे
Advertisements
यह भी पढ़े
Live Scores
Rashifal
Panchang