Connect with us

Uncategorized

भारत की वैक्सीन डिप्लोमेसी जीत रही दिल, अब WHO चीफ ने की तारीफ

Published

on

Share This Now :

National Desk : कहते हैं मुसबीत की घड़ी में जो आपका साथ दे वह सच्चा दोस्त होता है। भारत कोरोना महामारी के इस दौर में अपने पड़ोसियों के लिए इसी सच्चे दोस्त की भूमिका निभा रहा है। आबादी के लिहाज से दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा देश होने के बावजूद भारत लगातार अपने जरूरतमंद पड़ोसियों को कोरोना वैक्सीन भेज रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे ‘वैक्सीन मैत्री’ का नाम दिया था। भारत की इस दरियादिली की दुनियाभर में तारीफ हो रही है। अब खुद विश्व स्वास्थ्य संगठन के चीफ ट्रेड्रोस अधानोम भारत के कायल हो गए हैं और उन्होंने पीएम मोदी को शुक्रिया भी कहा है।

RO-NO-12027/80

RO-NO-12027/80
RO-NO-12027/80
RO-NO-12027/80

डब्ल्यूएचओ चीफ ने अपने ट्वीट में लिखा है, ‘ग्लोबल कोविड-19 रिस्पॉन्स को लगातार समर्थन देने के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शुक्रिया। मिलकर काम करने, ज्ञान साझा करने से ही हम इस वायरस को रोक सकते हैं और जिंदगियां बचा सकते हैं।’

इससे पहले ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो ने भी वैक्सीन की पहली खेप मिलने के बाद भारत का शुक्रिया अदा किया था और संजीवनी बूटी ले जाने वाले भगवान हनुमान से तुलना की थी। उन्होंने कहा था कि भारत से वैक्सीन पाकर ब्राजील सम्मानित महसूस कर रहा है।

बांग्लादेश भी कह चुका है शुक्रिया

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने भी ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका के कोविड-19 टीकों की 20 लाख खुराक भेजने के लिए पीएम मोदी का शुक्रिया अदा किया था। हसीना ने ट्वीट किया, ‘मैं प्रधानमंत्री मोदी को उपहार के रूप में वैक्सीन भेजने के लिए धन्यवाद देती हूं, मुझे उम्मीद है कि बांग्लादेश को कोविड-19 महामारी से छुटकारा मिलेगा।

दुनिया के 92 देशों को चाहिए भारत की वैक्सीन

भारत को वैक्सीन का हब माना जाता है। खबरों के मुताबिक, दुनिया के 92 देशों ने मेड इन इंडिया वैक्सीन के लिए भारत से संपर्क किया है। भारत में 16 जनवरी से टीकाकरण अभियान शुरू हुआ था लेकिन बिना देरी किए भारत ने अपने पड़ोसी मुल्कों को भी वैक्सीन की आपूर्ति की। दरअसल, भारत में इस्तेमाल हो रही वैक्सीन के साइड इफेक्ट लगभग न के बराबर है। डोमिनिकन रिपब्लिक के प्रधानमंत्री रूजवेल्ट स्केरिट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर कोरोना वैक्सीन भेजने का अनुरोध किया है। बोलीविया की सरकार ने 50 लाख डोज कोरोना वैक्सीन के लिए सीरम इंस्टीट्यूट के साथ करार किया है।

नेबरहुड फर्स्ट की नीति का पालन कर रहा भारत

महामारी के वक्त भारत ने नेबरहुड फर्स्ट की नीति अपनाते हुए सबसे पहले भूटान और मालदीव को वैक्सीन भेजी थी। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने शुक्रवार को बताया कि भारत अपने पड़ोसी देशों को प्राथमिकता देते हुए उन्हें सहायता के तौर पर कोरोना वैक्सीन उपलब्ध करा रहा है। भारत ने इस अभियान की शुरुआत 20 जनवरी को ही कर दी थी जिसके तहत पहले दिन भूटान को कोरोना वैक्सीन की 1.5 लाख खुराक, जबकि मालदीव को एक लाख खुराक उपलब्ध कराई गईं थी। इसके बाद गुरुवार को नेपाल को 10 लाख, जबकि बांगल्देश को 20 लाख कोरोना वैक्सीन की खेप भेजी जा चुकी है।

इस अभियान के तहत शुक्रवार को म्यांमार को 15 लाख, मॉरीशस को एक लाख और सेशल्स को कोरोना वैक्सीन की 50 हजार खुराक भेजी गई हैं। उन्होंने बताया कि श्रीलंका और अफगानिस्तान से नियामक संबंधी मंजूरी मिलने के बाद इन्हें भी कोरोना वैक्सीन की खेप भेजी जाएगी। इसके अलावा अनुबंध के तहत सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील, मोरक्को, बंगलादेश और म्यांमार को भी कोरोना वैक्सीन की खेप भेजने पर काम किया जा रहा है।

वैक्सीन से पहले भी ऐसे की थी मदद

कोरोना महामारी के दौरान भारत ने बीते साल बड़ी मात्रा में कई देशों को हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन, रेमडेसिविर और पैरासिटामॉल जैसी दवाइयां भेजी थीं। इसके अलावा डायग्नोस्टिक किट, वेंटिलेटर, मास्क, दस्ताने और अन्य मेडिकल सामान की आपूर्ति भी की गई थी।

Share This Now :
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Uncategorized

01 जून 2021 के मुख्य ख़बर ; पढ़िए

Published

on

Share This Now :

National Desk : आइए पढ़े 01 जून 2021 के कुछ मुख्य समाचार।

RO-NO-12027/80

RO-NO-12027/80
RO-NO-12027/80
RO-NO-12027/80

1.


2.


3.


4.


5.

Share This Now :
Continue Reading

Uncategorized

सीएम भूपेश ने कांकेर में 342 करोड़ के विकास कार्यों का किया लोकार्पण-शिलान्यास

Published

on

Share This Now :

रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज कांकेर के गोविंदपुर में आयोजित आमसभा में 342 करोड़ रूपये के विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास किया। उन्होंने 94 करोड़ रूपये के लागत के 95 विकास कार्यों का लोकार्पण तथा 248 करोड़ रूपये के 74 विकास कार्यों का भूमिपूजन किया। इस अवसर पर वन मंत्री मोहम्मद अकबर, उद्योग मंत्री कवासी लखमा, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं कांकेर जिले के प्रभारी मंत्री गुरू रुद्रकुमार, विधानसभा उपाध्यक्ष मनोज मंडावी, संसदीय सचिव शिशुपाल शोरी, विधायक मोहन मरकाम और अनूप नाग, मुख्यमंत्री के सलाहकार राजेश तिवारी सहित अनेक जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे।

RO-NO-12027/80

RO-NO-12027/80
RO-NO-12027/80
RO-NO-12027/80

मुख्यमंत्री बघेल ने जिन कार्यो का लोकार्पण किया, उनमें मुख्य रूप से उन्होंने कांकेर, सरोना, चंवाड़,बांसला, कोदागांव जनजाति विद्यार्थियों की सुविधा के लिए 21 करोड़ 14 लाख रूपए की लागत से छात्रावास भवन, तीन करोड़ 48 लाख रूपये की लागत से निर्मित लाईवलीहुड कॉलेज भवन, 9 करोड़ 78 लाख रूपए की लागत से 5 सड़कों, एक करोड़ 54 लाख रूपये सेे 08 एम्बुलेंस और पखांजूर में 05 करोड़ 88 लाख रूपये की लागत से निर्मित 50 बिस्तर एम.सी.एच. विंग निर्माण, ग्राम मनकेशरी, आंवरी और कलगांव में 92 लाख रूपए की लागत से नलजल प्रदाय योजना एवं अन्य कार्यों, 3 करोड़ 72 लाख रूपए की लागत से पूर्व एवं पश्चिम भानुप्रतापुर वन मण्डल के अंतर्गत 7 वन धन केन्द्र 42 नग वर्कशेड और एक सामुदायिक भवन, सिंगारभाठा में लगभग 3 करोड़ रूपए की लागत से कृषि महाविद्यालय बालक छात्रावास भवन और कृषक छात्रावास भवन, कांकेर में 54 लाख रूपये की लागत से किशोर न्याय बोर्ड एवं बालक कल्याण समिति भवन।

नरहरपुर, कोयलीबेड़ा, भानुप्रतापपुर और दुर्गूकोंदल में 9 करोड़ 80 लाख रूपए की लागत से 88 नग आवासीय भवन, ग्राम अभनपुर और कोटतरा मेेें 95-95 लाख रूपये की लागत से निर्मित बालक उच्चतर माध्यमिक शाला भवन, लाईवलीहुड कॉलेज कांकेर में एक करोड़ 28 लाख रूपये की लागत से निर्मित 50 सीटर कन्या छात्रावास, अंतागढ़ में एक करोड़ 14 लाख रूपये की लागत से निर्मित ट्रांजिस्ट हॉस्टल भवन, चार करोड़ 87 लाख रूपये की लागत से जीरमतराई नाला और घोड़ाझार नाला पर छह करोड़ आठ लाख रूपये की लागत से निर्मित उच्चस्तरीय पुल, पीढ़ापाल से मुरागांव मार्ग में एक करोड़ 47 लाख रूपये की लागत से बनाये गये वृहद पुल, पीढ़ापाल से मुरागांव मार्ग पर दो करोड़ 57 लाख रूपये और पीढ़ापाल से मुरागांव मार्ग पर एक करोड़ 95 लाख रूपये की लागत से निर्मित वृहद पुल, 2 करोड़ 29 लाख रूपए की लागत से विभिन्न स्थानों पर 29 नग सोलर हाई मास्क लाइट और

रेलवे ओवर ब्रिज भानुप्रतापपुर मेें सोलर संयत्र के माध्यम से स्ट्रीट लाईट के कार्य शामिल हैं।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जिन कार्यो का शिलान्यास किया उनमें मुख्य रूप से विभिन्न स्थानों में आवागमन सुविधा के लिए 166 करोड़ 51 लाख रूपए की लागत से 32 सड़कों, 9 करोड़ 33 लाख रूपये की लागत से चारामा आवर्धन जल प्रदाय योजना, नगर पंचायत पखांजूर में 17 करोड़ 06 लाख रूपये की लागत से जल आवर्धन योजना और 19 लाख रूपये की लागत से गौठान निर्माण, 13 करोड़ 22 लाख रूपये की लागत से कोरेनार नाला में उच्चस्तरीय पुल निर्माण, दुर्गूकोंदल अंतर्गत 01 करोड़ रूपये की लागत से ट्रॉंजिट हास्टल , 01 करोड़ 17 लाख रूपये से नगर पालिका क्षेत्र कांकेर के शीतला तालाब सौंदर्यीकरण कार्य, 91 लाख रूपए की लागत से चार स्थानों में पहंुच मार्ग निर्माण , गोडरी, सरण्डी और बड़गांव में 30-30 लाख रूपये की लागत से उप स्वास्थ्य केन्द्र भवन निर्माण, 4 करोड़ 86 लाख रूपए की लागत से विभिन्न स्थानों में सोलर ड्यूल पंप की स्थापना शामिल हैं।

इसी प्रकार उन्होंने 16 करोड़ 50 लाख रूपये की लागत से कांकेर में सीवरेज उपचार संयंत्र की स्थापना और कोयलीबेड़ा में 02 करोड़ 50 लाख रूपये की लागत से सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भवन,6 करोड़ 91 लाख रूपए की लागत से नहर निर्माण एवं जीर्णाेद्धार, 5 करोड़ 70 लाख रूपए की लागत के 02 रिटेनिंग वाल , 02 करोड़ 92 लाख रूपये की लागत से रेंगाटोला मदले एवं मुंगुरपारा मदले में स्टाप डेम एवं पुलिया निर्माण , 02 करोड़ 94 लाख रूपये के दमकसा एनीकट कम काजवे निर्माण, वन परिक्षेत्र अंतागढ़ अंतर्गत 22 लाख रूपये की लागत से विभिन्न निर्माण कार्य, 06 नालों में 05 करोड़ 49 लाख रूपये की लागत से नरवा विकास कार्य का भूमिपूजन किया।

Share This Now :
Continue Reading

Uncategorized

कोदो-कुटकी का भी समर्थन मूल्य जल्द होगा घोषित, सीएम बोले-ज्यादा मुनाफे के लिए अनाज और वनोपज का प्रसंस्करण जरुरी

Published

on

Share This Now :

रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार जल्दी ही कोदो और कुटकी का भी समर्थन मूल्य घोषित करेगी। इससे इन लघु धान्य फसलों के उत्पादक किसानों को उनकी मेहनत की सही कीमत मिल सकेगी। मुख्यमंत्री ने आज कांकेर कृषि विज्ञान केन्द्र परिसर में स्वसहायता समूहों की महिलाओं और किसानों को संबोधित करते हुए लघु धान्य फसलों और विभिन्न वनोपजों का प्रसंस्करण कर उनकी बिक्री पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि इन उत्पादों का मूल्य संवर्धन कर अच्छी पैकेजिंग, मार्केटिंग और प्रचार-प्रसार किया जाना चाहिए। इससे किसानों और वनवासियों को इन उत्पादों की अच्छी कीमत मिलेगी और उन्हें ज्यादा मुनाफा होगा।

RO-NO-12027/80

RO-NO-12027/80
RO-NO-12027/80
RO-NO-12027/80

कार्यक्रम में कृषि मंत्री रवीन्द्र चौबे, उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री कवासी लखमा, ग्रामोद्योग एवं जिले के प्रभारी मंत्री गुरू रूद्र कुमार, विधानसभा के उपाध्यक्ष मनोज मण्डावी, संसदीय सचिव शिशुपाल शोरी, मुख्यमंत्री के संसदीय सलाहकार राजेश तिवारी, राज्यसभा सांसद मती फूलोदेवी नेताम और विधायकगण सर्व मोहन मरकाम और अनूप नाग भी शामिल हुये।

मुख्यमंत्री बघेल ने आज अपने दो दिवसीय कांकेर प्रवास के पहले दिन कृषि विज्ञान परिसर में लघु धान्य प्रसंस्करण इकाई, कृषक छात्रावास और बालक छात्रावास का लोकार्पण किया। उन्होंने लघु धान्य प्रसंस्करण इकाई और लाख प्रसंस्करण इकाई का अवलोकन भी किया। करीब दो करोड़ 42 लाख रूपये की लागत से कृषि महाविद्यालय और अनुसंधान केन्द्र में अध्ययनरत छात्रों के लिए बालक छात्रावास एवं कृषि विज्ञान केन्द्र में प्रशिक्षण के लिए आने वाले किसानों के लिए 63 लाख रूपये की लागत से कृषक छात्रावास का निर्माण तथा 16 लाख रूपये की लागत से लघु धान्य (कोदो) प्रसंस्करण इकाई स्थापित की गई है। मुख्यमंत्री ने किसान विकास समिति घोटुलमुड़ा की महिलाओं को लघु धान्य प्रसंस्करण कार्य का चेक प्रदान करने के साथ ही कोदो प्रसंस्करण मशीन प्रदान करने की घोषणा की। मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के तहत् स्वसहायता समूहों को रागी एवं कोदो-कुटकी के वितरण के लिए मुख्यमंत्री ने कृषि विज्ञान केन्द्र परिसर से वाहन को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। उन्होंने विभिन्न कृषि विज्ञान केन्द्रों द्वारा प्रसंस्कृत कोदो चांवल, कुटकी चांवल, रागी माल्ट, मल्टीग्रेन आटा तथा इन केन्द्रों द्वारा उत्पादित जैविक सब्जियों एवं कांदा के स्टॉल का अवलोकन किया।

मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में स्वसहायता समूहों की महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में धान, गन्ना, मक्का, तिली, सरसों, कोदो-कुटकी, तिखूर, ईमली, चिरौंजी और महुआ जैसे उत्पादों के साथ ही अनेक वनौषधियों का भी उत्पादन होता है। इन वनोपजों और वनौषधियों का प्रसंस्करण और मूल्य संवर्धन कर स्थानीय लोग अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं। इससे रोजगार मिलने के साथ ही अच्छा मुनाफा भी होता है। उन्होंने कहा कि राज्य शासन अब 52 तरह के वनोपजों की खरीदी कर रही है। इससे भी वनवासियों को आर्थिक लाभ हो रहा है। बस्तर की वन संपदा का स्थानीय लोगों के हित में बेहतर उपयोग होना चाहिये। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वसहायता समूहों को प्रशिक्षण देकर अच्छी गुणवत्ता का अमचूर निर्माण और ज्यादा चिरौंजी संकलन किया जा सकता है।

कृषि एवं जल संसाधन मंत्री रवीन्द्र चौबे ने कहा कि कांकेर कृषि विज्ञान केन्द्र द्वारा किये जा रहे अच्छे कार्यों का पूरे प्रदेश में विस्तार किया जायेगा। कांकेर कृषि उत्पादन एवं वन उत्पादों के संग्रहण में अग्रणी जिला बन रहा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के सुझाव के अनुरूप जल संसाधन विभाग बस्तर की सभी नदियांे का संरक्षण कर सिंचाई परियोजना विकसित करने पर काम करेगी। प्रदेश में इस साल धान के उत्पादन में अच्छी वृद्धि हुई है। कई व्यवधानों के बावजूद इस साल सरकार ने अब तक 90 लाख मीटरिक टन धान की खरीदी की है। किसानों और गांवों की मजबूती के लिए राज्य सरकार लगातार काम कर रही है। कार्यक्रम में इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. एस.के. पाटिल, कृषि उत्पादन आयुक्त डॉ. एम. गीता, कृषि विभाग के सचिव अमृत खलखो, कलेक्टर चन्दन कुमार, कांकेर कृषि विज्ञान केन्द्र के प्रमुख वैज्ञानिक डॉ. बीरबल साहू तथा लघु धान्य व लाख प्रसंस्करण इकाई के प्रभारी अधिकारी नरेन्द्र तायडे भी मौजूद थे।

मुख्यमंत्री ने रागी से बने केक का लिया स्वाद

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विभिन्न कृषि विज्ञान केन्द्रों द्वारा लगाये गये स्टॉलों के अवलोकन के दौरान बस्तर कृषि विज्ञान केन्द्र द्वारा रागी माल्ट पावडर से बनाये गये केक को काटकर ग्रामोद्योग मंत्री गुरू रूद्र कुमार, संसदीय सचिव शिशुपाल शोरी और विधायक मोहन मरकाम को अपने हाथों से खिलाया। उन्होंने स्वयं भी इसका स्वाद लिया। उन्होंने केक को काफी स्वादिष्ट और पौष्टिक बताया।

खुमरी पहनाकर मुख्यमंत्री का स्वागत

मुख्यमंत्री बघेल के कृषि विज्ञान केन्द्र पहुंचने पर स्थानीय आदिवासियों ने मांदरी नृत्य के साथ उनका स्वागत किया। कार्यक्रम के दौरान खुमरी पहनाकर उनका सम्मान किया गया। कांकेर गढ़कलेवा द्वारा निर्मित विभिन्न छत्तीसगढ़ी व्यंजनों के साथ ही अनेक स्वसहायता समूहों ने अपने द्वारा निर्मित महुआ लड्डू, धान के झालर और हर्बल उत्पाद मुख्यमंत्री को भेंट किये।

Share This Now :
Continue Reading

R.O No. 12027/80

Advertisment

Advertisement

Advertisement

Advertisement Sahni Amritsari Kulche

Chhattisgarh Trending News

राज्य एवं शहर7 hours ago

छत्तीसगढ़ : अंतर्राष्ट्रीय जैव विविधता दिवस पर CM बघेल ने ‘परिचर्चा एवं पुरस्कार वितरण’ कार्यक्रम को सम्बोधित किया 

रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि छत्तीसगढ़ की जैव विविधता छत्तीसगढ़ का गौरव है। मुख्यमंत्री आज यहां...

क्राइम7 hours ago

CG : राजनांदगांव में चाय के दाम को लेकर जमकर उपद्रव, 200 से ज्यादा लोगों ने ढाबे पर किया तोड़फोड़, कर्मचारी भागे ; फोर्स तैनात

राजनांदगांव : छत्तीसगढ़ के संस्कारधानी कहे जाने वाली राजनांदगांव जिले में रविवार सुबह जमकर बवाल हुआ। उपद्रवियों ने एक ढाबे...

राज्य एवं शहर8 hours ago

छत्तीसगढ़ : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बालोद के महिला महाविद्यालय का नामकरण भक्त माता कर्मा के नाम करने की घोषणा की

बालोद : प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सोमवार जिला मुख्यालय बालोद में आयोजित जिला स्तरीय कर्मा महोत्सव एवं भूमिपूजन समारोह...

CORONA VIRUS10 hours ago

छत्तीसगढ़ के 3 जिलों में कुल 9 नए कोरोना मरीज़ मिले, एक्टिव केस बढ़कर हुए 44 ; 16 जिले संक्रमण फ्री : देखिए

रायपुर : छत्तीसगढ़ मे आज कोरोना के 9 नए मरीज़ मिले हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी मेडिकल बुलेटिन के अनुसार...

Special News18 hours ago

CG : कांकेर वनमण्डल ने दस हजार ग्रीन हैंड प्रिंट लेकर बनाया लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड ; वन विभाग के प्रयास की हो रहीं हैं सराहना

कांकेर : छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में प्रकृति को बचाने के लिए कांकेर वन मंडल ने एक अनोखे आयोजन किया।...

Advertisement

CONNECT WITH US :

राज्य एवं शहर7 hours ago

छत्तीसगढ़ : अंतर्राष्ट्रीय जैव विविधता दिवस पर CM बघेल ने ‘परिचर्चा एवं पुरस्कार वितरण’ कार्यक्रम को सम्बोधित किया 

क्राइम7 hours ago

CG : राजनांदगांव में चाय के दाम को लेकर जमकर उपद्रव, 200 से ज्यादा लोगों ने ढाबे पर किया तोड़फोड़, कर्मचारी भागे ; फोर्स तैनात

राज्य एवं शहर8 hours ago

छत्तीसगढ़ : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बालोद के महिला महाविद्यालय का नामकरण भक्त माता कर्मा के नाम करने की घोषणा की

CORONA VIRUS10 hours ago

छत्तीसगढ़ के 3 जिलों में कुल 9 नए कोरोना मरीज़ मिले, एक्टिव केस बढ़कर हुए 44 ; 16 जिले संक्रमण फ्री : देखिए

खेल15 hours ago

SA के खिलाफ T20 के लिए टीम इंडिया का ऐलान, राहुल होंगे कप्तान, दिनेश और उमरान की एंट्री ; ENG के खिलाफ टेस्ट के लिए भी टीम घोषित, पुजारा की वापसी

आस्था7 days ago

वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे में जिस जगह पर शिवलिंग मिला उसे तुरंत सील करने का कोर्ट ने दिया आदेश ; वजू पर पाबंदी

क्राइम6 days ago

छत्तीसगढ़ : रायपुर में ​​​​​​​अनाज कारोबारी से 50 लाख की लूट ; डूमरतराई में 9 बाइक सवारों ने घेरकर पीटा ; फिर बैग लेकर हुए फरार

Special News4 days ago

CG : कभी नक्सली कमांडर रहे मड़कम मुदराज ने CM को सुनाई आपबीती…कहा आत्मग्लानि में किया सरेंडर, आज हूं इंस्पेक्टर : देखिए वीडियो

क्राइम5 days ago

CG : मीना खलखो हत्याकांड में 3 पुलिसकर्मी बरी, बलरामपुर में नक्सली बताकर युवती की हुई थी हत्या ; 11 साल बाद कोर्ट का फैसला

राजनीति7 days ago

छत्तीसगढ़ में भाजपा का जेल भरो आंदोलन जारी, रायपुर में बृजमोहन अग्रवाल सहित 2000 कार्यकर्ता गिरफ्तार ; अन्य जिलों में भी जारी है प्रदर्शन

क्राइम2 days ago

छत्तीसगढ़ के चित्रकोट फॉल से कूद कर युवती ने किया सुसाइड, पानी की लहर में हो गई गुम ; दर्दनाक वीडियो वायरल

Special News4 days ago

छत्तीसगढ़ : जब मंटूराम ने मुख्यमंत्री को बताया कि पत्नी संग रातभर करता हूं गोबर की चौकीदारी

राज्य एवं शहर4 days ago

CG : सुकमा में CM भूपेश के भेंट-मुलाकात 2.0 का पहला दिन : तोंगपाल होगा पूर्ण तहसील, स्वास्थ्य सुविधाओं का विस्तार, खेल मैदान निर्माण ; देखिए झलकियां और घोषणाएं

आस्था6 days ago

वाराणसी : ज्ञानवापी के वजूखाने का पुराना वीडियो वायरल, देखें आपको शिवलिंग लगता है या फव्वारा ?

आस्था7 days ago

Video : बुद्ध पूर्णिमा के दिन लगा साल का पहला चंद्र ग्रहण, अर्जेंटीना में दिखा अलग नजारा ; ग्रहण के बारे में जानिए हर एक डिटेल और पढ़ें 10 जरूरी बातें

Top 10 News

Must Read

Special News2 days ago

CG : पिता को नक्सलियों ने गांव से भगाया, बेटे ने जीता राष्ट्रीय मल्लखंभ प्रतियोगिता ; गिनीज बुक आफ रिकार्ड के नामांकन राशि के लिए CM बघेल ने दिए निर्देश

अबूझमाड़ से निकलकर 12 साल के राकेश ने जीती राष्ट्रीय मल्लखंभ प्रतियोगिता इंडिया बुक आफ रिकार्ड में शामिल हुआ नाम...

Special News4 days ago

छत्तीसगढ़ : जब मंटूराम ने मुख्यमंत्री को बताया कि पत्नी संग रातभर करता हूं गोबर की चौकीदारी

मैं और मेरी पत्नी रातभर दो शिफ्ट में टॉर्च लेकर रखते हैं गोबर पर नजर : मंटूराम गोधन न्याय योजना...

Special News4 days ago

CG : कभी नक्सली कमांडर रहे मड़कम मुदराज ने CM को सुनाई आपबीती…कहा आत्मग्लानि में किया सरेंडर, आज हूं इंस्पेक्टर : देखिए वीडियो

मेरे बच्चे पढ़ रहे इंग्लिश मीडियम स्कूल में और जी रहे अच्छी लाइफ स्टाइल मड़कम के हाथों में हथियार अब...

Special News5 days ago

छत्तीसगढ़ सरकार के कृषि और आजीविका मॉडल को मिली सराहना ; श्रीनगर में आयोजित राष्ट्रीय सेमिनार में कृषि उत्पादन आयुक्त ने दिया प्रस्तुतीकरण

रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा राज्य में कृषि को समृद्ध और किसानों को खुशहाल...

Special News6 days ago

छत्तीसगढ़ : Dial 112 की टीम ने बचाई एक और जान : बिलासपुर में पंखे से फंदा लगाकर सुसाइड का प्रयास कर रहे युवक को पुलिस ने बचाया

बिलासपुर : छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में डायल 112 की टीम ने एक युवक की जान बचाई। सोमवार को फांसी लगाकर...

Advertisement
Advertisement

Trending