Connect with us

Special News

छत्तीसगढ़ : अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 8 मार्च को वैदेही मुस्कान सोशल वेलफेयर एसोसिएशन द्वारा समाज की विभिन महिला प्रतिभाओ का सम्मान

Published

on

Share This Now :

रायपुर : वह महिलाएं जिन्होंने कोविद-१९ जैसी विकट परिस्थिति का सामना न ही खुद किया बल्कि अपने पुरे परिवार को हौसला दिया और संभाला भी ऐसी ही 51 महिलाओं को हमारी संस्था वैदेही मुस्कान सोशल वेलफेयर एसोसिएशन ने आज 8 मार्च 2021 को सम्मान दिया।

RO-NO-12027/80

RO-NO-12027/80
RO-NO-12027/80
RO-NO-12027/80

इस महिला दिवस पर, यूँ तो कई कोरोना योद्धा सम्मान हुए लेकिन एक घरेलु महिला इस सम्मान से अछूती रह गयी।

इस अवसर पर हमारे बिच मुख्य अतिथि के रूप में कन्हैयालाल अग्रवाल, पल्लवी मनुदेव गौड़ा, मास्टर शेफ फेम  प्रतिभा , आशा दुबे, दलमीत सिंह मथारू, प्रियंका कैशल, सिंह मथारु , अजय आडवाणी , पदमा, सत्यभामा मिश्रा आदि उपस्थित रहे।

अपराजिता अवार्ड 2021 में सुषमा जी और लतिका जी को अपराजिता की उपाधि से नवाज़ा गया।

इस गौरवमयी अवसर पर संस्था की अध्यक्षा पायल नगरानी से विशेष चर्चा के द्वारा उन्होंने बताया कि भविष्य में समाज के हर वर्ग के जरूरतमंदों की मदद सेवा करते रहने का संकल्प किया और विशेष कर महिलाओं की उन्नति उत्थान, रोजगार उन्मुख एवं आर्थिक स्वालंबी बनाने की दिशा में युद्धस्तर पर कार्य करते रहने का उन्हीने आव्हान किया जिसके लिए उन्होंने सरकार की महत्व कांशी योजनाओ की सराहना भी की।

सम्मानित महिलाओ मैं विशेषकर दो महिलाये सुषमा बग्गा जिन्होंने अपने मजबूत हौसले को कायम रखते हुए व्हीलचेयर पर रहकर गवर्नमेंट स्कूल टीचर का निरंतर सेवा दे रही है।

इसी कड़ी में लतिका जी जिनका पूरा चेहरा जला हुआ है और उनके जीवन साथी को पोलियो है एवं उनका एक बेटा भी है वह महिला जीवन यापन के लिए ऐसे विकट परिस्थिति में भी दोनों पति पत्नी मिलकर किराना दुकान चलाते है जो कि समाज को आईना दिखाने के लिए बहुत बडी मिसाल है।

Share This Now :
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Special News

CG : पिता को नक्सलियों ने गांव से भगाया, बेटे ने जीता राष्ट्रीय मल्लखंभ प्रतियोगिता ; गिनीज बुक आफ रिकार्ड के नामांकन राशि के लिए CM बघेल ने दिए निर्देश

Published

on

Share This Now :

  • अबूझमाड़ से निकलकर 12 साल के राकेश ने जीती राष्ट्रीय मल्लखंभ प्रतियोगिता
  • इंडिया बुक आफ रिकार्ड में शामिल हुआ नाम
  • पहले और दूसरे दोनों स्थान पर अबूझमाड़ के खिलाड़ी

रायपुर : छत्तीसगढ़ के सुदूर गांव अबूझमाड़ के रहने वाले 12 साल के राकेश वर्दा को चार साल पहले अपने पिता के साथ ओरछा गांव छोड़ना पड़ा था. बेटे की खेल में रूचि को देखते हुए नक्सलियों ने पिता को धमकी दी ओर बेटे को खेलना बंद करने को कहा. ऐसा ना करने पर नक्सलियों ने राकेश के पिता को गांव छोड़ने को कहा. पिता ने बेटे की रुचि को प्राथमिकता दी और उसे कुतुलगरपा गांव ले आए. यहां 8 साल के राकेश वर्दा को छत्तीसगढ़ स्पेशल टास्क फोर्स में काम करने वाले मनोज प्रसाद मिले जो मल्लखंब के प्रशिक्षक हैं.

RO-NO-12027/80

RO-NO-12027/80
RO-NO-12027/80
RO-NO-12027/80

नई जगह में राकेश के जज्बे को एक नई रौशनी मिली और महज 12 वर्ष की उम्र में राकेश ने महाराष्ट्र के गोरेगांव में आयोजित राष्ट्रीय मल्लखंब हैंडस्टैंड प्रतियोगिता का खिताब अपने नाम कर लिया. राकेश ने 1 मिनट 6 सेकेंड तक हैंडस्टैंड करते हुए न सिर्फ विजेता का खिताब जीता बल्कि भारत और विश्व के लिए एक नया कीर्तिमान भी स्थापित कर दिया. इससे पहले भारत का बेस्ट रिकार्ड 30 सेकेंड का था.

मल्लखंभ हैंडस्टैंड प्रतियोगिता के लिए देश भर के 1000 खिलाड़ी शामिल हुए थे. खास बात ये है कि दूसरा स्थान भी अबूझमाड़ के रहने वाले 11 साल के राजेश कोर्राम ने प्राप्त किया. इस प्रदर्शन के साथ ही राकेश का नाम इंडिया बुक आफ रिकार्ड्स में दर्ज हो गया है. राकेश ने इस प्रदर्शन के लिए गिनीज बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड के लिए भी आवेदन किया है जिसे स्वीकार कर लिया गया है. लेकिन इस आवेदन के लिए जरूरी 80 हजार रूपए की फीस भर पाने में राकेश समर्थ नहीं है. राकेश की इस उपलब्धि के लिए मुख्यमंत्री ने हाथ मिलाकर उसे बधाई दी और गिनीज बुक आफ रिकार्ड्स के नामांकन में राकेश की मदद के लिए मुख्यमंत्री ने कलेक्टर नारायणपुर को निर्देश दिए.

राष्ट्रीय मल्लखंब हैंडस्टैंड प्रतियोगिता जीतने वाले राकेश वर्दा समेत छत्तीसगढ़ के 10 खिलाड़ियों का चयन हरियाणा में आयोजित होने वाले खेलो इंडिया प्रोग्राम के लिए किया गया है. अबूझमाड़ के जंगलों से निकलकर देश में पहचान बनाने वाले 12 साल के राकेश वर्दा के प्रदर्शन  से पूरा छत्तीसगढ़ गौरवांवित है.

Share This Now :
Continue Reading

Special News

छत्तीसगढ़ : जब मंटूराम ने मुख्यमंत्री को बताया कि पत्नी संग रातभर करता हूं गोबर की चौकीदारी

Published

on

Share This Now :

  • मैं और मेरी पत्नी रातभर दो शिफ्ट में टॉर्च लेकर रखते हैं गोबर पर नजर : मंटूराम
  • गोधन न्याय योजना में गोबर बेचकर मिले 28 हजार रुपये तो मकान कराया रिपेयर, अब नहीं टपकती छत

रायपुर : गोबर की चौकीदारी। जी हां, सुनने में अटपटा जरूर लगेगा लेकिन ये सच है । छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले के कुटरू में रहने वाले किसान मंटू राम कश्यप गोबर की चौकीदारी करते हैं , और ये बात मंटूराम ने स्वयं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को बतायी । मौका था बीजापुर जिले के कुटरू में आयोजित भेंट मुलाकात कार्यक्रम का।

RO-NO-12027/80

RO-NO-12027/80
RO-NO-12027/80
RO-NO-12027/80

मुख्यमंत्री को मंटूराम ने बताया कि मैं रात में टॉर्च लगा कर गोबर की चौकीदारी करता हूं , और इस काम मे मेरी पत्नी भी मेरा साथ देती हैं । उन्होंने बताया कि वे छत्तीसगढ़ सरकार की गोधन न्याय योजना के तहत गोबर बेचते हैं।

मंटूराम ने बताया कि अब तक उन्होंने लगभग 14 हजार किलो गोबर करीब 28 हजार रु में बेचा है । बकौल मंटूराम पहले गोबर को कोई नहीं पूछता था लेकिन अब हर किसी की नजर गोबर पर लगी रहती है । कुछ दिन पहले उनके इकठ्ठे किये गोबर को गांव के कुछ लोग उठा ले गए थे । इसके बाद उन्होंने तय किया कि पत्नी के साथ रात में गोबर की निगरानी करेंगे।

पत्नी के साथ शिफ्ट में चौकीदारी – मंटूराम गोबर की चौकीदारी रातभर करते हैं । उनके इस काम मे उनकी पत्नी भी साथ देती हैं । वे कहते हैं कि रातभर जागना संभव नहीं है । इसलिए वे और उनकी पत्नी दो शिफ्ट में गोबर की देखरेख करते हैं । रात में कुछ देर मैं फिर मेरी पत्नी टॉर्च लेकर गोबर की निगरानी करते हैं ।
आखिर क्यों पड़ी चौकीदारी की जरूरत- मंटूराम बताते हैं कि रात में टॉर्च लेकर वे कई बार देखने जाते हैं कि गोबर कोई ले तो नहीं गया । वे कहते हैं कि जब से गोबर की कीमत मिलने लगी है, तब से गोबर सहेजकर रखना पड़ता है । एक दिन इकठ्टा किया हुआ गोबर  कुछ लोग चुपचाप उठा ले गए । इसके बाद से गोबर की निगरानी करने लगा।

गोधन न्याय योजना से मिले रुपयों से रिपेयर कराया मकान – मंटुराम कश्यप ने बताया कि उनके पास 15 गाय- भैंसे हैं । अब तक गोधन न्याय योजना से गोबर बेचकर करीब 28 हजार रुपये मिले हैं । उन्होंने बताया कि उनके मकान से पानी टपकता था । जिसे बहुत दिन से रिपेयर कराना चाहते थे । गोबर बेचकर मिले पैसे से उन्होंने मकान रिपेयर करा लिया है । मकान में प्लास्टर भी करा लिया है । अब छत से पानी टपकने की समस्या भी खत्म हो गयी है ।

Share This Now :
Continue Reading

Special News

CG : कभी नक्सली कमांडर रहे मड़कम मुदराज ने CM को सुनाई आपबीती…कहा आत्मग्लानि में किया सरेंडर, आज हूं इंस्पेक्टर : देखिए वीडियो

Published

on

Share This Now :

  • मेरे बच्चे पढ़ रहे इंग्लिश मीडियम स्कूल में और जी रहे अच्छी लाइफ स्टाइल
  • मड़कम के हाथों में हथियार अब भी, लोगों की जान लेने नहीं बल्कि बचाने के लिए
  • मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इंस्पेक्टर मड़कम को अपने पास बुलाकर कंधे पर हाथ रखा और बजवायी ताली

सुकमा : कभी नक्सली संगठन में कमांडर रहे मड़कम मुदराज ने कोंटा में आयोजित भेंट-मुलाकात कार्यक्रम में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को आप बीती सुनाई और कहा कि मैं आपसे हाथ मिलाना चाहता हूं। इस पर मुख्यमंत्री ने बड़ी आत्मीयता से मड़कम के कंधे पर हाथ रखा और हाथ भी मिलाया।

RO-NO-12027/80

RO-NO-12027/80
RO-NO-12027/80
RO-NO-12027/80

मड़कम ने कहा- “मुख्यमंत्री जी आपने सड़क, कैम्प और स्कूलों को सुधारकर नक्सल प्रभावित इलाके की तस्वीर बदल दी है। अब यहाँ लोगों में नक्सलियों का खौफ नहीं बल्कि आगे बढ़ने की चाहत है। यहां के लोग सरकार की योजनाओं का लाभ भी उठा रहे हैं।” मुख्यमंत्री ने मड़कम के मुख्यधारा में लौटने पर सराहना की और उनके लिए ताली भी बजवायी। देखिए विडियो :

मड़कम के हाथों में बंदूक पहले भी थी और आज भी है। फर्क सिर्फ इतना है कि पहले खौफ ग्रामीणों में था और आज नक्सली इनके नाम से कांपते हैं। मड़कम ने बताया कि वे राह भटककर नक्सली संगठन में शामिल हो गए थे। लेकिन अपने ही भाई बन्धुओं का खून बहाने से आत्मग्लानि के चलते नींद नहीं आती थी। फिर एक दिन आत्मसमर्पण करने की ठान ली। आत्मसमर्पण के बाद एसपीओ बने। इसके बाद सिपाही, एएसआई, एसआई और अब डीआरजी में इन्स्पेक्टर हैं।

पत्नी को भी दी थी नक्सली ट्रेनिंग- मड़कम बताते हैं कि कभी उनकी पत्नी भी उनके साथ संगठन में थीं। मैं ही उसे ट्रेनिंग देता था लेकिन हम दोनों ने तय किया कि अब खून-खराबे की जिंदगी नहीं जीना है। जिनके खिलाफ हमने बन्दूक उठाई है वे हमारे ही भाई-बहन हैं। मुख्यधारा में लौटकर अच्छा जीवन जीना है।

आज बच्चे जी रहे अच्छी लाईफ स्टाइल-
मड़कम कहते हैं कि आज वे उच्च पद पर पहुँच गए हैं। सैलरी भी अच्छी है। इस कारण बच्चों को अच्छे से पढ़ा पा रहे हैं। मेरे तीनों बच्चे इंग्लिश मीडियम स्कूल में पढ़ रहे हैं और अच्छी लाइफ स्टाइल जी रहे हैं। अगर आज नक्सली संगठन में होता तो इन सब चीजों की कल्पना भी नहीं कर सकता था।

Share This Now :
Continue Reading

R.O No. 12027/80

Advertisment

Advertisement

Advertisement

Advertisement Sahni Amritsari Kulche

Chhattisgarh Trending News

CORONA VIRUS3 hours ago

छत्तीसगढ़ में आज कोरोना के 3 नए मामले मिले, 1 रिकवर ; एक्टिव केस 36 ; 16 जिले कोरोना फ्री ; 26 जिलों में कोई नया केस नहीं 

रायपुर : छत्तीसगढ़ मे आज कोरोना के 3 नए मरीज़ मिले हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी मेडिकल बुलेटिन के अनुसार...

राज्य एवं शहर18 hours ago

छत्तीसगढ़ : परसा कोल ब्लॉक के विरोध में सड़क पर उतरे ग्रामीण, NH 6 घंटे जाम, रेलवे ट्रैक पर बैठने से कोयला परिवहन भी ठप

रायपुर : छत्तीसगढ़ के हसदेव अरण्य क्षेत्र में राजस्थान को परसा कोल ब्लॉक आबंटन का विरोध तेज हो गया है।...

राज्य एवं शहर21 hours ago

छत्तीसगढ़ : मुख्यमंत्री भूपेश आज राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर गोधन न्याय योजना के तहत जारी करेंगे 13 करोड़ 31 लाख रूपए

गोधन न्याय योजना के तहत हो चुका है 237 करोड़ 11 लाख रूपए का भुगतान स्वावलंबी गौठान समितियों ने स्वयं...

Special News21 hours ago

CG : पिता को नक्सलियों ने गांव से भगाया, बेटे ने जीता राष्ट्रीय मल्लखंभ प्रतियोगिता ; गिनीज बुक आफ रिकार्ड के नामांकन राशि के लिए CM बघेल ने दिए निर्देश

अबूझमाड़ से निकलकर 12 साल के राकेश ने जीती राष्ट्रीय मल्लखंभ प्रतियोगिता इंडिया बुक आफ रिकार्ड में शामिल हुआ नाम...

क्राइम21 hours ago

छत्तीसगढ़ के चित्रकोट फॉल से कूद कर युवती ने किया सुसाइड, पानी की लहर में हो गई गुम ; दर्दनाक वीडियो वायरल

जगदलपुर : छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग के जगदलपुर के चित्रकोट जलप्रपात में एक युवती कूद गई। युवती कौन है, कहां...

Advertisement

CONNECT WITH US :

आस्था5 days ago

वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे में जिस जगह पर शिवलिंग मिला उसे तुरंत सील करने का कोर्ट ने दिया आदेश ; वजू पर पाबंदी

राज्य एवं शहर6 days ago

छत्तीसगढ़ : दुर्ग जिले में 20 थाना प्रभारियों का हुआ ट्रांसफर ; देखिए लिस्ट

क्राइम4 days ago

छत्तीसगढ़ : रायपुर में ​​​​​​​अनाज कारोबारी से 50 लाख की लूट ; डूमरतराई में 9 बाइक सवारों ने घेरकर पीटा ; फिर बैग लेकर हुए फरार

राजनीति5 days ago

छत्तीसगढ़ में भाजपा का जेल भरो आंदोलन जारी, रायपुर में बृजमोहन अग्रवाल सहित 2000 कार्यकर्ता गिरफ्तार ; अन्य जिलों में भी जारी है प्रदर्शन

क्राइम4 days ago

CG : मीना खलखो हत्याकांड में 3 पुलिसकर्मी बरी, बलरामपुर में नक्सली बताकर युवती की हुई थी हत्या ; 11 साल बाद कोर्ट का फैसला

क्राइम21 hours ago

छत्तीसगढ़ के चित्रकोट फॉल से कूद कर युवती ने किया सुसाइड, पानी की लहर में हो गई गुम ; दर्दनाक वीडियो वायरल

Special News2 days ago

छत्तीसगढ़ : जब मंटूराम ने मुख्यमंत्री को बताया कि पत्नी संग रातभर करता हूं गोबर की चौकीदारी

राज्य एवं शहर3 days ago

CG : सुकमा में CM भूपेश के भेंट-मुलाकात 2.0 का पहला दिन : तोंगपाल होगा पूर्ण तहसील, स्वास्थ्य सुविधाओं का विस्तार, खेल मैदान निर्माण ; देखिए झलकियां और घोषणाएं

आस्था4 days ago

वाराणसी : ज्ञानवापी के वजूखाने का पुराना वीडियो वायरल, देखें आपको शिवलिंग लगता है या फव्वारा ?

आस्था6 days ago

Video : बुद्ध पूर्णिमा के दिन लगा साल का पहला चंद्र ग्रहण, अर्जेंटीना में दिखा अलग नजारा ; ग्रहण के बारे में जानिए हर एक डिटेल और पढ़ें 10 जरूरी बातें

Top 10 News

Must Read

Special News2 days ago

छत्तीसगढ़ : जब मंटूराम ने मुख्यमंत्री को बताया कि पत्नी संग रातभर करता हूं गोबर की चौकीदारी

मैं और मेरी पत्नी रातभर दो शिफ्ट में टॉर्च लेकर रखते हैं गोबर पर नजर : मंटूराम गोधन न्याय योजना...

Special News3 days ago

CG : कभी नक्सली कमांडर रहे मड़कम मुदराज ने CM को सुनाई आपबीती…कहा आत्मग्लानि में किया सरेंडर, आज हूं इंस्पेक्टर : देखिए वीडियो

मेरे बच्चे पढ़ रहे इंग्लिश मीडियम स्कूल में और जी रहे अच्छी लाइफ स्टाइल मड़कम के हाथों में हथियार अब...

Special News4 days ago

छत्तीसगढ़ सरकार के कृषि और आजीविका मॉडल को मिली सराहना ; श्रीनगर में आयोजित राष्ट्रीय सेमिनार में कृषि उत्पादन आयुक्त ने दिया प्रस्तुतीकरण

रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा राज्य में कृषि को समृद्ध और किसानों को खुशहाल...

Special News5 days ago

छत्तीसगढ़ : Dial 112 की टीम ने बचाई एक और जान : बिलासपुर में पंखे से फंदा लगाकर सुसाइड का प्रयास कर रहे युवक को पुलिस ने बचाया

बिलासपुर : छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में डायल 112 की टीम ने एक युवक की जान बचाई। सोमवार को फांसी लगाकर...

Special News1 week ago

छत्तीसगढ़ : आत्मनिर्भर भारत सम्मेलन में श्रम विभाग को जनकल्याणकारी योजनाओं के लिए मिला पुरस्कार

रायपुर : नई दिल्ली में आयोजित आत्मनिर्भर भारत सम्मेलन में श्रम विभाग को श्रमिकों के लिए अनेक कल्याणकारी योजनाएं संचालित...

Advertisement
Advertisement

Trending