Connect with us

आस्था

Navratri महासप्तमी : आज होगी मां कालरात्रि की पूजा, जानिए माता रानी के प्रिय मंत्र, पुष्प, रंग, आरती और पूजन विधि

Published

on

Share This Now :

आस्था डेस्क : मंगलवार को नवरात्रि का सातवां दिन है। इस दिन मां कालरात्रि की पूजन का विधान है। मां कालरात्रि दुष्टों का विनाश करने वाली हैं। मान्यता है कि मां कालरात्रि की पूजा करने वाले भक्तों पर माता रानी की विशेष कृपा बनी रहती है। मां कालरात्रि के स्वरूप की बात करेम तो माता रानी के चार हाथ हैं। उनके एक हाथ में खड्ग (तलवार), दूसरे लौह शस्त्र, तीसरे हाथ में वरमुद्रा और चौथा हाथ अभय मुद्रा में हैं। मां कालरात्रि का वाहन गर्दभ है।

मां कालरात्रि का प्रिय रंग और पुष्प- मां कालरात्रि को रातरानी का पुष्प अर्पित करना शुभ माना जाता है। मां को लाल रंग प्रिय है।

मां कालरात्रि पूजन विधि-

नवरात्रि के सातवें दिन मां कालरात्रि का पूजन किया जाता है। माता रानी को अक्षत, पुष्प, धूप, गंधक और गुड़ आदि का भोग लगाएं। मां कालरात्रि को रातरानी पुष्प अतिप्रिय है। पूजन के बाद मां कालरात्रि के मंत्रों का जाप करना चाहिए। व अंत में आरती उतारें।

मां कालरात्रि का ध्यान-

करालवंदना धोरां मुक्तकेशी चतुर्भुजाम्।
कालरात्रिं करालिंका दिव्यां विद्युतमाला विभूषिताम॥

दिव्यं लौहवज्र खड्ग वामोघो‌र्ध्व कराम्बुजाम्।
अभयं वरदां चैव दक्षिणोध्वाघ: पार्णिकाम् मम॥

महामेघ प्रभां श्यामां तक्षा चैव गर्दभारूढ़ा।
घोरदंश कारालास्यां पीनोन्नत पयोधराम्॥

सुख पप्रसन्न वदना स्मेरान्न सरोरूहाम्।
एवं सचियन्तयेत् कालरात्रिं सर्वकाम् समृद्धिदाम्॥

मां कालरात्रि के मंत्र-

या देवी सर्वभू‍तेषु माँ कालरात्रि रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।

एक वेधी जपाकर्णपूरा नग्ना खरास्थिता।
लम्बोष्ठी कर्णिकाकणी तैलाभ्यक्तशरीरिणी।।

वामपदोल्लसल्लोहलताकण्टक भूषणा।
वर्धनमूर्धध्वजा कृष्णा कालरात्रिर्भयंकरी।।

देवी कालरात्रि के कवच-

ऊँ क्लीं मे हृदयं पातु पादौ श्रीकालरात्रि।
ललाटे सततं पातु तुष्टग्रह निवारिणी॥

रसनां पातु कौमारी, भैरवी चक्षुषोर्भम।
कटौ पृष्ठे महेशानी, कर्णोशंकरभामिनी॥

वर्जितानी तु स्थानाभि यानि च कवचेन हि।
तानि सर्वाणि मे देवीसततंपातु स्तम्भिनी॥

कालरात्रि की आरती –

कालरात्रि जय-जय-महाकाली।
काल के मुह से बचाने वाली॥

दुष्ट संघारक नाम तुम्हारा।
महाचंडी तेरा अवतार॥

पृथ्वी और आकाश पे सारा।
महाकाली है तेरा पसारा॥

खडग खप्पर रखने वाली।
दुष्टों का लहू चखने वाली॥

कलकत्ता स्थान तुम्हारा।
सब जगह देखूं तेरा नजारा॥

सभी देवता सब नर-नारी।
गावें स्तुति सभी तुम्हारी॥

रक्तदंता और अन्नपूर्णा।
कृपा करे तो कोई भी दुःख ना॥

ना कोई चिंता रहे बीमारी।
ना कोई गम ना संकट भारी॥

उस पर कभी कष्ट ना आवें।
महाकाली माँ जिसे बचाबे॥

तू भी भक्त प्रेम से कह।
कालरात्रि माँ तेरी जय॥

Share This Now :

आस्था

CG : CM बघेल राजधानी रायपुर के रावणभाठा और डब्ल्यू.आर.एस. कॉलोनी के दशहरा उत्सव में हुए शामिल

Published

on

Share This Now :

छत्तीसगढ़ के प्राचीन दशहरा उत्सव में माना जाता है रावणभाठा का दशहरा उत्सव, भगवान श्रीराम का छत्तीसगढ़ से गहरा नाता – मुख्यमंत्री 

मुख्यमंत्री ने रावणभाठा मैदान के सौन्दर्यीकरण के लिए एक करोड़ रूपए की राशि के विकास कार्यों का किया भूमिपूजन

रावणभाठा मैदान में लगभग 400 साल से मनाया जा रहा है दशहरा उत्सव


रायपुर : विजयादशमी के अवसर पर आज शाम रायपुर के डब्ल्यू.आर.एस. कालोनी में आयोजित दशहरा उत्सव में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने रावण के पुतले का दहन किया। उन्होंने प्रदेशवासियों को विजयादशमी पर्व की शुभकामनाएं दी और सभी के जीवन में सुख, शांति एवं प्रेम के संचार की कामना की। उन्होंने कहा कि यह पर्व बुराई पर अच्छाई का, असत्य पर सत्य का, अनीति पर नीति के विजय का पर्व है। उन्होंने कहा कि दशहरा पर्व के माध्यम से रावण का पुतला इस बात का द्योतक है कि बुराई और अहंकार चाहे कितनी भी बड़ी और ऊंची हो उसका पतन अवश्य होता है। इसके पहले मुख्यमंत्री ने डब्ल्यूआरएस मैदान पहुंचकर धर्मपत्नी श्रीमती मुक्तेश्वरी बघेल के साथ रामलीला में भगवान बने श्री राम और लक्ष्मण की तिलक लगाकर पूजा की और प्रदेश की खुशहाली की कामना की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि भगवान श्रीराम का छत्तीसगढ़ से गहरा नाता रहा है। दक्षिण कौशल राज्य की पुत्री से राजा दशरथ का विवाह हुआ और इससे उनके आंगन में भगवान राम का जन्म हुआ। वनवासी के रूप में भगवान राम ने लगभग 10 वर्ष छत्तीसगढ़ में बिताए। इस कारण वे वनवासी राम हैं। उन्होंने यहां शिवरीनारायण में माता शबरी से जुठे बेर खाए। इस कारण वे शबरी के राम है और माता कौशल्या के कारण वे कौशल्या के राम है। मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ का जन मानस आज भी भांजे के रूप में भगवान श्री राम को देखता है और इसी कारण केवल छत्तीसगढ़ में मामा द्वारा भांजे की चरण स्पर्श करने की परंपरा है। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने स्वयं भगवान श्री राम का जयकारा लगवाया।

छत्तीसगढ़ के प्राचीन दशहरा उत्सव में माना जाता है रावणभाठा का दशहरा उत्सव – मुख्यमंत्री बघेल

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज सार्वजनिक दशहरा उत्सव समिति श्री दूधाधारी मठ द्वारा आयोजित राजधानी रायपुर के रावणभाठा-टिकरापारा के दशहरा उत्सव में शामिल हुए। उन्होंने इस अवसर पर भगवान श्री राम-लक्ष्मण और भगवान श्री बालाजी की पूजा-अर्चना कर प्रदेश की समृद्धि तथा खुशहाली की कामना की। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने इस दौरान रावणभाठा मैदान के सौन्दर्यीकरण तथा विकास के लिए स्वीकृत एक करोड़ रूपए की राशि के विभिन्न विकास कार्यों का भूमिपूजन भी किया।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने दशहरा उत्सव में शामिल होने पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि श्री दूधाधारी मठ द्वारा आयोजित यह उत्सव छत्तीसगढ़ के सबसे प्राचीन दशहरा उत्सव में माना जाता है। इसके लिए उन्होंने संरक्षक राजेश्री महंत डॉ. रामसुन्दर दास तथा अध्यक्ष श्री मनोज वर्मा सहित पूरे आयोजन समिति की सराहना की। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि दशहरा का पर्व असत्य पर सत्य की जीत, अंधकार पर प्रकाश की जीत और अधर्म पर धर्म की जीत का पर्व है। यह पर्व हमें अपने अहंकार तथा बुराई को समाप्त कर अच्छाई तथा सत्य की राह पर चलने की सीख देता है। जब तक हमारे समाज, आस-पास तथा स्वयं में जो बुराई है वह समाप्त नहीं होगी तब तक हम और हमारा समाज आगे नहीं बढ़ पाएगा। इसलिए समाज में अहंकार, बुराई तथा असत्य के प्रतीक रावण का नाश जरूरी है, तभी हम आगे बढ़ पाएंगे।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने बताया कि रावणभाठा में आयोजित दशहरा उत्सव की छत्तीसगढ़ के सबसे प्राचीन दशहरा उत्सव के रूप में विशिष्ट ख्याति और पहचान है। उन्होंने बताया कि राजधानी रायपुर में नागपुर के भोसले वंश के शासन काल से लगभग 400 वर्ष से अब तक यहां दशहरा उत्सव उत्साह के साथ मनाया जाता रहा है। दशहरा उत्सव कार्यक्रम में खाद्य तथा संस्कृति मंत्री श्री अमरजीत भगत, सांसद श्री सुनील सोनी, नगरपालिक निगम रायपुर के महापौर श्री एजाज ढेबर सहित पार्षद तथा गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

Share This Now :
Continue Reading

आस्था

Happy Dussehra 2021 : सूर्यास्त के बाद ही करना चाहिए रावण दहन, जानिए महत्व और रावण दहन का शुभ समय

Published

on

Share This Now :

आस्था डेस्क : दशहरा या विजयदशमी हिंदुओं के प्रमुख त्योहारों में से एक है। हिंदू पंचांग के अनुसार, आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को दशहरा मनाया जाता है। इसे विजयादशमी के नाम से भी जानते हैं। इस साल यह त्योहार आज यानी 15 अक्टूबर, शुक्रवार को मनाया जा रहे हैं। कहा जाता है कि रावण दहन के साथ व्यक्ति बुराइयों का अंत करके अच्छाइयों की ओर बढ़ने की कोशिश करता है।

सूर्यास्त के बाद करना चाहिए रावण दहन-

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, रावण दहन हमेशा सूर्यास्त के बाद ही किया जाना चाहिए। शास्त्रों के अनुसार, रात्रि के समय को रावण दहन के लिए उत्तम माना जाता है। इसलिए दशहरा पूजा भी सूर्यास्त के समय या बाद में की जानी चाहिए।

रावण दहन का महत्व-

रामायण के अनुसार, लंकापति रावण के अंत होने के साथ ही इस दिन का विशेष महत्व है। कहते हैं कि दशहरे के दिन व्यक्ति अपनी बुराइयों को खत्म करता है। कहते हैं कि रावण दहन से रोग, दोष, शोक, संकट और ग्रहों की विपरीत स्थिति से मुक्ति मिलती है। दशहरा के दिन रावण दहन इसलिए ही जरूरी माना जाता है।

विजयादशमी 2021 शुभ मुहूर्त-

अभिजीत मुहूर्त सुबह 11 बजकर 44 मिनट से 12 बजकर 30 मिनट तक।
विजय मुहूर्त- दोपहर 2 बजकर 2 मिनट से 2 बजकर 48 मिनट तक।
दशमी तिथि- शाम 06 बजकर 02 मिनट तक।
अमृत काल- रात को 10 बजकर 55 मिनट से 12 बजकर 32 मिनट तक।

Share This Now :
Continue Reading

आस्था

CG : CM पहुंचे ग्राम कौही, दर्शन का लिया लाभ, लिफ्ट इरिगेशन परियोजना भी देखी ; अगेसारा में माँ डिडनेश्वरी और सोनपुर में मां ज्वाला का किया दर्शन

Published

on

Share This Now :

रायपुर : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने नवरात्रि के अवसर पर पाटन ब्लॉक में विराजित देवियों का दर्शन कर और पूजा अर्चना की। उन्होंने पाटन में मां महामाया, सोनपुर में ज्वाला देवी और अग्रेसर में डिडनेश्वरी देवी का दर्शन किया। इसके साथ ही उन्होंने ग्राम कौही में मां काली के दर्शन किए। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि नवरात्रि के पवित्र अवसर पर आप लोगों के बीच उपस्थित हुआ हूं। यह मेरे लिए हार्दिक खुशी का अवसर है। देवी मां की अपार कृपा छत्तीसगढ़ पर रही है। नवरात्रि के इस पावन अवसर पर आज देवी का आशीर्वाद लेने आया हूं। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने ग्राम आगेसरा में ग्रामीणों को संबोधित भी किया। मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि ग्रामीण विकास की योजनाओं के माध्यम से छत्तीसगढ़ सरकार ने तेजी से ग्रामीण क्षेत्रों की सूरत बदलने की दिशा में काम किया है। इसके लिए हमने परंपरागत और आधुनिक साधन अपनाये हैं। किसानों को मजबूत करने के लिए राजीव गांधी किसान न्याय योजना तथा गोधन न्याय योजना के माध्यम से बड़े कार्य किए हैं। इसका लाभ दिख रहा है, सिंचाई के अवसरों के लिए कार्य किया गया है। किसानों के चेहरे पर खुशहाली लाना तथा ग्रामीण विकास करना हमारी पहली प्राथमिकता है। इस दिशा में हम काम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर मां के दर्शन कर प्रदेश की खुशहाली की कामना भी की।

CM पहुंचे ग्राम कौही, दर्शन का लिया लाभ, लिफ्ट इरिगेशन परियोजना भी देखी

जैसे काशी में मां अन्नपूर्णा और विश्वनाथ जी का एक साथ वास है, उसी तरह से पुण्यभूमि कौही में भी भगवान शिव और मां काली का वास है। इस तरह यह जगह बहुत पवित्र है। यहां आने पर मुझे बनारस की कथा याद आती है, जब भगवान शिव भूखे होकर मां अन्नपूर्णा के द्वार पहुंचते हैं और मां अन्नपूर्णा उन्हें भोजन कराती है। मुख्यमंत्री ने यह बातें ग्राम कौही में मां काली और भगवान शिव के दर्शन के पश्चात कही। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर कहा कि छत्तीसगढ़ के लोग इस मायने में भाग्यशाली हैं कि हमारे यहां देवियों का वास है। मैं अभी रतनपुर में मां महामाया के दर्शन कर आया हूं। हमारे यहां मां दंतेश्वरी भी है, मां बमलेश्वरी भी है, धमतरी में विंध्यवासिनी है, खल्लारी मां है, चंद्रहासिनी हैं। अभी मैं आगेसरा जाऊंगा, वहां देवी के दर्शन करूंगा। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों को सही समय पर आर्थिक सहयोग किया जा सके इसके लिए हम उपयुक्त समय पर राजीव गांधी न्याय योजना की किस्त प्रदान करते हैं। इसके पहले दो किस्त दी जा चुकी है। इसकी तीसरी किस्त 1 नवंबर को दी जाएगी। इस दिन यह धनतेरस का पहला दिन है। यह किस्त जब किसानों के खाते में जाएगी, तब किसान पैसा निकालेंगे और उनकी दिवाली बहुत खुशहाली से मनेगी। इसी समय रानीतराई का मड़ई भी रहता है। इस मडई में आप छोटी-छोटी खुशियां खरीद पाएंगे। आपके जीवन में समृद्धि लाना ही सरकार की पहली प्राथमिकता है। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर कहा कि सभी कलेक्टरों को निर्देश दिया गया था कि बारिश की स्थिति पर नजर रखें और खेतों का नजरी सर्वे करते रहे। सौभाग्य से सितंबर के महीने में अच्छी बारिश हुई और अब हम धान खरीदी की तैयारी कर रहे हैं। पूरे देश भर में खाद का संकट है हमने छत्तीसगढ़ में रासायनिक खाद को तवज्जो दी। इस वजह से  खाद संकट में भी जैविक खाद के रूप में वैकल्पिक व्यवस्था हमने तैयार की। किसानों को खाद बिजली मिलती रहे यह सरकार की प्राथमिकता में है। गोधन न्याय योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में आर्थिक वृद्धि के प्रयास किए गए हैं। इसके साथ ही गोबर से बिजली बनाने की दिशा में भी महत्वपूर्ण कार्य हुआ है। बेमेतरा के ग्राम राखी, रायपुर के ग्राम पंचायत बन चरौदा, दुर्ग के सिकोला में गोबर से बिजली बनाने की का कार्य हमने 2 अक्टूबर से शुरू किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने माँ कौशल्या के मंदिर में सौंदर्यीकरण का कार्य किया है। आप मंदिर में शाम के वक्त जाइए। मंदिर की सजावट और पूरा तीर्थ परिसर शाम के  समय तीर्थ यात्रियों के लिए अपूर्वानंद का अवसर बनता है। मैं चाहता हूं कि आप लोग सभी चंदखुरी जरूर जाइए। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर लिफ्ट इरीगेशन परियोजना भी देखी।

Share This Now :
Continue Reading

Advertisement



Advertisement Sahni Amritsari Kulche

Chhattisgarh Trending News

आस्था41 mins ago

CG : CM बघेल राजधानी रायपुर के रावणभाठा और डब्ल्यू.आर.एस. कॉलोनी के दशहरा उत्सव में हुए शामिल

छत्तीसगढ़ के प्राचीन दशहरा उत्सव में माना जाता है रावणभाठा का दशहरा उत्सव, भगवान श्रीराम का छत्तीसगढ़ से गहरा नाता...

CORONA VIRUS4 hours ago

छत्तीसगढ़ में आज कोरोना के 10 नए मामले आए सामने, 16 मरीज़ हुए रिकवर ; देखिए जिलेवार आंकड़ा

रायपुर : छत्तीसगढ़ मे आज 10 नए कोरोना संक्रमित मरीज मिले। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी मेडिकल बुलेटिन के अनुसार बीते...

राज्य एवं शहर5 hours ago

CG : नया खाई के अवसर पर अपने पैतृक गांव पहुंचे CM ग्रामीणों से की देर तक चर्चा 

हर साल दशहरे के दिन अपने घर मे पूजा करते हैं मुख्यमंत्री, ग्रामीणों ने कहा, आपका इस दिन विशेष रूप...

राज्य एवं शहर5 hours ago

CG : CM ने विजयादशमी पर्व पर विधि-विधान एवँ मंत्रोच्चार के बीच की शस्त्र पूजा, प्रदेशवासियों को विजयादशमी पर्व की दी शुभकामनाएं

रायपुर : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज यहां अपने निवास में विजयादशमी के अवसर पर शस्त्र पूजा की। उन्होंने...

राज्य एवं शहर6 hours ago

CG : हसदेव अरण्य वन क्षेत्र मामला, आंदोलनरत आदिवासियों से मिले CM भूपेश, दिया न्याय का भरोसा

रायपुर : छत्तीसगढ़ में मदनपुर क्षेत्र के आदिवासी ग्रामीण 300 किलोमीटर से अधिक पैदल चलकर रायपुर पहुंचे. जहां सीएम भूपेश...

Advertisement

CONNECT WITH US :

राज्य एवं शहर8 hours ago

CG : जशपुर में तेज रफ्तार गांजे से भरी कार ने दुर्गा विसर्जन की झांकी में भीड़ को रौंदा, 1 की मौत, कई की हालत नाजुक

Country News Today Exclusive6 days ago

CG : तीसरी बटालियन के अधिकारी व जवानों द्वारा नहीं देखा जा सका नदी किनारे कचरों का ढेर, जुटकर किया गया सफाई अभियान

Special News1 week ago

CG में खुला राम वन गमन मार्ग, शंकर महादेवन के बोलो राम-राम गीत पर थिरक उठे CM, मानस मण्डली में बघेल ने स्वयं बजाया खंजरी : देखिए वीडियो

देश-विदेश1 week ago

VIDEO : UP पहुंचे CG के CM बघेल, पुलिस ने लखनऊ हवाई अड्‌डे पर रोका, विरोध में धरने पर बैठे CM भूपेश, सामान्य यात्री बस में कराया सफर

देश-विदेश2 weeks ago

छत्तीसगढ़ के CM बघेल दिल्ली AICC के प्रेस कॉन्फ्रेंस में UP सरकार पर लगाये कई गंभीर आरोप : देखिए वीडियो

Top 10 News

Must Read

Tech Gyan5 days ago

फोन हो गया चोरी? तो ऐसे ब्लॉक करें PAYTM अकाउंट, पूरा पैसा रहेगा सुरक्षित! ; देखिए स्टेप्स

National Desk : आज के समय से भारत में शायद ही कोई ऐसा स्मार्टफोन हो, जिसमें Paytm ना हो। नुक्कड...

Country News Today Exclusive6 days ago

CG : तीसरी बटालियन के अधिकारी व जवानों द्वारा नहीं देखा जा सका नदी किनारे कचरों का ढेर, जुटकर किया गया सफाई अभियान

अम्लेश्वर, दुर्ग : तीसरी वाहिनी के सेनानी धर्मेन्द्र सिंह (भापुसे) के निर्देशन में 02 अक्तूबर को स्वच्छ भारत अभियान के...

Special News1 week ago

CG में खुला राम वन गमन मार्ग, शंकर महादेवन के बोलो राम-राम गीत पर थिरक उठे CM, मानस मण्डली में बघेल ने स्वयं बजाया खंजरी : देखिए वीडियो

भारती बंधुओं ने कबीर के दोहे से बांधा समां, कबीर कैफे मुंबई की प्रस्तुति से झूम उठे दर्शक छत्तीसगढ़ के...

Special News1 week ago

E-कोर्ट के बेहतर प्रसार एवं क्रियान्वयन के लिए छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट को मिला सिल्वर अवार्ड

रायपुर : ई-कोर्ट प्रोजेक्ट के बेहतर प्रसार एवं क्रियान्वयन के लिए नेशनल इंफरमेशन सेंटर (एनआईसी) के डायरेक्टर जनरल की ओर...

Tech Gyan1 week ago

Reliance Jio Network Outrage : रिलायंस जियो का नेटवर्क हुआ डाउन, ट्विटर पर भड़का यूजर्स का गुस्सा

नई दिल्ली : देश की सबसे बड़ी टेलिकॉम ऑपरेटर कंपनी रिलायंस जियो (Reliance Jio) के यूजर्स को आज काफी परेशानी का सामना...

Advertisement

Trending