Wednesday, April 17, 2024

चुनाव हारते ही मोदी सरकार ने चला नया दांव, कर्नाटक के DGP को ही बना दिया CBI का मुखिया, कांग्रेस ने किया विरोध

IPS Praveen Sood Selected New CBI Director चुनाव हारते ही मोदी सरकार ने चला नया दांव, कर्नाटक के DGP को ही बना दिया CBI का मुखिया

दस सालों तक सत्ता पर काबिज रही भाजपा के हाथ से कर्नाटक की कमान छूट चुकी हैं। कांग्रेस ने शानदार प्रदर्शन करते हुए भाजपा और जेडीएस को चारो खाने चित्त कर दिया है। कांग्रेस ने कर्नाटक में 136 सीटों पर जीत हासिल करते हुए बहुमत के आंकड़े को छू लिया हैं। भाजपा अब अपने प्रदर्शन की समीक्षा कर रही हैं।

भाजपा एक तरफ जहाँ हार के वजहों को तलाश रही हैं तो दूसरी तरफ उन्होंने कर्नाटक को लेकर एक बड़ा फैसला भी ले लिया हैं। दरअसल चुनावी मतगणना के दिन ही केंद्र की मोदी सरकार ने सीबीआई के नए डाइरेक्टर की नियुक्ति को लेकर चयन समिति की बैठक की थी। इस बैठक में खुद प्रधानमंत्री, नेता विपक्ष अधीर रंजन चौधरी और सीजेआई जस्टिस चन्द्रचूड मौजूद थे। सीबीआई के नए निदेशक के लिए केंद्र सरकार की तरफ से तीन नामो का पैनल तैयार किया गया था। लेकिन कमेटी ने उस वक़्त सबको चौंका दिया जब उन्होंने कर्नाटक के पुलिस महानिदेशक प्रवीण सूद का नाम आगे बढ़ाते हुए हरी झंडी दे दी। वो दो साल तक इस पद पर सेवाएं देंगे। 25 मई को वो नई जिम्मेदारी संभाल सकते हैं क्योंकि इसी दिन मौजूदा डायरेक्टर सुबोध कुमार जायसवाल का कार्यकाल पूरा हो रहा है।

प्रवीण सूद का नाम जैसे ही नए निदेशक के लिए फाइनल हुआ कांग्रेस ने इसका जोरदार विरोध किया। अधीर रंजन चौधरी ने बताया की सरकार ने जानबूझकर सीबीआई के निदेशक के तौर पर कर्नाटक के डीजीपी की नियुक्ति की हैं। उन्होंने खुलासा किया की सरकार ने जिन तीन नामों का पेनल तैयार किया था उनमे प्रवीण सूद का नाम नहीं था। कांग्रेस ने इस पूरे फैसले को चुनावी नतीजों से भी जोड़ने की कोशिश की हैं।

कौन हैं प्रवीण सूद ?

प्रवीण सूद का जन्म हिमाचल प्रदेश में साल 1964 में हुआ था। उन्होंने आईआईटी दिल्ली से ग्रेजुएशन किया है। वो 1986 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं और वर्तमान में कर्नाटक के डीजीपी हैं। 1989 में वो मैसूर के सहायक पुलिस अधीक्षक बने थे। इसके बाद पुलिस अधीक्षक, बेल्लारी और रायचूर भी रहे। फिर बेंगलुरु पुलिस उपायुक्त के पद पर सेवाएं दी।

प्रवीण सूद 1999 में मॉरीशस में पुलिस सलाहकार भी रहे। 2004 से 2007 तक वो मैसूर शहर के पुलिस आयुक्त रहे। इसके बाद 2011 तक बेंगलुरु ट्रैफिक पुलिस के अतिरिक्त पुलिस आयुक्त के रूप में काम किया। साल 1996 में सेवा में उत्कृष्टता के लिए उन्हें मुख्यमंत्री स्वर्ण पदक, 2002 में पुलिस पदक और 2011 में विशिष्ट सेवा के लिए राष्ट्रपति द्वारा पुलिस पदक से सम्मानित किया गया।

डीके शिवकुमार से तल्खी

बता दे की कांग्रेस कर्नाटक प्रदेश अध्यक्ष डीके शिवकुमार और डीजीपी और परवीन सूद के बीच तल्खी रही हैं। विधानसभा चुनाव से पहले उन्होंने सूद के बारे में कहा था कि वो इस पद के लायक नहीं है। शिवकुमार ने उन पर बीजेपी के पक्ष में काम करने का भी आरोप लगाया था।

कहा था कि वो तीन साल से डीजीपी हैं, मगर उनका काम बीजेपी कार्यकर्ता के समान है। उन्होंने करीब 25 कांग्रेस नेताओं के खिलाफ कार्रवाई की। इस संबंध में चुनाव आयोग को भी लिखा है। इसलिए उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। चुनाव के बाद कांग्रेस की सरकार बनी तो सूद के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। अब राज्य में कांग्रेस सत्ता में आ गई है लेकिन प्रवीण सीबीआई निदेशक के रूप में दिल्ली का रुख करेंगे।

# IPS Praveen Sood # News CBI Director # Previous DGP of Karnataka # Karnataka Elections 

spot_img

AAJ TAK LIVE

ABP LIVE

ZEE NEWS LIVE

अन्य खबरे
Advertisements
यह भी पढ़े
Live Scores
Rashifal
Panchang