Connect with us

AUTOMOBILE

अब ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए नहीं लगाने पड़ेंगे RTO के चक्कर, प्राइवेट कंपनियां भी जारी कर पाएंगी DL

Published

on

Reprenstational Image
Share This Now :

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (MoRTH) ने नये दिशानिर्देश जारी किए हैं जिनके अनुसार अब क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय के अलावा वाहन निर्माता संघ गैर लाभकारी संगठन और निजी कंपनियां भी बेहद आसानी से ड्राइविंग लाइसेंस जारी कर पाएंगी।


नई दिल्ली : अब तक ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए आवेदनकर्ताओं को महीनों तक आरटीओ के चक्कर काटने पड़ते थे और तब जाकर उनका काम होता था, लेकिन अब सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (MoRTH) ने नये दिशानिर्देश जारी किए हैं जिनके अनुसार अब क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय के अलावा वाहन निर्माता संघ, गैर लाभकारी संगठन और निजी कंपनियां भी ड्राइविंग लाइसेंस जारी कर पाएंगी। ki

आपको बता दें कि अब निजी कंपनियां और एनजीओ जैसी संस्थाएं खुद का ड्राइवर ट्रेनिंग सेंटर चला सकेंगी और इनमें एडमिशन लेने वाले व्यक्तियों को प्रशिक्षण पूरा होने के बाद ड्राइविंग लाइसेंस दे दिया जाएगा। इसमें ज्यादा समय नहीं लगेगा और आपको ड्राइवर ट्रेनिंग पूरी होने और इसमें पास होने के बाद ड्राइविंग लाइसेंस दे दिया जाएगा।

हाल ही में सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने एक बयान जारी किया था जिसके अनुसार, ‘‘वैध संस्थाएं जैसे कंपनियां, गैर सरकारी संगठन, निजी प्रतिष्ठान/ऑटोमोबाइल एसोसिएशन/वाहन निर्माता संघ/स्वायत्त निकाय/निजी वाहन निर्माता चालक प्रशिक्षण केंद्र (डीटीसी) की मान्यता के लिए आवेदन कर सकेंगे।’’

advt_dec21
geeta_medical1
geeta_medical

बता दें कि मौजूदा समय में आरटीओ पर ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए हर रोज सैकड़ों की संख्या में आवेदन आते हैं और हर एक व्यक्ति का ड्राइविंग टेस्ट लेने में काफी समय लगता है क्योंकि डीएल के लिए आवेदन करने वालों की संख्या काफी ज्यादा होती है जिसकी वजह से कई बार आपकी बारी आने में महीनों का समय लग जाता है। ऐसे में ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने की प्रक्रिया को सुगम बनाने के लिए मंत्रालय की तरफ से फैसला लिया गया है जिससे हजारों की संख्या में लोगों को राहत मिलेगी जो ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना चाहते हैं।

कोरोना संक्रमण को देखते हुए सरकार का ये कदम आम आदमी के लिए बेहद जरूरी है क्योंकि आरटीओ की भीड़-भाड़ की वजह से संक्रमण फैलने की संभावना ज्यादा हो जाती है, ऐसे में सरकारी के अलावा निजी संस्थाओं को भी ड्राइविंग लाइसेंस बनाने की अनुमति देने के बाद अब आम आदमी के लिए ड्राइविंग लाइसेंस प्राप्त करने का अनुभव पहले से काफी बेहतर हो जाएगा और इसमें आपको बार-बार आरटीओ के चक्कर भी नहीं काटने पड़ेंगे।

Share This Now :

AUTOMOBILE

Good News! मात्र 36000 रुपए में आज लॉन्च हुआ यह शानदार स्कूटर, देखें शानदार फीचर्स की जानकारी

Published

on

Share This Now :

National Desk : भारत में आज बड़ी कंपनी ने मात्र 36000 रुपए में स्कूटर लॉन्च किया है। अगर आप भी इलेक्ट्रिक स्कूटर खरीदने या प्लान कर रहे है तो यह खबर आपके लिए ही है। बेंगलुरु स्थित मोबिलिटी फर्म, बाउंस ने आज अपना पहला इलेक्ट्रिक स्कूटर, बाउंस इनफिनिटी E1 लॉन्च कर दिया है। बाउंस इनफिनिटी ई1 पहला ई-स्कूटर होगा जिसे ‘बैटरी ऐज अ सर्विस’ विकल्प के साथ पेश किया जाएगा। यदि आप बैटरी को सेवा विकल्प के रूप में चुनते हैं तो बाउंस इन्फिनिटी इलेक्ट्रिक स्कूटर 36, 000 रुपये से कम में आपका हो सकता है। इसके लिए आपको एक सब्सक्रिप्शन प्लान भी चुनना होगा, जिसका विवरण जल्द ही कंपनी की वेबसाइट पर उपलब्ध होगा।

बैटरी और चार्जर के साथ इस स्कूटर की कीमत  68,999 रुपए (दिल्ली एक्स-शोरूम) है, और बैटरी-ए-ए-सर्विस वाले स्कूटरों की कीमत 45099 (दिल्ली एक्स-शोरूम) प्लस बैटरी-ए-ए-सर्विस की सदस्यता है। इसके डीलरशिप नेटवर्क और इसके ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के माध्यम से मार्च 2022 की डिलीवरी के साथ प्री-बुकिंग आज से शुरू हो गई है। ग्राहक इस स्मार्ट स्कूटर को न्यूनतम 499 रुपए का भुगतान करके प्री-बुक कर सकते हैं जो कि रिफंडेबल है।

बाउंस इनफिनिटी E1 पांच कलर ऑप्शन में आता है: स्पोर्टी रेड, स्पार्कल ब्लैक, पर्ल व्हाइट, डेसैट सिल्वर और कॉमेड ग्रे। कंपनी इसके साथ 3 साल या 50,000 किलोमीटर तक की वारंटी दे रही है। बाउंस इनफिनिटी 39AH के साथ वाटरप्रूफ IP67 रेटेड 48V बैटरी के साथ आती है जो 83Nm टॉर्क जेनरेट करती है। यह 65 किमी / घंटा की टॉप स्पीड के साथ एक बार चार्ज करने पर 85 किमी की दूरी तय कर सकती है। बाउंस इनफिनिटी 8 सेकेंड में 0 से 40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ लेती है।

advt_dec21
geeta_medical1
geeta_medical
Share This Now :
Continue Reading

AUTOMOBILE

डीजल कार बनेगा इलेक्ट्रिक : फ्यूल किट की जगह ई-मोटर और बैटरी लगाई जाएगी, हर साल 1 लाख रुपए से ज्यादा की होगी बचत

Published

on

Demo Pic
Share This Now :

नई दिल्ली : आप दिल्ली में रहते हैं और आपके पास 10 साल पुरानी डीजल कार है तब आपको टेंशन लेने की जरूरत नहीं है। दरअसल, दिल्ली सरकार ने 10 साल पुरानी डीजल गाड़ी को इलेक्ट्रिक में कन्वर्ट कराने का रास्ता साफ कर दिया है। यानी, आपको गाड़ी बेचने या स्क्रैप में देने की जरूरत नहीं है। डीजल कार को इलेक्ट्रिक में कन्वर्ट कराने पर जो खर्च आएगा दिल्ली सरकार उस पर सब्सिडी भी देगी।

3 लाख से ज्यादा पुरानी डीजल कारें

दिल्ली में करीब 38 लाख पुरानी गाड़ियां हैं। इनमें 35 लाख पेट्रोल और 3 लाख डीजल गाड़ियां हैं। नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT) और सुप्रीम कोर्ट के आदेश बाद ये गाड़ियां दिल्ली की सड़कों पर नहीं चलाई जा सकतीं। NGT ने राजधानी में 10 साल या उससे पुरानी डीजल कारों और 15 साल या उससे पुरानी पेट्रोल गाड़ियों पर पूरी तरह से रोक लगा दी है। ऐसी स्थिति में दिल्ली सरकार ने डीजल गाड़ियों के सामने इलेक्ट्रिक का नया विकल्प खोल दिया है।

advt_dec21
geeta_medical1
geeta_medical

फिलहाल दिल्ली सरकार ने ये साफ नहीं किया है कि डीजल कार को इलेक्ट्रिक में कन्वर्ट कराने के लिए वो कितनी सब्सिडी देगी। इसे लेकर प्लान तैयार किया जा रहा है। इस काम में 4 से 5 लाख रुपए तक का खर्च आता है, लेकिन जब इस काम को कई कंपनियां करने लगेंगी तब लागत घट सकती है।

किसी पेट्रोल या डीजल कार को इलेक्ट्रिक में कन्वर्ट कराने में कितना खर्च आता है? कार की रेंज कितनी होती है? पेट्रोल की तुलना में रोजाना कितना खर्च आएगा? कितने समय में पैसा वसूल हो जाएगा? इन सभी बातों के जानते हैं…

पेट्रोल और डीजल कार को इलेक्ट्रिक बनाने का काम कौन सी कंपनियां कर रही हैं?

फ्यूल कार को इलेक्ट्रिक कार में कन्वर्ट करने से जुड़ी ज्यादातर कंपनियां हैदराबाद में हैं। इनमें ईट्रायो (etrio) और नॉर्थवेएमएस (northwayms) प्रमुख हैं। ये दोनों कंपनियां किसी भी पेट्रोल या डीजल कार को इलेक्ट्रिक कार में कन्वर्ट कर देती हैं। आप वैगनआर, ऑल्टो, डिजायर, i10, स्पार्क या दूसरी कोई भी पेट्रोल या डीजल कार इलेक्ट्रिक में कन्वर्ट करा सकते हैं। कारों में इस्तेमाल होने वाली इलेक्ट्रिक किट लगभग एक जैसी होती है। हालांकि रेंज और पावर बढ़ाने के लिए बैटरी और मोटर में फर्क आ सकता है। इन कंपनियों से आप इनकी ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर संपर्क कर सकते हैं। ये कंपनियां इलेक्ट्रिक कार बेचती भी हैं।

फ्यूल कार को इलेक्ट्रिक कार में बदलने का खर्च और रेंज

किसी भी नॉर्मल कार को इलेक्ट्रिक कार में बदलने के लिए मोटर, कंट्रोलर, रोलर और बैटरी का इस्तेमाल किया जाता है। कार में आने वाला खर्च इस बात पर डिपेंड है कि आप कितने किलोवॉट की बैटरी और कितने किलोवॉट की मोटर कार में लगवाना चाहते हैं, क्योंकि ये दोनों पार्ट कार के पावर और रेंज से जुड़े होते हैं। जैसे, करीब 20 किलोवॉट की इलेक्ट्रिक मोटर और 12 किलोवॉट की लिथियम आयन बैटरी का खर्च करीब 4 लाख रुपए तक होता है। इसी तरह यदि बैटरी 22 किलोवॉट की होगी, तब इसका खर्च करीब 5 लाख रुपए तक आएगा।

कार की रेंज इस बात पर डिपेंड है कि उसमें कितने किलोवॉट की बैटरी का इस्तेमाल किया जा रहा है। जैसे कार में 12 किलोवॉट की लिथियम आयन बैटरी लगाई गई है तो ये फुल चार्ज होने पर करीब 70 किमी की रेंज देगी। वहीं, 22 किलोवॉट की लिथियम आयन बैटरी लगाई तब रेंज बढ़कर 150 किमी तक हो जाएगी। हालांकि, रेंज कम या ज्यादा होने में मोटर का रोल भी रहता है। यदि मोटर ज्यादा पावरफुल होती है तब कार की रेंज कम हो जाएगी।

अब जानिए पेट्रोल या डीजल कार को कैसे इलेक्ट्रिक कार में बदला जाता है?

जब ये कंपनियां किसी फ्यूल कार को इलेक्ट्रिक कार में कन्वर्ट करती हैं तो पुराने सभी मैकेनिकल पार्ट्स को बदला जाता है। यानी कार का इंजन, फ्यूल टैंक, इंजन तक पावर पहुंचाने वाली केबल और दूसरे पार्ट्स के साथ एसी के कनेक्शन को भी चेंज किया जाता है। इन सभी पार्ट्स को इलेक्ट्रिक पार्ट्स जैसे मोटर, कंट्रोलर, रोलर, बैटरी और चार्जर से बदला जाता है। इस काम में मिनिमम 7 दिन का समय लग सकता है। सभी पार्ट्स कार के बोनट के नीचे ही फिक्स किए जाते हैं। वहीं, बैटरी की लेयर कार के चेसिस पर फिक्स की जाती है। बूट स्पेस पूरी तरह खाली रहता है। इसी तरह फ्यूल टैंक को हटाकर उसकी कैप पर चार्जिंग पॉइंट लगाया जाता है। कार के मॉडल में किसी तरह का बदलाव नहीं किया जाता।

पेट्रोल की तुलना में इलेक्ट्रिक कार से बचत

आप अपनी पेट्रोल या डीजल कार को इलेक्ट्रिक कार में कन्वर्ट करने के लिए 5 लाख रुपए खर्च करते हैं। जिसके बाद ये 75 किमी की रेंज देती है, तब 4 साल और 8 महीने में आपके पैसे वसूल हो जाएंगे।

  • मान लेते हैं आप कार से भी रोजाना 50 किमी का सफर करते हैं।
  • इलेक्ट्रिक कार फुल चार्ज होने में 6 घंटे और 7 यूनिट बिजली खर्च करती है।
  • 1 यूनिट बिजली की कीमत 8 रुपए है, तो सिंगल चार्ज में 56 रुपए खर्च होंगे।
  • यानी 56 रुपए के खर्च में EV 75 किलोमीटर की रेंज देती है।
  • यानी 2 दिन की चार्जिंग में आप कार को 3 दिन आसानी से चला पाएंगे।
  • यानी महीनेभर में कार 20 बार ही चार्ज करनी होगी, जिसका खर्च 7 यूनिट x 20 दिन = 140 यूनिट होता है।
  • यानी 140 यूनिट x 8 रुपए = 1120 रुपए एक महीने में खर्च होते हैं।
  • इस तरह सालभर का खर्च 12 महीने x 1120 रुपए = 13440 रुपए होता है।
  • अब 1 लीटर पेट्रोल में कार शहर में 15km का माइलेज देती है। 1 लीटर पेट्रोल का खर्च 101 रुपए (दिल्ली) है।
  • 50km चलने के लिए 3.33 लीटर पेट्रोल लगता है। यानी 336 रुपए का पेट्रोल एक दिन में खर्च होगा।
  • इस हिसाब से 1 महीने में 30 दिन x 336 रुपए = 10090 रुपए का पेट्रोल खर्च होगा।
  • यानी 1 साल में 12 महीने x 10090 रुपए = 121078 रुपए का पेट्रोल खर्च होगा।
  • ई-कार से पेट्रोल कार की तुलना में सालाना 1,21,078 – 13440 = 1,07,638 रुपए की बचत होगी।
  • यानी 4 साल और 8 महीने में इलेक्ट्रिक कार को तैयार करने का पूरा खर्च निकल आएगा।

इलेक्ट्रिक कार 74 पैसे में एक किमी तक चलती है। पेट्रोल या डीजल कार को इलेक्ट्रिक कार बनाने वाली ये कंपनी 5 साल की वारंटी भी देती हैं। यानी आपको कार में इस्तेमाल होने वाली किट पर कोई एक्स्ट्रा खर्च नहीं करना होगा। वहीं, बैटरी पर कंपनी 5 साल की वारंटी देती है। यानी 5 साल के बाद आपको बैटरी बदलने की जरूरत होगी। वहीं, पेट्रोल या डीजल कार में आपको सालाना सर्विस का खर्च भी करना होगा। ये आपको किट और सभी पार्ट्स का वारंटी सर्टिफिकेट भी देती हैं। इसे सरकार और RTO से मंजूरी होती है।

Share This Now :
Continue Reading

AUTOMOBILE

छत्तीसगढ़ : ऑटोमोबाईल सेक्टर में उछाल, गत वर्ष की तुलना में नए वाहनों के पंजीयन में 17.17% हुई वृद्धि, सीएम भूपेश ने दी बधाई

Published

on

Demo Pic
Share This Now :

रायपुर : देश में कोरोना के कारण आर्थिक संकट के बावजूद हमारे छत्तीसगढ़ में इस वर्ष भी धनतेरस और दीपावली के दौरान ऑटोमोबाइल सेक्टर में अच्छा उछाल आया है। पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष दीपावली के दौरान प्रदेश में वाहनों के पंजीयन में 17.17 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है। कृषि क्षेत्र में उपयोग किए जाने वाले ट्रेक्टर, हार्वेस्टर, व्यवसायिक टेªक्टर की खरीदी बढ़ी है। साथ ही व्यक्तिगत उपयोग के वाहनों मोटर सायकल, माल वाहक वाहनों की खरीदी में भी अच्छा खासा इजाफा हुआ है।

परिवहन विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार इस वर्ष 2021 में दीपावली के दौरान 2 से 6 नवम्बर के बीच 13 हजार 706 वाहनों की खरीदी हुई, जबकि वर्ष 2020 में दीपावली के दौरान 12 से 16 नवम्बर के दौरान 11 हजार 697 वाहनों की खरीदी हुई थी। दीपावली के दौरान पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष खरीदे गए वाहनों के पंजीयन में 17.17 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

प्रदेश में वर्ष 2021 में दीपावली के दौरान 607 कृषि कार्य में उपयोग में लाए जाने वाले ट्रेक्टरों की खरीदी की गई, जबकि वर्ष 2020 में दीपावली के दौरान 242 ट्रेक्टरों की खरीदी की गई थी। इसी प्रकार वर्ष 2021 में 9 हार्वेस्टरों और 18 कमर्शियल ट्रेक्टरों की खरीदी हुई, जबकि पिछले वर्ष मात्र 01 हार्वेस्टर और 7 कमर्शियल ट्रेक्टरों की खरीदी हुई थी। इसी तरह वर्ष 2021 में 11 हजार 313 मोटर सायकल और स्कूटरों, 153 मोपेड की खरीदी हुई, जबकि वर्ष 2020 में दीपावली के दौरान 9 हजार 223 मोटर सायकल और स्कूटरों, 31 मोपेड वाहनों की खरीदी हुई थी। इसी तरह वर्ष 2021 में निजी उपयोग के लिए 13 ओमनी बस, 11 मैक्सी कैब, 10 मोटर कैब, 19 ई-रिक्शा, 05 ई-रिक्शा विथ कार्ड की खरीदी हुई। पिछले वर्ष 07 ओमनी बस, 01 मैक्सी कैब, 8 मोटर कैब, 13 ई-रिक्शा और 29 ई-रिक्शा विथ कार्ड की खरीदी की गई थी। इसके साथ ही साथ इस वर्ष 2021 में 1370 कार, 140 गुडस् कैरियर वाहन, 23 एक्सेवेटर की खरीदी की गई है।

advt_dec21
geeta_medical1
geeta_medical

Share This Now :
Continue Reading
Advertisement

Advertisement



Advertisement Sahni Amritsari Kulche

Chhattisgarh Trending News

राज्य एवं शहर40 mins ago

छत्तीसगढ़ : राज्यपाल ने श्रमिकों और सुरक्षा कर्मियों को कंबल वितरित किए 

रायपुर : राज्यपाल अनुसुईया उइके ने बढ़ते हुए ठंड को देखते हुए श्रमिकों, सुरक्षा कर्मियों तथा राजभवन के चतुर्थ श्रेणी...

CORONA VIRUS54 mins ago

छत्तीसगढ़ में आज कोरोना से 10 मरीजों की मौत, 4574 नए मामलों की पुष्टि, 5396 हुए ठीक ; रायपुर से 1208 और दुर्ग से 751 केस

रायपुर : छत्तीसगढ़ मे कोरोना की तीसरी लहर में रोज नए मामलों के बढ़त देखी जा रहीं हैं। इसी बीच...

Special News4 hours ago

लघु वनोपजों की खरीदी में छत्तीसगढ़ पूरे देश में अव्वल

तीन वर्षों में छत्तीसगढ़ हर्बल उत्पाद की बिक्री में 1090% का इजाफा लघु वनोपजों से संवर रहा है छत्तीसगढ़ के...

Special News4 hours ago

CG : पुलिस ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट राजनांदगांव को बेस्ट पुलिस ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट के लिए यूनियन होम मिनिस्ट्री ट्रॉफी

नई दिल्ली, रायपुर, राजनांदगांव : भारत सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ पुलिस को एक और पुरस्कार से नवाजा गया है । केंद्रीय...

दुखद4 hours ago

CG : विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत की बड़ी बहन संतरा महंत का निधन, CM बघेल ने गहरा दुख प्रकट किया

विधानसभा अध्यक्ष से फोन पर बात कर शोक संवेदना  प्रकट की रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने संतरा महंत के...

Advertisement

CONNECT WITH US :

राज्य एवं शहर5 days ago

छत्तीसगढ़ में प्राइवेट संस्थान, शासकीय और केंद्र शासित कार्यालयों के लिए Work From Home का आदेश जारी ; देखिए दिशा निर्देश

दुखद4 days ago

रायपुर की न्यूज एंकर महिमा शर्मा का दर्दनाक सड़क हादसे में निधन, भिलाई में टैंकर ने कुचला, CG मीडिया जगत में शोक की लहर

CORONA VIRUS6 days ago

छत्तीसगढ़ में आज 5000 से ज्यादा नए मरीज़ मिले, 483 रिकवरी, 4 मौतें ; सार्वाधिक रायपुर से 1454 और दुर्ग से 950 मामले

CORONA VIRUS4 days ago

CG : दुर्ग में साइंस कॉलेज के 14 प्रोफेसर समेत 20 संक्रमित ; बूस्टर डोज के बाद भी MLA भसीन को हुआ COVID ; 11 जवान भी पॉजिटिव

CORONA VIRUS5 days ago

CG में आज 5500 के करीब नए कोरोना मामले मिले, 1933 हुए ठीक, 4 मौत ; सबसे ज्यादा रायपुर से 1785 और दुर्ग से 800 केस

आस्था5 days ago

CG : ‘रायपुर के तेलीबांधा में जनसहयोग से मौली माता मंदिर का होगा पुनर्निर्माण’, माहपौर एजाज ढेबर से मिले समिति के सदस्य : VIDEO

CORONA VIRUS1 week ago

CG : दुर्ग जिले में कलेक्टर डॉ. एसएन भुरे ने बूस्टर डोज लगवाकर की वैक्सीनेशन अभियान की शुरूआत ; कहा-प्रिकाशन जरूरी : देखिए वीडियो

राजनीति1 week ago

CG : भिलाई नगर निगम के नवनिर्वाचित महापौर नीरज ने कहा, CM के भरोसे पर खरा उतरने की पूरी कोशिश करूंगा : देखिए वीडियो

Career1 week ago

CG : परीक्षा ऑनलाइन लेने सहित इन 3 मांगों को लेकर, NSUI ने आकाश कनोजिया के नेतृत्व में HYV दुर्ग में सौंपा ज्ञापन

राज्य एवं शहर3 weeks ago

छत्तीसगढ़ : बेमेतरा के नए एसपी धर्मेंद्र सिंह ने कड़कती ठंड में जरूरतमंद गरीबों को कंबल का वितरण करवाया

Top 10 News

Must Read

Special News1 day ago

CG : राजनांदगांव में जन्मा तीन आंखों वाला बछड़ा, ग्रामीणों ने बताया शिव का अवतार ; वेटरनरी डॉक्टर बोले हार्मोनल डिसॉर्डर

राजनांदगांव : छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले में एक गाय का बछड़ा तीन आंखों की वजह से लोगों के लिए कौतूहल...

Special News2 days ago

CG : साइना नेहवाल को हराने वाली मालविका को दुर्ग की आकर्षी कश्यप ने इंडिया ओपन बैडमिंटन चैंपियनशिप में किया पराजए

दुर्ग : छत्तीसगढ़ के दुर्ग की बैडमिंटन खिलाड़ी आकर्षी कश्यप ने नई दिल्ली में चल रहे इंडिया ओपन बैडमिंटन चैंपियनशिप...

Special News2 days ago

CG : कोरोना के साय तले नन्हीं जिंदगी का आगमन ; डॉक्टर्स की टीम ने कोरोना संक्रमित महिला का किया सफलता पूर्वक प्रसव ; दोनों स्वस्थ

राजनांदगांव : सुदूर वनांचल क्षेत्र मानपुर विकासखंड के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मानपुर में डॉक्टरों की टीम ने कोरोना पॉजिटिव महिला...

Special News2 days ago

CG : दुर्ग की निवेदिता शर्मा का भारतीय वायुसेना में फ्लाइंग ऑफिसर पद पर हुआ चयन ; कर्नल से मिलकर एयरफोर्स में जाने का बनाया था मन

दुर्ग : दुर्ग जिले की 21 वर्षीय बेटी निवेदिता शर्मा का बचपन से एक ही सपना था कि वह आसमान...

Special News2 days ago

74वां सेना दिवस : PM-राष्ट्रपति ने शुभकामनाएं दीं, आर्मी चीफ नरवणे बोले- 300-400 आतंकी घुसपैठ की ताक में

National Desk : आज 74वां भारतीय थल सेना दिवस है। इस अवसर पर दिल्ली के करियप्पा परेड ग्राउंड में परेड...

Advertisement

Trending