Connect with us

व्यापार

पेंशन के नियमों के बदलाव की तैयारी में सरकार, जानिए कैसे होगा आपको और ज्यादा फायदा

Published

on

Symbolic Photo
Share This Now :

सरकार PFRDA कानून में बदलाव करना चाहती है. इसका मकसद रेग्युलेटर को ज्यादा शक्ति प्रदान करना है. माना जा रहा है कि नए नियम के तहत NPS स्कीम के अंतर्गत रिटायरमेंट फंड से निकासी की सीमा 60 फीसदी से बढ़ाई जा सकती है.


Business Desk : सरकार पेंशन के नियमों में बदलाव की तैयारी में पूरी तरह जुट गई है. नए नियम के तहत PFRDA (पेंशन फंड रिग्युलेटर एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी) को यह अधिकार होगा कि वह अपने अपने सब्सक्राइबर्स को ज्यादा फ्लेक्सिबिलिटी प्रदान करे. नए नियम के लागू होने के बाद पेंशन फंड से निकासी संबंधी नियमन आसान हो जाएंगे.

इस बिल को लेकर कमिटी ऑफ सेक्रेटरीज की महीनों से चर्चा हो रही है. माना जा रहा है कि नए नियम में नेशनल पेंशनल सिस्टम ट्रस्ट को भी PFRDA से अलग कर दिया जाएगा. इस बिल का मकसद रेग्युलेटर को ज्यादा शक्ति प्रदान करना है. उसे पेनाल्टी वसूलने को लेकर भी अधिकार होगा. साथ ही वह इस बात को भी ध्यान रखेगा कि इंश्योरेंस सेक्टर के लिए फॉरन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट यानी FDI 74 फीसदी से ज्यादा नहीं हो.

NPS को ज्यादा आकर्षक बनाने की तैयारी

geeta_medical1
geeta_medical

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, सरकार इस बदलाव की मदद से NPS यानी नेशनल पेंशन सिस्टम को ज्यादा अट्रैक्टिव बनाना चाहती है. इसमें एनपीएस सब्सक्राइबर्स के पास निकासी को लेकर अधिक विकल्प दिए जाएंगे. वर्तमान नियम के मुताबिक एनपीएस सब्सक्राइबर रिटायरमेंट के समय कॉर्पस का अधिकतम 60 फीसदी ही एकसाथ निकासी कर सकता है. बकाया 40 फीसदी उसे एन्युनिटी में डालना होता है जिससे मंथली इनकम आती है.

एन्युनिटी को लेकर मिलेंगे बेहतर और ज्यादा विकल्प

रिपोर्ट के मुताबिक अभी अन्य विकल्पों पर फैसला नहीं लिया गया है, लेकिन यह संभव है कि PFRDA ऐसी स्कीम पर काम करे जिसमें इंफ्लेशन इंडेक्स को शामिल किया जाए. वर्तमान में EPFO की तरफ से भी पेंशन स्कीम चलाई जाती है. रिपोर्ट में कहा गया है कि नियमन में बदलाव के बाद PFRDA ईपीएफओ पेंशन स्कीम को रेग्युलेट नहीं करेगी.

अभी NPS से निकासी को लेकर क्या है नियम

वर्तमान नियमन के मुताबिक, अगर किसी एनपीएस सब्‍सक्राइबर्स का फंड रिटायरमेंट तक 2 लाख रुपए या इससे ज्‍यादा है तो उनके लिए इंश्‍योरेंस कंपनियों से एन्‍युटी खरीदना अन‍िवार्य है. सब्‍सक्राइबर्स रिटायरमेंट फंड से अधिकतम 60 फीसदी ही एकमुश्त निकाल सकता है. बाकी बचे 40 फीसदी से एन्‍युटी खरीदना जरूरी है. एनपीएस सब्‍सक्राइबर्स पूरी अवधि के दौरान केवल तीन बार ही निकासी कर सकते हैं. इस तरह की सभी निकासी इनकम टैक्‍स फ्री है.

 

Share This Now :

राज्य एवं शहर

छत्तीसगढ़ : RDA ने बांबे मार्केट की 2 दुकानों को बेचा

Published

on

Share This Now :

रायपुर : सिस्टम पर चल रहे बांबे मार्केट की दो दुकानों को आरडीए ने बेच दिया है। शनिवार को यहां काबिज किरायदारों को बेदखल किया गया। खरीदारों को दुकान की चाबी भी सौंप दी गई। आरडीए अफसरों का कहना है कि इन कारोबारियों को दो बार अवसर दिया गया, लेकिन इन्होंने टेंडर में भाग नहीं लिया। इसके बाद टेंडर में शामिल अन्य कारोबारियों को मौका दिया गया । दुकानों की रजिस्ट्री उनके नाम पर की गई । आरडीए ने दुकान नंबर डी-3 और डी-4 को खाली करने के लिए किरायेदारों को नोटिस जारी किया था। आरडीए बॉम्बे मार्केट में 6 बड़े हॉल और 46 दुकानों को बेचने जा रहा है। दुकानों का क्षेत्रफल 102 से 444 वर्गफुट तक है।

Share This Now :
Continue Reading

देश-विदेश

नहीं है फोन या UPI एड्रेस! तो अब Aadhaar Number से भेजें पैसा, ऐसे होगा पूरा काम

Published

on

Share This Now :

नई दिल्ली : आधार भारत के सबसे महत्वपूर्ण दस्तावेजों में से एक है। आपने आधार कार्ड का इस्तेमाल कई सरकारी और प्राइवेट कामों में एक जरूरी दस्तावेज के रूप में तो जरूर किया ही होगा, लेकिन अब आधार कार्ड नंबर से पेमेंट भी कर सकेंगे। अब आप सोच रहें होंगे कैसे, तो चलिए बताते हैं….

दरअसल, UIDAI ने खुलासा किया है कि BHIM यूजर आधार कार्ड नंबर का उपयोग करके ऐसे लोगों को पैसे भेज सकेंगे जिनके पास फोन या यूपीआई एड्रेस नहीं है।

जी हां, भीम उपयोगकर्ता प्राप्तकर्ताओं के आधार कार्ड नंबर का उपयोग करके पैसे भेज सकते हैं। कोरोनावायरस महामारी के प्रकोप ने भारत में डिजिटल वित्तीय लेनदेन को बड़े पैमाने पर बढ़ावा दिया है। शिक्षा से लेकर किराने का सामान खरीदने और हर तरह के भुगतान करने तक, लगभग सब कुछ डिजिटल हो गया है। हालांकि, कुछ लोगों को इसका लाभ नहीं मिल पाया है। उदाहरण के लिए, ऐसे लोग हैं जिनके पास कोई स्मार्टफोन या यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई) एड्रेस नहीं है, जिसके कारण उन्हें पैसे भेजना मुश्किल हो जाता है। इस समस्या को हल करने के लिए, भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने खुलासा किया है कि जो लोग भीम (भारत इंटरफेस फॉर मनी) का उपयोग करते हैं, वे बिना फोन या यूपीआई एड्रेस वाले प्राप्तकर्ताओं को आधार नंबर का उपयोग करके पैसे भेज सकते हैं। है ना कमाल की सुविधा, चलिए जानते हैं कैसे होगा पूरा काम…

geeta_medical1
geeta_medical

यह ध्यान दिया जा सकता है कि भीम एक यूपीआई बेस्ड पेमेंट इंटरफ़ेस है और आपके मोबाइल नंबर या नाम जैसी एकल पहचान का उपयोग करके रियल टाइम फंड ट्रांसफर की अनुमति देता है। UIDAI के अनुसार, BHIM में लाभार्थी के एड्रेस में आधार नंबर का उपयोग करके पैसे भेजने का विकल्प दिखाई देता है। यदि आप एक भीम उपयोगकर्ता हैं और आधार नंबर का उपयोग करके पैसे भेजने चाहते हैं तो आपको यह जानने की आवश्यकता है:

भीम में आधार नंबर का इस्तेमाल कर पैसे भेजने का तरीका क्या है?
आधार नंबर का उपयोग करके पैसे भेजने या ट्रांसफर करने के लिए, एक भीम उपयोगकर्ता को लाभार्थी की 12 अंकों का यूनिक आधार नंबर दर्ज करना होगा और वेरिफाई बटन दबाना होगा।

इसके बाद, सिस्टम आधार लिंकिंग को वेरिफाई करेगा और लाभार्थी के एड्रेस को पॉप्युलेट करेगा और उपयोगकर्ता यूआईडीएआई द्वारा प्रदान की गई जानकारी के अनुसार पैसे भेज सकेगा।

पैसा प्राप्तकर्ता के किस खाते में क्रेडिट होगा?

यूआईडीएआई के अनुसार, डीबीटी/आधार आधारित क्रेडिट प्राप्त करने के लिए उसके द्वारा चुने गए प्राप्तकर्ता के बैंक खाते में पैसा ट्रांसफर होने पर क्रेडिट हो जाएगा। साथ ही, भुगतान प्राप्त करने के लिए आधार पे पीओएस का उपयोग करने वाले व्यापारियों को डिजिटल भुगतान करने के लिए आधार नंबर और फ़िंगरप्रिंट का उपयोग किया जा सकता है।

यदि किसी व्यक्ति के 1 से अधिक बैंक में खाते हैं और सभी खाते आधार से जुड़े हैं तो ऐसी स्थिति में सभी खातों का उपयोग डिजिटल भुगतान करने के लिए किया जा सकता है।

यूआईडीएआई के अनुसार, “आधार आधारित भुगतान करते समय, आपको उस बैंक का नाम चुनने का विकल्प दिया जाएगा जिससे आप भुगतान करना चाहते हैं। इस प्रकार, आपके पास हर बार भुगतान करने पर बैंक को तय करने का विकल्प होता है।” साथ ही आधार पे के माध्यम से भुगतान करते समय आपका खाता ऑनलाइन/तुरंत डेबिट हो जाएगा।

Share This Now :
Continue Reading

व्यापार

जनधन योजना में बदलाव कर सकती है सरकार, जानें क्या है प्लान

Published

on

Share This Now :

नई दिल्ली : सरकार एक बार फिर जनधन योजना में बदलाव करने की तैयारी कर रही है। इसका सीधा फायदा आम लोगों को होगा। सरकार की योजना है कि लोगों के घर तक बैंक पहुंचे। इसके लिए बकायदा रोड मैप तैयार कर लिया गया है।

क्या है सरकार का प्लान 

इकोनाॅमिक्स टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार सरकार जनधन योजना 3.0 के तहत डोर स्टेप की सुविधा लोगों को देना चाहती है। साथ ही सरकार प्रयास कर रही है कि 5 किलोमीटर के अंदर एक बैंक हो। जिससे लोगों को बहुत भागदौड़ ना करनी हो। इसके अलावा सरकार का प्रयास है कि डिजिटल लोन के अप्रूवल में तेजी आए।

geeta_medical1
geeta_medical

जनधन योजना के फायदे 

जनधन खाता फ्री में खोला जाता है और इसमें कोई मिनिमम बैलेंस नहीं रखना पड़ता है।
6 महीने बाद ओवरड्राफ्ट सुविधा मिलती है। ओवरड्राफ्ट की सीमा10,000 रुपये
बिना किसी शर्त 2,000 रुपये तक ओवरड्राफ्ट की सुविधा दी गई है।
जनधन खाता खोलने वाले को रुपे डेबिट कार्ड दिया जाता है, जिससे वह खाते से पैसे निकलवा सकता है या खरीददारी कर सकता है
28 अगस्त 2018 के बाद खोले गए खातों के लिए रुपे कार्ड पर मुफ्त आकस्मिक बीमा कवर।
2 लाख रुपये तक एक्सिडेंटल इंश्योरेंस कवर मिलता है।
30,000 रुपये तक का लाइफ कवर, जो लाभार्थी की मृत्यु पर योगयता शर्तें पूरी होने पर मिलता है।
देश भर में पैसों के ट्रांसफर की सुविधा दी जाती है।
सरकारी योजनाओं के फायदों का सीधा पैसा खाते में आता है।
खाते में जमा राशि पर ब्याज मिलता है।
खाते के साथ फ्री मोबाइल बैंकिंग की सुविधा भी दी जाती है।
जनधन खाते के जरिए बीमा, पेंशन प्रोडक्ट्स खरीदना आसान है।
जनधन खाता है तो पीएम किसान और श्रमयोगी मानधन जैसी योजनाओं में पेंशन के लिए खाता खुल जाएगा।

Share This Now :
Continue Reading

Video Advertisment

Advertisement



Advertisement Sahni Amritsari Kulche

Chhattisgarh Trending News

CORONA VIRUS36 mins ago

Omicron Variant : केंद्र से भेजी जाएगी प्रभावित देशों से छत्तीसगढ़ आए नागरिकों की सूची, सेल रखेगी सैंपल पर नजर

रायपुर : कोरोना का नया वैरिएंट जिन देशों में मिला है, वहां से लौटने वालों की सूची केंद्र सरकार से...

Career1 hour ago

छत्तीसगढ़ : ढीले-ढाले DEO हटाए जाएंगे अब जिलों की ग्रेडिंग रोज होगी

रायपुर : स्कूल शिक्षा विभाग में अब डीईओ के कामकाज पर रोज नजर रखी जाएगी। इसके लिए एक फार्मेट बनाया...

CORONA VIRUS2 hours ago

विदेश से लौटने के बाद पॉजिटिव हुए तो मरीज में नए वैरिएंट की होगी जांच, CG स्वास्थ्य विभाग ने नए खतरे से निपटने बनाया सिस्टम

रायपुर : राजधानी में नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर अलर्ट जारी कर दिया गया है। वैरिएंट की एडवांस जांच के...

राज्य एवं शहर2 hours ago

छत्तीसगढ़ : RDA ने बांबे मार्केट की 2 दुकानों को बेचा

रायपुर : सिस्टम पर चल रहे बांबे मार्केट की दो दुकानों को आरडीए ने बेच दिया है। शनिवार को यहां...

CORONA VIRUS17 hours ago

छत्तीसगढ़ में बीते 24 घंटे में 27 नए मामले आए सामने, 20 हुए रिकवर : देखिए किस जिले से मिले सबसे ज्यादा संक्रमित

रायपुर : छत्तीसगढ़ मे आज 27 नए कोरोना संक्रमित मरीज मिले। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी मेडिकल बुलेटिन के अनुसार बीते...

Advertisement

CONNECT WITH US :

Top 10 News

Must Read

Special News21 hours ago

छत्तीसगढ़ ने बनाया एक और कीर्तिमान, ‘समावेशी विकास’ में देश के 5 बड़े राज्यों में नाम शामिल

रायपुर : छत्तीसगढ़ ने देश के बड़े राज्यों के बीच एक नया कीर्तिमान बनाया है। एक सर्वे के अनुसार समावेशी...

Special News3 days ago

CG : नीति आयोग द्वारा सतत् विकास लक्ष्य शहरी इंडेक्स जारी  रायपुर नगरीय क्षेत्र फ्रंट रनर, मुंबई एवं हैदराबाद जैसे महानगरों को पीछे छोड़ा

रायपुर : नीति आयोग द्वारा 23 नवम्बर 2021 को जारी ’’सतत् विकास लक्ष्य शहरी इंडेक्स’’ में छत्तीसगढ़ राज्य के रायपुर...

Special News5 days ago

छत्तीसगढ़ मॉडल की हो रही देश में चर्चा : सीएम भूपेश बघेल : देश में स्वच्छता का सिरमौर बना CG, स्वच्छता के लिए 6 R पॉलिसी पर हो रहा काम

मुख्यमंत्री ने स्वच्छता के हैट्रिक महोत्सव में नगरीय निकायों, स्वच्छता दीदीयों को किया सम्मानित रायपुर : मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने...

Special News6 days ago

राष्ट्रपति ने बालाकोट स्ट्राइक के हीरो रहे अभिनंदन वर्धमान को किया वीर चक्र से सम्मानित, गिराया था पाक का F-16 लड़ाकू विमान

नई दिल्ली : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के हाथों बालाकोट स्ट्राइक के हीरो रह अभिनंदन वर्धमान ने वीर चक्र सम्मान प्राप्त...

Special News1 week ago

छत्तीसगढ़ : सशस्त्र बल के जवानों द्वारा खारून नदी के तट रिवर फ्रंट व्यू में चलाया गया सफाई अभियान

रायपुर, दुर्ग : छठ पूजा पुन्नी मेला के अवसर पर श्रद्धालुओं द्वारा की गई पूजा से नदी में पूजन सामग्री...

Advertisement

Trending