Connect with us

देश-विदेश

Uttrakhand : राज्‍यपाल से मिलने जा रहे हैं सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत, दे सकते हैं इस्‍तीफा

Published

on

Share This Now :

Uttarakhand CM Trivendra Singh Rawat: उत्‍तराखंड में मचा सियासी तूफान पटाक्षेप के करीब पहुंच गया है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत प्रदेश की राज्यपाल बेबी रानी मौर्या से मिलने जा रहे हैं और बताया जा रहा है कि उन्हें अपना इस्तीफा सौंप देंगे। इसके बाद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत एक प्रेस कॉन्फ्रेंस भी करेंगे, जिसमें वह इस्तीफा देने की आधिकारिक घोषणा कर सकते हैं।

प्रदेश सरकार में उच्च शिक्षा मंत्री और श्रीनगर से बीजेपी विधायक धन सिंह रावत मुख्यमंत्री पद की रेस में सबसे आगे बताए जा रहे हैं। इसके अलावा एक उपमुख्यमंत्री बनाए जाने की भी चर्चा है। इसके लिए खटीमा से बीजेपी विधायक पुष्कर सिंह धामी का नाम आगे चल रहा है।

आज रात तक केंद्रीय पर्यवेक्षक रमन सिंह और दुष्यंत गौतम के देहरादून पहुंचने की उम्मीद है। इसके बाद कल या परसों उत्तराखंड बीजेपी विधायक दल की बैठक में नए मुख्यमंत्री का फैसला औपचारिक रूप से होगा।

बताया जा रहा है कि केंद्रीय नेतृत्व ने त्रिवेंद्र सिंह रावत को मुख्यमंत्री पद से हटाने का फैसला पर्यवेक्षकों की रिपोर्ट के आधार पर लिया है। पर्यवेक्षकों ने कोर ग्रुप और प्रमुख विधायकों-सांसदों की राय के आधार पर केंद्रीय नेतृत्व ने को बताया है कि राज्य में अगले साल होने वाले चुनाव को लेकर स्थिति बहुत अच्छी नहीं है। इसके बाद से ही राज्य में नेतृत्व परिवर्तन की भूमिका तैयार हो गई थी।

सोमवार देर शाम जब त्रिवेंद्र सिंह रावत ने दिल्ली में बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी, तो उन्हें इस बारे में सूचित कर दिया गया था। दिल्ली में केंद्रीय नेतृत्व से मुलाकात के बाद रावत मंगलवार दोपहर देहरादून पहुंचे।

इनका नाम चल रहा है आगे

राज्य के अगले मुख्यमंत्री के रूप में धन सिंह रावत के अलावा सांसद अनिल बलूनी और नैनीताल से लोकसभा सांसद अजय भट्ट भी दावेदार बताए जा रहे हैं। इसके अलावा सतपाल महाराज का नाम भी रेस मे शामिल है। उन्होंने हाल ही में संघ के प्रणुख नेताओं से इस सिलसिले में मुलाकात की थी।

इस वजह से लिया फैसला

सूत्रों की मानें तो पार्टी के विधायकों ने उत्तराखंड पहुंच पर्यवेक्षकों के सामने यह आशंका जताई थी कि यदि त्रिवेंद्र सिंह रावत मुख्यमंत्री रहे तो पार्टी अगला चुनाव हार सकती है। दिल्ली से विशेषतौर से भेजे गए पर्यवेक्षक रमन सिंह की अध्यक्षता में हुई कोर कमेटी की बैठक के बाद सिंह ने अपनी रिपोर्ट पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को सौंपी थी। सूत्रों के अनुसार, उत्तराखंड में असंतुष्ट नेताओं सहित बेलगाम होती ब्यूरोक्रेसी सहित मंत्रिमंडल विस्तार में देरी बातों का उल्लेख किया गया है। रिपोर्ट के आधार पर ही सीएम त्रिवेंद्र के भाग्य का फैसला हुआ है।

सिर्फ एनडी तिवारी पूरा कर पाए हैं कार्यकाल

उत्‍तराखंड की सियासत का मिजाज ही कुछ ऐसा है कि यहां किसी मुख्‍यमंत्री का पांच साल तक बने रहना मुश्किल हो जाता है। अभी तक नारायण दत्‍त तिवारी को छोड़कर किसी मुख्‍यमंत्री ने अपना कार्यकाल पूरा नहीं किया। भाजपा के तो किसी मुख्‍यमंत्री ने नहीं। वैसे राज्य की सत्ता में भाजपा तीसरी बार आई है, लेकिन मुख्‍यमंत्री कई बदल चुके हैं।

उत्‍तराखंड राज्‍य का गठन वर्ष 2000 में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहार वाजपेयी की सरकार के कार्यकाल में हुआ था।

उत्तर प्रदेश से अलग होने पर उत्तराखंड में भाजपा की सरकार बनी लेकिन दो साल में ही राज्‍य ने दो मुख्यमंत्री देखे। नित्‍यानंद स्‍वामी राज्‍य के पहले मुख्‍यमंत्री थे। उन्‍होंने 9 नवंबर 2000 को शपथ ली थी लेकिन एक साल भी ही उन्‍हें कुर्सी से हटना पड़ा। उनके खिलाफ भाजपा नेताओं ने मोर्चा खोल दिया था। 29 अक्टूबर 2001 को उन्होंने सीएम पद से इस्तीफा दे दिया। नित्यानंद के इस्तीफा देने के के बाद भाजपा ने भगत सिंह कोश्यारी को कमान सौंपी।

भगत सिंह कोश्यारी ने 30 अक्टूबर 2001 को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली लेकिन वह भी अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर सके। एक मार्च 2002 तक ही वह अपनी कुर्सी पर रहे। साल-2002 का चुनाव भाजपा भगत सिंह कोश्यारी की अगुवाई में लड़ी। पार्टी को इस चुनाव में हार का मुंह देखना पड़ा। सत्‍ता कांग्रेस के हाथ लगी। भगत सिंह कोश्यारी सिर्फ 123 दिन ही मुख्यमंत्री पद पर रह सके।

कांग्रेस ने नारायण दत्‍त तिवारी को मुख्‍यमंत्री बनाया। नारायण दत्‍त तिवारी उत्‍तराखंड के अकेले ऐसे मुख्‍यमंत्री रहे जिन्‍होंने साल-2002 से 2007 तक अपना कार्यकाल पूरा किया। साल-2007 के चुनाव में कांग्रेस की हार हुई। राज्‍य की सत्‍ता में एक बार फिर भाजपा की वापसी हुई। वर्ष- 2007 से 2012 के बीच अपने पांच साल के कार्यकाल में भाजपा ने उत्तराखंड में तीन बार मुख्यमंत्री बदले। 2007 में सत्ता वापसी के बाद भाजपा ने आठ मार्च 2007 को भुवन चन्द्र खंडूरी को सीएम बनाया। वह 23 जून 2009 तक ही इस पद रह सके। उनके बाद भाजपा ने रमेश पोखरियाल निशंक को सत्ता की कमान सौंपी। निशंक ने 24 जून 2009 को सीएम बने लेकिन चार महीने बाद ही उनकी कुर्सी चली गई। 10 सितम्बर 2011 को निंशक को भाजपा ने भुवन चन्द्र खंडूरी को दोबारा सीएम बना दिया। वर्ष-2012 का चुनाव खंडूरी के नेतृत्‍व में लड़ा गया लेकिन सत्‍ता में भाजपा की वापसी नहीं हो सकी।

कांग्रेस ने भी बीच में बदले मुख्‍यमंत्री 

2012 के चुनाव में कांग्रेस की पूर्ण बहुमत की सरकार बनी लेकिन पांच साल में दो बाद सीएम बदले गए। 13 मार्च 2012 को विजय बहुगुणा तो दो साल बाद एक फरवरी 2014 को हरीश रावत ने सीएम पद की शपथ ली। हरीश रावत को भी अपनों की राजनीति का सामना करते रहा पड़ा। कांग्रेसी विधायकों की बगावत के चलते वर्ष-2016 में राज्‍य में राष्‍ट्रपति शासन लग गया। हालांकि बाद बाद में कोर्ट से राहत मिल गिर और दोबारा से सत्ता में वापसी हुई। वर्ष-2017 के चुनाव में भाजपा ने कांग्रेस को हरा दिया। राज्‍य की सत्‍ता में प्रचंड बहुमत से भाजपा की वापसी हुई। 18 मार्च 2017 को त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। लेकिन चार साल बाद अब उनके खिलाफ पार्टी में विधायकों का एक धड़ा आवाज उठा रहा है।

Share This Now :
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

देश-विदेश

CM बघेल की पहल पर छत्तीसगढ़ और ओडिशा के पुलिस अधिकारियों की होगी उच्चस्तरीय बैठक, गांजा तस्करी को रोकने के लिए तैयार होगी कार्ययोजना

Published

on

Share This Now :

24 घंटे निगरानी के लिए सीसीटीवी कैमरे और पुलिस जवान होंगे तैनात  

मुख्यमंत्री ने राज्य के पुलिस महानिदेशक और विशेष पुलिस महानिदेशक नक्सल आपरेशन को तत्काल कार्यवाही के दिये निर्देश

सीमावर्ती जिलों में बनेंगे स्थाई चेक पोस्ट


रायपुर : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने ओडिशा राज्य से गांजा तस्करी को रोकने के लिए ओडिशा और छत्तीसगढ़ के पुलिस अधिकारियों की उच्च स्तरीय संयुक्त बैठक आहूत करने के निर्देश दिए हैं।

उन्होंने गांजा तस्करी को रोकने के लिए ठोस कार्ययोजना बनाने और सीमावर्ती चेक पोस्ट में सी.सी.टी.वी कैमरे की व्यवस्था के साथ ही चौबीस घंटे निगरानी के लिए पुलिस बल तैनात करने को कहा है।

मुख्यमंत्री ने राज्य के पुलिस महानिदेशक और विशेष पुलिस महानिदेशक नक्सल आपरेशन को इस संबंध में तत्काल आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ के सभी सीमावर्ती जिलों में जिनकी सीमाएं ओडिशा राज्य से लगती हैं वहां के कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक को स्थाई अधोसंरचना और चेक पोस्ट बनाने को कहा है। इन स्थानों में सी.सी.टीवी कैमरा की व्यवस्था के साथ ही 24 घंटे पुलिस बल तैनात रहेंगे और निगरानी करेंगे।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने राज्य के पुलिस महानिदेशक और विशेष पुलिस महानिदेशक नक्सल आपरेशन को तत्काल इस दिशा में पहल करते हुए आवश्यक समन्वय सुनिश्चित करने को कहा है। छत्तीसगढ़ और ओडिशा के पुलिस अधिकारियों की उच्च स्तरीय बैठक में छत्तीसगढ़ के पुलिस महानिदेशक और पुलिस महानिरीक्षक इंटेलिजेंस के साथ-साथ सीमावर्ती जिले के पुलिस अधीक्षक और ओडिशा पुलिस के उच्चाधिकारी शामिल होंगे।

Share This Now :
Continue Reading

देश-विदेश

केरल में भारी बारिश से तबाही, अब तक 21 की मौत, पीएम मोदी ने विजयन को दिया मदद का भरोसा

Published

on

Share This Now :

तिरुवनन्तपुरम : केरल में हो रही भारी बारिश लोगों के लिए जानलेवा साबित हो गई है। कई शहरों में बाढ़ जैसी स्थिति हो गई है। जानकारी के अनुसार, कोक्कायार में बीते दिन हुए भूस्खलन के बाद आज तीन शव बरामद हुए हैं। इसी के साथ राज्य में अब तक 21 लोगों की मौत हो गई है और 20 से अधिक लोग लापता हैं। मरने वालों में 13 लोग कोट्टायम और आठ लोग इडुक्की के बताए जा रहे हैं।

इस बीच पीएम नरेंद्र मोदी ने केरल के सीएम पिनाराई विजयन से बात की। दोनों के बीच भारी बारिश और भूस्खलन के मद्देनजर स्थिति पर चर्चा की। पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि घायलों और प्रभावितों की सहायता के लिए जमीन पर काम किया जा रहा है। मैं सभी की सुरक्षा और कल्याण के लिए प्रार्थना करता हूं। उन्होंने लिखा, ”यह दुखद है कि केरल में भारी बारिश और भूस्खलन के कारण कुछ लोगों की जान चली गई है। शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना।”

रेस्क्यू के लिए सेना को तैनात किया गया है। भारी बारिश को देखते हुए पातनमथिट्टा, कोट्टायम, एनार्कुलम, इडुक्की, त्रिशूर जिले में रेड अलर्ट जारी किया गया है। जबकि तिरुवनंतपुरम, कोल्लम, अलापुझा, पलक्कड़, मलप्पुरम, कोझिकोड और वायनाड जिले के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

केरल के बाढ़ में अब तक 21 लोगोंं की मौत और 20 घायल
केरल में भारी बारिश के कारण मरने वालों की संख्या 21 हो गई है। कोट्टायम में जहां 13 लोगों की मौत हुई है वहीं इडुक्की में आठ लोगों ने जान गंवाई है। राज्य सूचना एवं जनसंपर्क विभाग ने इसकी जानकारी दी है। वहीं, 20 लोगों के लापता होने की भी खबर है।

105 राहत शिविर स्थापित किए गए: सीएम विजयन
राज्य में हो रही भारी बारिश पर केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने कहा कि लोगों को बारिश से बचने के लिए सभी सावधानियां बरतने का अनुरोध किया गया है। पूरे राज्य में 105 राहत शिविर स्थापित किए गए हैं और अधिक शिविर शुरू करने की व्यवस्था की गई है।

एनडीआरएफ की 11 टीमें तैनात 
सीएमओ ने कहा कि पातनमिथिट्टा, कोट्टायम, एनार्कुलम, इडुक्की, त्रिशूर औल अलापुझा जिले में एनडीआरफ की 11 टीमें तैनात कर दी गई हैं। तिरुवनंतपुरम और कोट्टायम में सेना की दो टीमें तैनात करने को कहा गया है। आपातकालीन की स्थिति में एयरफोर्स को स्टैंडबाय मोड में रहने को कहा गया है। वहीं NDRF की एक टीम भारी बारिश से प्रभावित एर्नाकुलम के मुवात्तुपुझ्हा पहुंची और बचाव अभियान शुरू किया।

केंद्र सरकार हरसंभव मदद करेगी: अमित शाह
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि भारी बारिश और बाढ़ के मद्देनजर केरल के कुछ हिस्सों में स्थिति पर लगातार नजर रखी जा रही है। केंद्र सरकार जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए हर संभव मदद करेगी।

एर्नाकुलम जिले के मुवत्तुपुझा नदी में बढ़ा जलस्तर
केरल के एर्नाकुलम जिले के मुवत्तुपुझा नदी में भारी बारिश के बाद जलस्तर बढ़ गया। आज भारतीय मौसम विभाग ने एर्नाकुलम जिले में येलो अलर्ट जारी किया है।

कोट्टायम में लापता लोगों की तलाश में जुटी सेना
केरल के कोट्टायम में लापता लोगों की तलाश के लिए सेना ने रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर दिया है।

राहत बचाव के लिए वायु सेना और भारतीय सेना तैनात
केरल में बाढ़ के मद्देनजर भारतीय वायु सेना और भारतीय सेना ने अपने जवानों को तैनात कर दिया है। वायुसेना के अनुसार एमआई-17 और सारंग हेलीकॉप्टर पहले से ही स्टैंडबाय मोड में हैं। केरल में मौजूदा मौसम की स्थिति को देखते हुए दक्षिणी वायु कमान के तहत सभी ठिकानों को हाई अलर्ट पर रखा गया है।

भूस्खलन में अब तक 20 से अधिक लोग लापता 
कोट्टायम में भूस्खलन के कारण 20 से अधिक लोग लापता हो गए। इस जगह पर पुलिस और अग्निशमन विभाग के कर्मी भी पहुंचने में नाकाम रहे। मौसम विभाग ने राज्य के कई और हिस्सों में भी बारिश का अनुमान जताया है।

सबरीमाला मंदिर जाने से बचने की अपील 
भारी बारिश को देखते हुए केरल में त्रावणकोर देवस्वोम बोर्ड ने भगवान अयप्पा के भक्तों से रविवार और सोमवार को पठानमथिट्टा जिले के सबरीमाला मंदिर में जाने से परहेज करने का आग्रह किया।

Share This Now :
Continue Reading

हादसा

MP के भोपाल में CG के जशपुर जैसा हादसा, दुर्गा विसर्जन जुलूस को तेज रफ्तार कार ने रौंदा, 4 घायल

Published

on

Share This Now :

भोपाल : मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में दुर्गा विसर्जन के जुलूस में एक तेज रफ्तार कार घुस गई। इसमें एक हेड कांस्टेबल सहित चार लोग घायल हो गये। यह घटना शनिवार देर रात बजरिया पुलिस थाना इलाके में भोपाल रेलवे स्टेशन के पास हुई।

शनिवार रात का वाकया
बजरिया पुलिस थाना प्रभारी उमेश यादव ने रविवार को बताया कि भोपाल रेलवे स्टेशन के पास सड़क पर शनिवार की रात करीब सवा ग्यारह बजे दुर्गा प्रतिमा विसर्जन का जुलूस निकल रहा था। जुलूस के बीच एक अज्ञात व्यक्ति ने तेज रफ्तार कार घुसा दी, जिससे चार लोगों को चोटें आई हैं। उन्होंने कहा कि इनमें से एक को गंभीर चोटें आई हैं और उसका इलाज एक अस्पताल में चल रहा है, हालांकि उसकी स्थिति खतरे से बाहर है।

लोगों के चिल्लाने से घबराया ड्राइवर
थाना प्रभारी ने बताया कि हादसे में वहां ड्यूटी पर मौजूद एक हेड कांस्टेबल के पांव पर भी यह कार चढ़ गई थी, जिससे उसे भी हल्की चोट आई है। यादव ने बताया कि जैसे ही यह कार जुलूस में घुसी, जुलूस में शामिल कथित तौर पर शराब पिये कुछ लोग उसे पकड़ने के लिए चिल्लाने लगे। इससे कार चालक घबरा गया और उसने अपने वाहन को तेजी से रिवर्स किया और उसके बाद मौके से वाहन सहित फरार हो गया।  उन्होंने कहा कि इस संबंध में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है और उसे पकड़ने के प्रयास जारी हैं।

वीडियो आया सामने
इस बीच, इस घटना का एक वीडियो सामने आया जिसमें कार तेज रफ्तार से रिवर्स होते हुए नजर आ रही है। जबकि लोग खुद को वाहन से बचाने की कोशिश कर रहे हैं।  घायलों में शामिल चतुरानन साहू (26) ने दावा किया कि भोपाल रेलवे स्टेशन के बाहर गुप्ता चाय स्टॉल के पास पहुंचने पर चांदबड़ दुर्गा उत्सव के जुलूस में स्लेटी (ग्रे) रंग की कार लोगों से टकराई।  उन्होंने कहा कि कार में दो अज्ञात लोग सवार थे। उनकी कार जुलूस में घुसी और लोगों से टकराई। इसके बाद वे वाहन को रिवर्स ले गये, जिससे कार ने फिर लोगों को टक्कर मारी और बादे में मौके से कार सहित चले गए।

Share This Now :
Continue Reading

Advertisement



Advertisement Sahni Amritsari Kulche

Chhattisgarh Trending News

Festival & Fastings8 hours ago

CG : रायपुर जिला प्रशासन ने Eid Milad Un Nabi के लिए जारी किया दिशानिर्देश, इन जुलूस, रैली सहित इन चीजों पर लगी पाबंदी

रायपुर : ईद मिलादुन्नबी को लेकर रायपुर जिला प्रशासन ने गाइडलाइन जारी की है। गाइडलाइन के अनुसार ईद मिलादुन्नबी के दौरान...

CORONA VIRUS8 hours ago

कोरोना : छत्तीसगढ़ में आज 16 नए मामले आए सामने, 14 मरीज़ हुए रिकवर ; देखिए जिलेवार आंकड़ा

रायपुर : छत्तीसगढ़ मे आज 16 नए कोरोना संक्रमित मरीज मिले। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी मेडिकल बुलेटिन के अनुसार बीते...

देश-विदेश8 hours ago

CM बघेल की पहल पर छत्तीसगढ़ और ओडिशा के पुलिस अधिकारियों की होगी उच्चस्तरीय बैठक, गांजा तस्करी को रोकने के लिए तैयार होगी कार्ययोजना

24 घंटे निगरानी के लिए सीसीटीवी कैमरे और पुलिस जवान होंगे तैनात   मुख्यमंत्री ने राज्य के पुलिस महानिदेशक और विशेष...

राज्य एवं शहर10 hours ago

CG : अंबिकापुर के मेडिकल कॉलेज में 4 नवजातों की मौत की वजह क्या? सरकार ने जांच के लिए भेजी टीम

सरगुजा : छत्तीसगढ़ के सरगुजा जिले में पिछले दो दिन के अंदर चार नवजात बच्चों की मौत हो चुकी है।...

राज्य एवं शहर10 hours ago

CG : CM बघेल ने मांझी, चालकी, पुजारी और जनजातीय समाज प्रमुखों के साथ किया भोजन

रायपुर : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल बादल एकेडमी के लोकार्पण के बाद परिसर में मांझी, चालकी, पुजारी और जनजातीय समाज...

Advertisement

CONNECT WITH US :

राज्य एवं शहर2 days ago

CG : जशपुर में तेज रफ्तार गांजे से भरी कार ने दुर्गा विसर्जन की झांकी में भीड़ को रौंदा, 1 की मौत, कई की हालत नाजुक

Country News Today Exclusive1 week ago

CG : तीसरी बटालियन के अधिकारी व जवानों द्वारा नहीं देखा जा सका नदी किनारे कचरों का ढेर, जुटकर किया गया सफाई अभियान

Special News1 week ago

CG में खुला राम वन गमन मार्ग, शंकर महादेवन के बोलो राम-राम गीत पर थिरक उठे CM, मानस मण्डली में बघेल ने स्वयं बजाया खंजरी : देखिए वीडियो

देश-विदेश2 weeks ago

VIDEO : UP पहुंचे CG के CM बघेल, पुलिस ने लखनऊ हवाई अड्‌डे पर रोका, विरोध में धरने पर बैठे CM भूपेश, सामान्य यात्री बस में कराया सफर

देश-विदेश2 weeks ago

छत्तीसगढ़ के CM बघेल दिल्ली AICC के प्रेस कॉन्फ्रेंस में UP सरकार पर लगाये कई गंभीर आरोप : देखिए वीडियो

Top 10 News

Must Read

Tech Gyan1 week ago

फोन हो गया चोरी? तो ऐसे ब्लॉक करें PAYTM अकाउंट, पूरा पैसा रहेगा सुरक्षित! ; देखिए स्टेप्स

National Desk : आज के समय से भारत में शायद ही कोई ऐसा स्मार्टफोन हो, जिसमें Paytm ना हो। नुक्कड...

Country News Today Exclusive1 week ago

CG : तीसरी बटालियन के अधिकारी व जवानों द्वारा नहीं देखा जा सका नदी किनारे कचरों का ढेर, जुटकर किया गया सफाई अभियान

अम्लेश्वर, दुर्ग : तीसरी वाहिनी के सेनानी धर्मेन्द्र सिंह (भापुसे) के निर्देशन में 02 अक्तूबर को स्वच्छ भारत अभियान के...

Special News1 week ago

CG में खुला राम वन गमन मार्ग, शंकर महादेवन के बोलो राम-राम गीत पर थिरक उठे CM, मानस मण्डली में बघेल ने स्वयं बजाया खंजरी : देखिए वीडियो

भारती बंधुओं ने कबीर के दोहे से बांधा समां, कबीर कैफे मुंबई की प्रस्तुति से झूम उठे दर्शक छत्तीसगढ़ के...

Special News2 weeks ago

E-कोर्ट के बेहतर प्रसार एवं क्रियान्वयन के लिए छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट को मिला सिल्वर अवार्ड

रायपुर : ई-कोर्ट प्रोजेक्ट के बेहतर प्रसार एवं क्रियान्वयन के लिए नेशनल इंफरमेशन सेंटर (एनआईसी) के डायरेक्टर जनरल की ओर...

Tech Gyan2 weeks ago

Reliance Jio Network Outrage : रिलायंस जियो का नेटवर्क हुआ डाउन, ट्विटर पर भड़का यूजर्स का गुस्सा

नई दिल्ली : देश की सबसे बड़ी टेलिकॉम ऑपरेटर कंपनी रिलायंस जियो (Reliance Jio) के यूजर्स को आज काफी परेशानी का सामना...

Advertisement

Trending