Saturday, September 30, 2023

हिंसा की आग में जला हरियाणा, दो पुलिसकर्मियों की मौत,नूंह और सोहना हुआ धुआं-धुआं, जानिए अब तक क्या क्या हुआ

हरियाणा के नूंह (मेवात) जिले में सोमवार दोपहर को हिंदू संगठनों की ओर से नूंह में ब्रजमंडल क्षेत्र की जलाभिषेक यात्रा के दौरान हिंसा हो गई। इस दौरान दो गुट के बीच पथराव हो गया। सबसे पहले हिंसा नूंह के खेड़ला चौक के पास सोमवार दोपहर करीब डेढ़ बजे शुरू हुई जब विशेष समुदाय के दो सौ से अधिक युवकों ने हमला बोल दिया।

हिंसा की आग में जला हरियाणा, दो पुलिसकर्मियों की मौत; नूंह और सोहना हुआ धुआं-धुआं; जानिए अब तक क्या-क्या हुआ?

नूंह(मेवात)/गुरग्राम, ऑनलाइन डेस्क। हरियाणा के नूंह (मेवात) जिले में सोमवार दोपहर को हिंदू संगठनों की ओर से नूंह में ब्रजमंडल क्षेत्र की जलाभिषेक यात्रा के दौरान हिंसा हो गई। इस दौरान दो गुट के बीच पथराव हो गया। सबसे पहले हिंसा नूंह के खेड़ला चौक के पास सोमवार दोपहर करीब डेढ़ बजे शुरू हुई, जब विशेष समुदाय के दो सौ से अधिक युवकों ने हमला बोल दिया। यात्रा में बजरंग दल, विश्व हिंदू परिषद (VHP) और अन्य हिंदू संगठनों के लोग भी शामिल थे।

इस तरह शुरू हुआ बवाल

बवाल उस समय हुआ, जब नूंह के नलहड़ स्थित शिवमंदिर में जलाभिषेक करने के बाद यात्रा गांव सिंगार कर ओर जा रही थी। उग्र भीड़ ने लोगों पर पत्थर बरसाने के साथ-साथ उनके वाहनों आग लगानी शुरू कर दी। लाठी-डंडे से वार कर वाहन क्षतिग्रस्त किए जाने लगे।

बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद की ओर से लोगों को यात्रा में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया गया था। गुरुग्राम से दो हजार, रेवाड़ी से करीब पांच सौ और अन्य जिला को मिलाकर करीब पांच हजार लोग यात्रा में शामिल हुए थे। नलहड़ मंदिर परिसर में लगभग 5000 हजार लोग थे। इनमें सबसे ज्यादा महिलाएं थी।

उग्र भीड़ ने फैलाई आगजनी

यात्रा में शामिल लोग बचने के लिए मंदिर परिसर की ओर भागे तो उन्हें दौड़ा कर पीटा गया गया। पंद्रह से अधिक लोगों का चोट लगी हैं, जिसमें कई महिलाएं भी घायल हैं। घटना के दौरान डयूटी पर लगे गुरुग्राम पुलिस के होमगार्ड नीरज घायल हुए गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में उनकी मौत हो गई। इसके अलावा होमगार्ड गुरसेवक की भी मौत हो गई।

भीड़ ने नूंह अनाज मंडी स्थित साइबर क्राइम थाने के अंदर बाहर खड़े एक दर्जन से अधिक वाहनों को आग लगा दी। थाना परिसर में तोड़फोड़ की पुलिस कर्मियों ने भाग कर जान बचाई। थाने में उत्पात मचाने के बाद भीड़ में शामिल आराजक तत्वों ने बाजार में कई दुकानों में लूटपाट की।

30 से अधिक वाहनों में लगाई आग

दो रोडवेज बस सहित तीस से अधिक वाहनों में आग लगा दी। पचास से अधिक वाहन क्षतिग्रस्त कर दिए गए। हिंसा पूरे जिले में फैल गई। पुन्हाना, तावडू, नगीना, फिरोजपुर झिरका के बाजार बंद हो गए। इन जगहों पर कई लोगों पर हमला करने तथा उनके साथ लूटपाट किए जाने की जानकारी सामने आई।

इंटरनेट सेवा दो अगस्त तक के लिए ठप्प

हरियाणा सरकार ने नूंह जिला में सांप्रदायिक तनाव को देखते हुए 31 अगस्त (सोमवार) शाम 4 बजे से लेकर 2 अगस्त रात 12 तक इंटरनेट सेवाएं बंद करने के आदेश दिए हैं। इस संबंध में हरियाणा के गृह सचिव श्री टीवीएसएन प्रसाद द्वारा आदेश जारी किए गए हैं।

नूंह में वाहनों को जाने से रोका

नूंह में विवाद के चलते पलवल पुलिस ने जयंती मोड पर उटावड़ मोड पर पुलिस बल तैनात किया है। पुलिस ने सुरक्षा को देखते हुए सोहना के आगे वाहनों को नूंह जाने से रोका गया है। केएमपी से वाहनों को डायवर्ट किया गया है।

अराजक तत्वों ने पूरे जिले में छह घंटे तक तांडव मचाया

नलहड़ स्थित शिव मंदिर से जलाभिषेक कर निकली यात्रा पर खेड़का चौक के पास विशेष समुदाय के 200 से अधिक युवकों ने घेर कर हमला किया, जिसके बाद पूरे जिले में अराजकता फैल गई। नूंह में कई दुकानों को लूटा गया, तोड़फोड़ करने के बाद कुछ में आग लगा दी गई। दोपहर डेढ़ बजे शुरू हुआ उग्र भीड़ का तांडव कुछ ही देर में पूरे जिला में फैल गया।

..और गुरुग्राम के सोहना तक पहुंची आग

नूंह जिले में हिंसा की आग गुरुग्राम जिले के हिंसा तक पहुंच गई। सोहना के अंबेडकर चौक पर तनाव बढ़ने से पथराव शुरू हो गया। दोनों गुटों की ओर से भारी पथराव हुआ और गोलीबारी हुई। दो घर फूंक दिए गए। पांच गाड़ियों और सड़क किनारे के दो दर्जन खोखों को आग के हवाले कर दिया गया। गुरुग्राम समेत आसपास के थाने में तैनात पुलिस बल को सोहना में लगाया गया।

शाम साढ़े सात बजे पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़कर भीड़ को तितर बितर किया। वहीं गोली लगने से तीन युवक और पथराव में पुलिस कर्मियों के साथ 15 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं।

फिर शुरू हुआ उपद्रव

दोनों समुदायों में हिंसा को रोकने के लिए पुलिस ने हल्का बल प्रयोग किया। इससे थोड़ी देर के लिए शांति हुई, लेकिन एक बार फिर सड़क किनारे दो दर्जन से ज्यादा खोखों में आग लगने से हिंसा भड़क गई। इसके बाद मुस्लिम समुदाय की तरफ से गोलियां चलीं। इसमें तीन युवक घायल हो गए। उन्हें इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया।

जिस घर से हो रहा था पथराव, सिलिंडर डालकर लगाई आग कुछ लोगों ने जिन दो घरों से पथराव हो रहा था, उन घरों में सिलिंडर में आग लगाकर फेंक दिया। इससे दोनों घरों में आग लग गई। इस दौरान घरों में रहने वाले लोगों ने भागकर जान बचाई। रात सात बजे दोनों पक्ष बाईपास पर आमने सामने आ गए। दोनों तरफ से भारी पथराव हुआ।

दो होमगार्ड की मौत, कई पुलिसकर्मी घायल

पुलिस प्रवक्ता सुभाष बोकन ने बताया कि कानून व्यवस्था को संभालने के लिए गुरुग्राम से नूंह पुलिस की कई टीमें जा रही थीं। रास्ते में ही टीमों के ऊपर हमला कर दिया गया। हमले में खेड़कीदौला थाना प्रभारी इंस्पेक्टर अजय कुमार, आइएमटी थाना प्रभारी इंस्पेक्टर देवेंद्र सिंह, क्राइम ब्रांच की सेक्टर-40 टीम के प्रभारी इंस्पेक्टर अनिल कुमार, खेड़कीदौला थाने में तैनात सब इंस्पेक्टर अरुण कुमार, सब इंस्पेक्टर देवेंद्र कुमार, आइएमटी मानेसर थाने में सब इंस्पेक्टर दीपक कुमार, पुलिस उपायुक्त मानेसर के कार्यालय में तैनात एएसआई राजेश कुमार, खेड़कीदौला थाने में तैनात हेड कांस्टेबल शेर सिंह, सिपाही पवन, होमगार्ड नीरज और होमगार्ड गुरसेवक गंभीर रूप से घायल हो गए। होडल के डीएसपी सज्जन सिंह को भी चोट लगी है। इनमें से होमगार्ड नीरज और गुरसेवक की मौत हो गई।

मुख्यमंत्री ने की शांति की अपील

मुख्यमंत्री मनोहर लाल नूंह जिले में उत्पन्न स्थिति पर आम जनता से शांति की अपील करते हुए कहा है कि संवाद के जरिए सभी विषयों का हल निकाला जा सकता है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने शांति की अपील करते हुए कहा कि प्रदेश के सभी नागरिक हरियाणा एक हरियाणवी एक के सिद्धांत पर चलते हुए समाज और प्रदेश के हित में सहयोग दें।

कर्फ्यू लगाया, स्कूल-कॉलेज बंद

शाम को जिलाधीश प्रशांत पंवार से धारा 144 लागू कर दी। वहीं, चार बजे के बाद दो अगस्त तक नूंह जिला की इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई। इसके साथ ही मंगलवार को सभी तरह के शिक्षण संस्थानों को बंद रहने का निर्देश जारी किया गया। देर रात प्रशासन ने कर्फ्यू भी लगाने की घोषणा कर दी।

मोनू मानेसर के वीडियो के प्रसारित होने पर हुआ बवाल

हिंसा की मुख्य वजह बजरंग दल के कार्यकर्ता मानेसर के रहने वाले मोनू की रविवार रात प्रसारित हुई एक वीडियो फिर उसके बाद कुछ विशेष समुदाय के युवाओं की ओर से प्रसारित वीडियो बताई जा रही है। भरतपुर जिला के नासिर और जुनैद हत्याकांड में मोनू को नामजद किया गया था।

उसकी गिरफ्तारी नहीं हुई है, और वीडियो में चुनौती दी कि वह नूंह से निकलने वाली यात्रा में शामिल होगा। गोस्तकरों का पक्ष लेने वाले उसका कुछ हीं बिगाड़ पाएंगे। उसके जवाब में वीडियो प्रसारित किए गए थे। हिंसा में शामिल युवाओं ने हमला करने की तैयारी कर रखी थी।

दोनों समुदायों के लोगों के बीच हुई बैठक

नूंह के पुलिस उपायुक्त की अध्यक्षता में हिंसा के बाद दोनों समुदाय के बीच बैठक हुई। इस दौरान स्थानीय प्रशासन के साथ कई राजनीतिक और सामाजिक लोग मौजूद रहे। मंगलवार को फिर 11 बजे दोनों समुदाय की बड़ी बैठक होगी। फिलहाल नूंह जिले में स्थिति सामान्य है। जिले में धारा 144 फिलहाल लागू रहेगी और इंटरनेट पर भी पाबंदी रहेगी। प्रशासन ने दोनों पक्षों से शांति की अपील की है।

नरेंद्र बिजारणिया को दी गई एसपी की जिम्मेदारी

भिवानी के पुलिस अधीक्षक नरेंद्र बिजारणिया को तुरंत प्रभाव से नूंह एसपी की जिम्मेदारी दी गई है। कर्फ्यू लगाने के बाद अब आवश्यक सेवाओं से जुड़े वाहनों की जांच के बाद जिला में प्रवेश करने दिया जाएगा। रात में अर्द्ध सैनिक बलों की तैनाती कर दी जाएगी। नरेंद्र नूंह पहुंच पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक कर आगे की कार्रवाई की रणनीति भी बना चुके हैं। नरेंद्र पहले भी नूंह के एसपी रह चुके हैं। हिंसा के बाद उनकी विशेष रूप से तैनाती की गई है।

हिंसा में दो होमगार्ड की मौत, डीसीपी समेत 10 पुलिसकर्मी घायल

भगवा यात्रा के दौरान पुलिस टीम पर उपद्रवियों के पथराव से दो होमगार्ड नीरज कुमार और गुरसेवक की मौत हो गई। दोनों खेड़कीदौला थाने में तैनात थे। हमले में 10 अन्य पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। उन्हें मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पत्थरबाजी में होडल के डीएसपी सज्जन सिंह भी गंभीर रूप से घायल हो गए।

पांच हजार लोगों की सुरक्षा के लिए थे सिर्फ सौ पुलिसकर्मी

नलहड़ स्थित प्राचीन शिव मंदिर में ब्रज मंडल जलाभिषेक के बाद पहली बार यात्रा नहीं निकली। यात्रा पहले भी निकलती रही है। इस बार बड़ी संख्या में शिव भक्त पहुंचे थे। बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद की ओर से लोगों को यात्रा में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया गया था। गुरुग्राम से दो हजार, रेवाड़ी से करीब पांच सौ तथा अन्य जिला को मिलाकर करीब पांच हजार लोग यात्रा में शामिल हुए थे। इसके बाद भी पुलिस की ओर से लोगों की सुरक्षा के लिए सौ से कम पुलिस कर्मी लगाए गए थे।

नलहड़ मंदिर परिसर में फंसे लोगों को निकाला

अर्धसैनिक बल की टीमें मंदिर परिसर पहुंच गईं और वहां फंसे लोगों को निकाला गया। इसके बाद उन्हें उनके सुरक्षित स्थान तक पहुंचाया गया। साथ ही कुछ लोगों को पुलिस लाइन लाया गया। इन्हें भी भेजने की व्यवस्था की जा रही है।

आसपास के जिलों में भी फैली नूंह हिंसा की आग

नूंह में हुई हिंसा का असर महज नूंह तक ही सीमित नहीं रहा है। आसपास के जिलों में भी हिंसा फैली। नूंह के साथ-साथ रेवाड़ी, पलवल, गुरुग्राम और फरीदाबाद में भी धारा 144 लागू की गई। वहीं, लोगों की सुरक्षा को देखते हुए प्रशासन ने स्कूल-कॉलेज भी बंद रखने का फैसला किया है। नूंह, फरीदाबाद, गुरुग्राम और पलवल जिले में मंगलवार (1 अगस्त) को सभी सरकारी और निजी शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे।

मंगलवार (एक अगस्त) को फिर होगी बैठक

नूंह जिला उपायुक्त प्रशांत पंवार और एसपी नरेंद्र सिंह बिजारणिया ने देर सांय बृजमंडल धार्मिक यात्रा के दौरान हुए उपद्रव में शामिल दोनों पक्षों के साथ शांति वार्ता की। इस दौरान उन्होंने दोनो पक्षों को सूझबूझ का परिचय देते हुए शांति और सामाजिक सद्भाव कायम करने की अपील की। इस प्रकार की एक बड़ी शांतिवार्ता 1 अगस्त को सुबह 11 बजे फिर से आयोजित की जाएगी।

spot_img

AAJ TAK LIVE

ABP LIVE

ZEE NEWS LIVE

अन्य खबरे
Advertisements
यह भी पढ़े
Live Scores
Rashifal
Panchang